पीड़ित को ही बना डाला अपराधी

Dehradun Updated Fri, 14 Dec 2012 05:30 AM IST
देहरादून। चोरों का पीछा करने वाले एक प्रापर्टी डीलर के साथ दून की मित्र पुलिस ने ऐसा बर्ताव किया कि आगे से शायद ही कोई किसी की मदद करने या चोरों के पीछे दौड़ लगाने की कोशिश करेगा। कांग्रेस नेत्री सारिका प्रधान के घर हुई चोरी में पुलिस के हत्थे चोर तो नहीं चढ़े। उन्होंने चोरों के बारे में जानकारी देने वाले उस प्रापर्टी डीलर को ही संदिग्ध मान लिया, जिसके घर में भी चोरी की कोशिश की गई थी। आलम यह रहा कि पुलिस ने प्रापर्टी डीलर के घर की तलाशी के साथ उसके जूते-जुराब तक उतरवा लिए।
चंद्रबनी निवासी प्रापर्टी डीलर बीके राय के लिए पुलिस बृहस्पतिवार को ‘खलनायक’ के रूप में सामने आई। दरअसल, राय बुधवार रात साढे़ दस बजे अपनी कार से घर पहुंचे तो दो युवकों को घर से निकलकर भागते देखा। कार से उतरकर राय ने उनका पीछा भी किया, लेकिन वे कार में सवार होकर फरार हो गए। राय ने लौटकर देखा तो घर में सब कुछ सामान्य मिला। राय के मुताबिक उन्हें तब तक पड़ोसी सारिका प्रधान के घर में चोरी के बारे में पता नहीं था लिहाजा पुलिस को बताना जरूरी नहीं समझा। जानकारी मिली तो राय ने पूरी कहानी सामने रख दी। उम्मीद थी कि इससे पुलिस को कुछ मदद मिलेगी।
लेकिन, पूछताछ के बाद पुलिस राय के ही घर में घुस गई। उनके सारे कमरे खंगाले, कुछ नहीं मिला तो राय की ही तलाशी ले डाली। यही नहीं, उनके जूते और जुराब तक उतरवा लिए गए। इसके बावजूद गलती पर एक अदद सॉरी तक कहना मुनासिब नहीं समझा और पुलिसकर्मी निकल गए। पुलिस के इस व्यवहार पर राय बेहद आहत हैं।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

भारतीय डाक में निकलीं 2,411 नौकरियां, ऐसे करें अप्लाई

करियर प्लस के इस बुलेटिन में हम आपको देंगे जानकारी लेटेस्ट सरकारी नौकरियों की, करेंट अफेयर्स के बारे में जिनके बारे में आपसे सरकारी नौकरियों की परीक्षाओं या इंटरव्यू में सवाल पूछे जा सकते हैं और साथ ही आपको जानकारी देंगे एक खास शख्सियत के बारे में।

24 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls