पुलिसकर्मी निकला जाली नोट गिरोह का सरगना

Dehradun Updated Thu, 08 Nov 2012 12:00 PM IST
देहरादून। मित्र पुलिस के एक सिपाही ने खाकी का दामन दागदार किया है। पुलिस लाइन में तैनात यह सिपाही लोकेश कुमार बिहार की एक महिला और उसके बेटे के साथ मिलकर राजधानी में नकली नोटों का कारोबार कर रहा था। लोकेश और उसके दोनों साथियों को बुधवार को गिरफ्तार किया गया है। उनके पास से 45500 रुपये नगदी के साथ ही बड़ी मात्रा में नकली नोट भी मिले हैं।
एसटीएफ के एसएसपी डी सैंथिल अबुदई ने पत्रकारों को बताया कि बुधवार को सुबह करीब दस बजे मुखबिर की सूचना पर एसटीएफ और पटेलनगर पुलिस ने आईएसबीटी के पास एक महिला और दो युवकों को संदिग्ध अवस्था में घूमते हुए पकड़ा। पूछताछ में महिला ने अपना नाम जुबेदा खातून निवासी मधेपुरा, बिहार बताया। उसके साथ उसका बेटा जमील भी था। दूसरे युवक का परिचय सुनकर अधिकारी चौंक गए। वह देहरादून पुलिस का सिपाही लोकेश कुमार था। पुलिस लाइन में तैनात लोकेश हरिद्वार का रहने वाला है। उसने बताया कि तीनों मिलकर नकली नोटों का धंधा करते हैं। उनके पास से 19800 रुपये के नकली नोट तथा 45,500 रुपये नगद मिले। नोटों की यह खेप जुबेदा और उसका बेटा बिहार से लाए थे।
एसएसपी के अनुसार 15 अक्टूबर को नोएडा में कुछ लोग 20 लाख रुपये के नकली नोटों के साथ गिरफ्तार किए गए थे। सिपाही और उसके साथी भी इसी गिरोह के लिए काम करते थे। दून में इस गिरोह का संचालन लोकेश कर रहा था। इस गिरोह का नेटवर्क उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, दिल्ली के साथ ही बिहार और पश्चिमी बंगाल में है। पकड़े गए लोगों ने बताया कि सौ रुपये के बदले दो सौ रुपये के नकली नोट दिए जाते थे। उनके अन्य साथियों की पहचान की जा रही है।

जेल में हुई दोस्ती और गोरखधंधा शुरू
देहरादून। एसटीएफ के अनुसार नकली नोटों के साथ गिरफ्तार किया गया सिपाही लोकेश कुमार वर्ष 2010 में अपनी पत्नी के दहेज उत्पीड़न के मामले में थाना झबरेड़ा में और ऋषिकेश में शराब की तस्करी में जेल जा चुका है। वहीं उसकी पहचान जुबेदा के भाई से हुई थी। वह नक ली नोटों के धंधे से जुड़ा हुआ था। वहीं लोकेश से उसकी दोस्ती हुई और लालच में आ कर नकली नोटों के कारोबार से जुड़ गया। उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की भी संस्तुति की गई है। एसएसपी केवल खुराना ने बताया कि पूर्व मामलों में भी उसके खिलाफ कार्रवाई हो रही है। नए मामले में भी सख्त कार्रवाई होगी। मामला संगीन है। उसकी बर्खास्तगी भी हो सकती है।

Spotlight

Most Read

Gorakhpur

मानबेला : अफसरों के जाते ही किसानों ने उखाड़ फेंका कब्जे का खूंटा

जीडीए ने पैमाइश के बाद खूंटा गाड़कर राप्ती नगर विस्तार आवासीय योजना के आवंटियों को दिया था कब्जा

19 जनवरी 2018

Related Videos

केजरीवाल के सियासी करियर का "काला दिन" समेत शाम की 10 बड़ी खबरें

अमर उजाला टीवी पर देश-दुनिया की राजनीति, खेल, क्राइम, सिनेमा, फैशन और धर्म से जुड़ी खबरें दिन में चार बार LIVE देख सकते हैं, हमारे LIVE बुलेटिन्स हैं - यूपी न्यूज सुबह 7 बजे, न्यूज ऑवर दोपहर 1 बजे, यूपी न्यूज शाम 7 बजे

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper