सड़कों पर उतरे हजारों आरक्षण समर्थक

देहरादून/ब्यूरो Updated Fri, 02 Nov 2012 05:17 PM IST
reservation supporters protested in dehradun
एससी, एसटी इंपलाइज फेडरेशन के हजारों लोग पदोन्नति में आरक्षण सहित विभिन्न मांगों को लेकर बृहस्पतिवार को सड़कों पर उतरे। प्रदेश भर से परेड ग्राउंड में जुटे लोगों ने शहर के मुख्य मार्गों से होते हुए सचिवालय कूच किया। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने कांग्रेस भवन के आगे लगे मुख्यमंत्री के होर्डिंग, बैनर एवं पोस्टर फाड़ दिए। पुलिस क्षेत्राधिकारी ने पुलिस फोर्स के साथ प्रदर्शनकारियों को रोकने का प्रयास किया। इसे लेकर पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच धक्का-मुक्की भी हुई। बाद में प्रदर्शनकारियों ने मुख्यमंत्री का होर्डिंग फाड़कर आग के हवाले कर दिया।

पदोन्नति में आरक्षण के मसले पर बृहस्पतिवार को उत्तराखंड एससी, एसटी इंपलाइज फेडरेशन का गुस्सा फूट पड़ा। कर्मचारियों ने घंटाघर पर सांकेतिक जाम लगाया और कांग्रेस भवन के आगे लगे मुख्यमंत्री के होर्डिंग को फाड़कर उसे आग के हवाले कर दिया। होर्डिंग बचाने पहुंची एक महिला कांग्रेस कार्यकर्ता को भी प्रदर्शनकारियों की नाराजगी झेलनी पड़ी। एक प्रदर्शनकारी ने जूता उतारकर महिला को मारने का प्रयास किया। पुलिस और फेडरेशन से जुड़े अन्य लोगों ने बीच बचाव कर मामला शांत कराया। परेड ग्राउंड से जुलूस के रूप में सचिवालय गेट पर पहुंचे प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने बैरिकेडिंग लगाकर रोक लिया।

यहां धरने पर बैठे प्रदर्शनकारी मुख्यमंत्री एवं मुख्य सचिव को धरना स्थल पर बुलाए जाने की मांग पर अड़े रहे। फेडरेशन के प्रदेश अध्यक्ष मदन शिल्पकार और महासचिव रोहित कुमार ने कहा कि जब तक इरशाद कमेटी की रिपोर्ट नहीं आती सरकार डीपीसी पर रोक लगाए। प्रदर्शनकारियों में सचिवालय संघ के अध्यक्ष करम राम, कुमाऊं मंडल के अध्यक्ष तुला राम, दीपक चनियाल, दिनेश टम्टा, महेश मुरारी, मदन राम आर्य, गोविंद राम, भीम लाल, मदन पाल, अशोक कुमार, आरएल आर्य, राकेश कुमार, विजय आदि शामिल थे।


मुख्यमंत्री को बताईं मांगें
उत्तराखंड एससी, एसटी इंपलाइज फेडरेशन के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री और मुख्य सचिव से मिलकर अपनी मांगों से अवगत कराया। प्रतिनिधि मंडल के अनुसार मुख्यमंत्री ने सामान्य वर्ग के पदों की डीपीसी कराने एवं आरक्षित पदों को सुरक्षित रखने की मांग पर कार्रवाई का आश्वासन दिया है। सीएम ने कहा कि इस मामले को कैबिनेट की बैठक में रखा जाएगा। फेडरेशन के रोहित कुमार ने कहा कि मुख्य सचिव को भी चार सूत्रीय मांग पत्र सौंपा गया। मुख्य सचिव ने बताया कि इरशाद हुसैन आयोग में उनके एक सदस्य को रखे जाने की मंजूरी मिल चुकी है। फेडरेशन महासचिव ने कहा कि मांगों को लेकर तीन नवंबर को गैरसैंण में महारैली और 26 नवंबर को दिल्ली कूच किया जाएगा। साथ ही कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्षा सोनिया गांधी से भी मुलाकात की जाएगी।


जुलूस के कारण लगा जाम
पदोन्नति में आरक्षण की मांग को लेकर कर्मचारियों के जुलूस के कारण जगह-जगह जाम लगा रहा। रूट डायवर्ट करने के बावजूद तहसील चौक, दर्शन लाल चौक और इंदिरा मार्केट में जाम से लोग बेहाल रहे। दोपहर दो बजे परेड ग्राउंड से प्रारंभ हुआ जुलूस लैंसडाउन चौक, दर्शन लाल चौक, घंटाघर, गांधी पार्क, एस्लेहाल चौक से होते हुए एक घंटे में सचिवालय के पास पहुंचा। इस दौरान दर्शन लाल चौक से तहसील चौक तक लंबा जाम लगा रहा। इसके अलावा चकराता रोड, इंदिरा मार्केट, राजपुर रोड सहित विभिन्न मार्गों पर लोग जाम में फंसे रहे। जुलूस के शुरू होते ही पुलिस ने तहसील चौक से घंटाघर की ओर जाने वाले वाहनों को दर्शन लाल चौक पर बैरिकेडिंग लगाकर रोक दिया था। इसके अलावा राजपुर रोड, सुभाष रोड पर भी वाहनों को रोका गया।

Spotlight

Most Read

Kanpur

बाइकवालाें काे भी देना हाेगा टोल टैक्स, सरकार वसूलेगी 285 रुपये

अगर अाप बाइक पर बैठकर आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरने की साेच रहे हैं ताे सरकार ने अापकी जेब काे भारी चपत लगाने की तैयारी कर ली है। आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चलने के लिए सभी वाहनों को टोल टैक्स अदा करना होगा।

17 जनवरी 2018

Related Videos

साल 2018 के पहले स्टेज शो में ही सपना चौधरी ने लगाई 'आग', देखिए

साल 2018 में भी सपना चौधरी का जलवा बरकरार है। आज हम आपको उनकी साल 2018 की पहली स्टेज परफॉर्मेंस दिखाने जा रहे हैं। सपना ने 2018 का पहले स्टेज शो मध्य प्रदेश के मुरैना में किया। यहां उन्होंने अपने कई गानों पर डांस कर लोगों का दिल जीता।

18 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper