विज्ञापन

प्रीत विहार में हाई टेन्शन तारो से खतरा

Vaneesh Updated Sat, 07 Nov 2020 10:08 AM IST
प्रीत विहार में हाई टेन्शन तारो से खतरा
फोटो : Vaneesh
विज्ञापन
विज्ञापन
आप बीती। ये चित्र मेरे घर के पीछे जा रही हाई टेन्शन तारो का है, जिसके कारण मेरे साथ हादसा हो चुका है। बीजेपी की कथनी और करनी कितनी सारतक है ये आप मेरे इस लेख से जान जायेंगे। 2017 में जब उत्तराखंड में बीजेपी की सरकार बनी थी उस समय हमारे धर्मपुर विधानसभा के विधायक बीजेपी से चुने गये थे और वे उस समय शहर के मेयर भी थे और हमारे वार्ड के पार्षद भी बीजेपी से ही थे और आज भी विधायक और पार्षद बीजेपी से ही है। 2017 में हम कॉलिनी वासियों से तत्कालीन बीजेपी के मेयर और बीजेपी के विधायक जी ने वायदा किया था कि ये हाई टेंशन तार का समाधान किया जायेगा जिसका बजट भी पास हो गया था । परंतु वायदा पूरा न हो सका और 2018 के नगर निगम के चुनाव के समय फिर हमें बोला गया कि नगर निगम के चुनाव के बाद इस हाई टेन्शन तार का समाधान हो जायेगा। नगर निगम के चुनाव भी हो गये और फिर से बीजेपी के पार्षद दूसरी बार पार्षद बने तो फिर उनके माध्यम से हमे ये बताया गया कि इस तार का बहुत जल्द समाधान हो जायेगा परंतु आज तक हमारी इस समस्या का समाधान नही हो पाया है। 2019 में इन तारो का निरक्षण भी हो गया और फिर हमें बोला गया कि 4 या 5 महीने में इन तारो को हमारे घरों से थोड़ा दूर कर दिया जायेगा परंतु कुछ नही हुआ। ये सब तब है जब हमारे वार्ड के बीजेपी के पार्षद हमारी कॉलिनी से ही जीत कर गए थे। 2017 से 2019 भी खत्म हो गया और अभी तक इन हाई टेन्शन तारो का कुछ नही हुआ। अब आप सब खुद ही जान सकते हैं कि बीजेपी की कथनी और करनी कितनी एक समान है। ये तो एक कॉलिनी की बात है, इस समय आप खुद धर्मपुर विधानसभा में जायेंगे तो आपको बीजेपी का विकास खुद नजर आ जायेगा। हम तो अब सारी उमीद छोड़ चुके है और जान गए हैं कि उत्तराखंड की डबल इंजिन की सरकार के हौदेदार निर्वाचित प्रतिनिधियों ने अपने छेत्र में कितना विकास किया होगा।
प्रीत विहार में हाई टेन्शन तारो से खतरा

प्रीत विहार में हाई टेन्शन तारो से खतरा

प्रीत विहार में हाई टेन्शन तारो से खतरा

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन

Corona in Uttarakhand: सोमवार को 376 संक्रमित मिले, सात मरीजों की मौत

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण की रफ्तार थोड़ी कम हुई है। तीन दिन के बाद संक्रमित मामलों की संख्या चार सौ से कम रही है। बीते 24 घंटे में सात कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हुई।

23 नवंबर 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us