लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Dehradun ›   Ankita Murder Case: More than 20 electronic evidence sent to central forensic lab

Ankita Murder Case: केंद्रीय फोरेंसिक लैब भेजे 20 से ज्यादा इलेक्ट्रॉनिक सुबूत, जल्द दाखिल होगी चार्जशीट

संवाद न्यूज एजेंसी, देहरादून Published by: अलका त्यागी Updated Thu, 06 Oct 2022 11:46 PM IST
सार

अधिकारियों का कहना है कि हत्याकांड में इस माह के अंत तक चार्जशीट दाखिल कर दी जाएगी। 24 सितंबर से अंकिता हत्याकांड की एसआईटी जांच कर रही है। इस मामले में कई ऑडियो रिकॉडिंग, वीडियो और मोबाइल में बातचीत के स्क्रीन शॉट वायरल हुए थे।

अंकिता हत्याकांड
अंकिता हत्याकांड - फोटो : अमर उजाला फाइल फोटो
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

अंकिता हत्याकांड से संबंधित 20 से ज्यादा इलेक्ट्रॉनिक साक्ष्यों (सुबूतों) को केंद्रीय फोरेंसिक लैब (सीएफएसएल) चंडीगढ़ भेजा गया है। इनमें ऑडियो, वीडियो, मोबाइल के स्क्रीन शॉट और सीसीटीवी फुटेज शामिल हैं। जबकि, स्थानीय फोरेंसिक लैब में डीएनए और विसरा की जांच की जा रही है। इधर, तीनों आरोपियों को बृहस्पतिवार को न्यायिक अवधि पूरी होने के बाद न्यायालय में पेश किया गया। न्यायालय ने तीनों की 14 दिन की न्यायिक अभिरक्षा बढ़ा दी गई है।



Ankita Murder Case: कौन थे वो वीआईपी जिन्हें देनी थी 'एक्स्ट्रा सर्विस'? अब एसआईटी ऐसे खोलेगी सारे राज


अधिकारियों का कहना है कि हत्याकांड में इस माह के अंत तक चार्जशीट दाखिल कर दी जाएगी। 24 सितंबर से अंकिता हत्याकांड की एसआईटी जांच कर रही है। इस मामले में कई ऑडियो रिकॉडिंग, वीडियो और मोबाइल में बातचीत के स्क्रीन शॉट वायरल हुए थे।

इन सभी को एसआईटी ने इलेक्ट्रॉनिक साक्ष्यों की तरह इकट्ठा किया है। स्थानीय प्रयोगशाला में भी ऑडियो-वीडियो जांच की व्यवस्था है। लेकिन, पुख्ता जांच के लिए इन्हें केंद्रीय विधि विज्ञान प्रयोगशाला भेजा गया है। 

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर वी मुरुगेशन ने बताया कि जांच तेजी से चल रही है। सीएफएसएल से भी आग्रह किया गया है कि जांच जल्द से जल्द पूरी कर उत्तराखंड पुलिस को दें। उन्होंने बताया कि इस मामले में लगातार गवाहों के बयान दर्ज किए जा रहे हैं। इनमें से चार गवाहों के पहले मजिस्ट्रेटी बयान दर्ज कराए गए थे। जबकि, एक गवाह के मजिस्ट्रेटी बयान बृहस्पतिवार को दर्ज कराए गए हैं। 

एसआईटी ने लगभग सभी साक्ष्यों को जुटा लिया है, जिससे इसे हत्या साबित करने में मदद मिलेगी। इन गवाहों के बयान और साक्ष्यों के आधार पर पुलिस को हत्याकांड का मकसद भी पता चल गया है। एसआईटी का कहना है कि दो सप्ताह के भीतर जांच पूरी कर ली जाएगी। यानी इस माह के अंत तक न्यायालय में चार्जशीट दाखिल की जा सकती है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00