Hindi News ›   Uttarakhand ›   Dehradun ›   Corona in Uttarakhand Latest news : vaccine for 18 to 44 year age ends

उत्तराखंड : 18 से 44 साल तक की उम्र के लोगों के लिए टीका खत्म, अब नहीं हो पाएगा टीकाकरण

न्यूज़ डेस्क, अमर उजाला, देहरादून Published by: Nirmala Suyal Nirmala Suyal Updated Fri, 28 May 2021 09:22 AM IST

सार

जिले में अलग-अलग वर्ग के 50 से अधिक टीकाकरण केंद्र बनाए हुए हैं। 18 साल से 44 साल तक की उम्र के लोगों के लिए जो पूर्व में लगभग 23 केंद्र बनाए गए थे, उनमें से गुरुवार को सिर्फ चार केंद्रों में ही टीकाकरण हो पाया।
कोरोना का टीकाकरण
कोरोना का टीकाकरण - फोटो : अमर उजाला फाइल फोटो
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

देहरादून जिले में 18 साल से 44 साल तक की उम्र के लोगों को लगने वाले टीके खत्म हो चुके हैं। इससे आमजन बहुत परेशान हैं। हालत यह है कि कभी 23 केंद्रों तक में हर रोज लगने वाली यह डोज शुक्रवार (आज) को अब सिर्फ मसूरी के टीकाकरण केंद्र पर ही लग पाएगी।

विज्ञापन


उत्तराखंड: ब्लैक फंगस से दो और मरीजों की मौत, सात नए संक्रमित मिले, अब तक गई 14 लोगों की जान


जिला प्रशासन ने जिले में अलग-अलग वर्ग के 50 से अधिक टीकाकरण केंद्र बनाए हुए थे। राधा स्वामी सत्संग भवन 47 साल से अधिक आयु वर्ग के लोगों के लिए आरक्षित है। जबकि, 18 साल से 44 साल तक की उम्र के लोगों के लिए जो पूर्व में लगभग 23 केंद्र बनाए गए थे, उनमें से गुरुवार को सिर्फ चार केंद्रों में ही टीकाकरण हो पाया।

ब्लैक फंगस: एक मरीज को 150 इंजेक्शनों की जरूरत, 25 दिन तक रोजाना लगाए जाते हैं छह इंजेक्शन 

इससे लोग टीकाकरण केंद्रों पर भटकते नजर आए। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का भी मानना है कि अलग-अलग वर्ग के 50 से अधिक टीकाकरण केंद्रों पर भी कई केंद्र ऐसे थे, जिनमें एक भी व्यक्ति को टीका नहीं लग पाया। कोरोना टीकाकरण के नोडल अधिकारी डॉ. आदित्य ने बताया कि 45 साल से अधिक आयु वर्ग के लोगों के लगभग 17 हजार इंजेक्शन जिले में उपलब्ध हैं। शुक्रवार को भी लाभार्थियों को टीका लगाया जाएगा।

उन्होंने बताया कि 18 साल से 44 साल तक की आयु वर्ग के लोगों को लगने वाला टीका जिले में खत्म हो चुका है। शुक्रवार को सिर्फ मसूरी एमपीजी कॉलेज में बने केंद्र पर ही टीकाकरण हो पाएगा। उसमें भी सिर्फ 100 लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य दिया गया है। उनमें किसी को कोविशील्ड तो किसी को कोवाक्सिन की डोज लगाई जाएगी। उन्होंने बताया कि जिस तरह से कोरोना टीके की खुराक मिलती रहेगी, उसी हिसाब से लाभार्थियों को यह टीका लगाया जाता रहेगा।

केवल 45 से ऊपर आयुवालों को लगा टीका
प्रेमनगर स्थित सनातन धर्म मंदिर में गुरुवार को टीका न होने के कारण 18 से 44 आयुवर्ग वालों का टीकाकारण नहीं हुआ। 45 साल से ऊपर वालों को ही टीका लगाया गया। इस दौरान 120 लोंगो को टीका लगाया गया।

स्वास्थ्य विभाग ने निदेशालय को भेजी डिमांड

रुद्रप्रयाग जिले में 18 से 44 वर्ष की उम्र के लिए वैक्सीन खत्म हो गई है। इस वर्ग में दस फीसदी टीकाकरण हुआ है। टीका खत्म होने से शुक्रवार को टीकाकरण नहीं होगा। जबकि 45 वर्ष से अधिक उम्र के लिए 4500 डोज शेष रह गई हैं।  इस आयु वर्ग में 88 फीसदी टीकाकरण किया जा चुका है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा दोनों आयु वर्ग के लिए पर्याप्त वैक्सीन के लिए निदेशालय को मांग भेजी गई है। 

बीते 10 मई से 18 से 44 वर्ष के लोगों के लिए टीकाकरण शुरू हो गया था। लगभग ढाई सप्ताह में 16 हजार लोगों को टीका लगाया जा चुका है। इधर, गुरुवार को जीआईसी रुद्रप्रयाग, जीजीआईसी अगस्त्यमुनि, जीआईसी ऊखीमठ और ओमकारानंद जखोली में ही 18 से 44 वर्ष के लोगों को टीका लगाया गया।

विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, इस दौरान इन केंद्रों पर लगभग 500 लोगों को ही टीका लगाया गया। अब, वैक्सीन खत्म हो गई है, जिस कारण शुक्रवार को जिले में इस उम्र का वैक्सीनेशन नहीं होगा। दूसरी तरफ 45 वर्ष से अधिक उम्र के लिए भी 4500 वैक्सीन की डोज बची है। सीएमओ डॉ. बीके शुक्ला ने बताया कि वैक्सीन की डिमांड निदेशालय को भेज दी गई है। शुक्रवार शाम तक पर्याप्त वैक्सीन मिल जाएगी।

बताया कि 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग में अब कम लोग रह गए हैं, जिनका टीकाकरण होना है। इसलिए अब, मोबाइल वैन के जरिए भी इस आयु वर्ग के लोगों को टीका लगाने की योजना है। सीएमओ के अनुसार जिले में अभी तक 92 हजार लोगों को टीका लगाया जा चुका है, जिसमें 72 हजार लोग को पहली डोज व 20 हजार को दूसरी डोज लग चुकी है।

पांच फीसदी युवाओं का ही हुआ वैक्सीनेशन

पौड़ी जिले में अभी तक लगभग पांच फीसदी युवाओं (18-45 वर्ष) को ही कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लग पाई है। स्थिति यह है कि वर्तमान में सिर्फ पौड़ी और कोटद्वार में वैक्सीनेशन हो रहा है। जबकि जिले में दो लाख 75 हजार 107 युवाओं का वैक्सीनेशन किया जाना है।

26 मई तक जिले में मात्र 13 हजार 499 युवाओं को वैक्सीन लग पाई। जिस रफ्तार से वैक्सीनेशन किया जा रहा है, उससे लगता है कि युवाओं को लंबा इंतजार करना पड़ेगा। हालांकि आपदा प्रबंधन मंत्री डॉ. धन सिंह रावत का कहना है कि वैक्सीन इस हफ्ते तक मिल जाएगी। युवाओं की सुविधा के लिए लगभग 10 केंद्र और स्थापित किए जा रहे हैं। अब बिना ऑनलाइन स्लॉट बुकिंग के भी वैक्सीन लगा सकते हैं।

युवाओं के कोरोना टीके खत्म
उत्तरकाशी जिले में 18 से 44 आयु के लोगों के टीकाकरण के लिए टीकों की किल्लत हो गई है। शुक्रवार को युवाओं का टीकाकरण नहीं हो पाएगा। केवल 45 से अधिक उम्र के लोगों को ही टीके लग पाएंगे। इसके लिए छह ब्लाकों में कुल 17 टीकाकरण केंद्र बनाए गए हैं।

वॉर रूम में तैनात एसीएमओ डॉ. विपुल बिस्वास ने बताया कि 45 से अधिक उम्र के लोगों के लिए सीधे केंद्र सरकार की ओर से टीके आवंटित किए जा रहे हैं, जबकि युवाओं के टीकों की व्यवस्था राज्य सरकार कर रही है। बताया कि राज्य सरकार से टीके मिलते ही इस आयुवर्ग का टीकाकरण दोबारा से शुरू हो जाएगा। उन्होंने बताया कि 45 से अधिक आयु के लोगों के लिए पर्याप्त टीके उपलब्ध हैं।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00