पंडित वेंकटेश कुमार की गायिकी के कायल हुए श्रोता

Dehradun Updated Tue, 06 Nov 2012 12:00 PM IST
देहरादून। शास्त्रीय संगीत के महान गायक पंडित भीमसेन जोशी ने कभी कहा था कि यदि उन्हें आज की पीढ़ी के शास्त्रीय गायकों को सुनने के लिए कहा जाएगा तो पंडित वेंकटेश कुमार को सुनना पसंद करेंगे। किराना घराने के इसी गायक की मधुर धुन से विरासत की शाम खूबसूरत बन गई। अपनी पहली प्रस्तुति में उन्होंने राग मारू विहाग में ‘रसिया हो न जा, बैरी वहिकेदेश’ और ‘मन में रहो मोरा जियरा’पर सभी को रिझाया। हारमोनियम, तबला और तानपूरे की संगत के साथ उन्हाेंने फिर राग दुर्गा में तीन ताल की बंदिश ये री धन धन भाग मोरे। इसके बाद इसी राग में तरंग सुनाया। पूरे एक घंटे की प्रस्तुति में श्रोताओं की ओर से अनगिनत बार तालियां बजी। श्रोताओं में भी बेरायटी दिखी। युवा वर्ग, महिलाओं के साथ सभी उम्र के श्रोता पंडाल में पूरे समय तक जमे रहे।
इससे पहले कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। जिसमें लक्ष्मी शंकर वाजपेयी ने कहा याद फिर आ गई मां, मैने देखा मोमबत्ती को पिघलकर रोशनी देते हुए। डा. ममता किरन ने पढ़ा- सारी दुनिया जिसे भी कहती रहे, मैं जिसे पूजूं वही भगवान है। बुद्घिनाथ मिश्र ने कहा-याद दुनिया को हमारा अनकहा रह जाएगा। डा. अनुराधा बनर्जी, विनोद खेतान ने अपनी रचनाएं पढ़ी।


उत्तराखंड के लोकनृत्य पर झूमे लोग
कालबेलिया और नटी की भी प्रस्तुति
देहरादून। विरासत के दसवें दिन की सांस्कृतिक शुरुआत हंसा नाट्य विकास सोसाइटी देहरादून, की ओर से उत्तराखण्ड के स्थानीय लोकनृत्य व गायन से हुआ। लोक नृत्य की पहली प्रस्तुति वंदना से हुई। फिर थडया चौफ ल,निलिमा निलिमा, नरदा बिजू खॉई क्षेत्र, आदि नृत्य प्रस्तुत कि ये गये। जिस पर उपस्थित लोगों ने भी आंनद लिया। थड़या चोपला उत्तराखंड का पारम्परिक लोक नृत्य है। इसे किसी भी पर्व के आगमन पर स्त्री पुरूष सभी मिलकर हंसी खुशी गाते और नाचते हैं। इसी तरह निलिमा निलिमा उत्तराखण्ड के जौनसार क्षेत्र का मेला नृत्य है यह नृत्य मेलों में किया जाता है। नरदा बिजू उत्तराखण्ड के वीर मेग की कहानी पर उनकी रण वीरता में किया जाता है। अध्यक्ष इंदू भट्ट मंमगई ने कार्यक्रम का संचालन किया। भूपेन्द्र भट्ट, अर्जुन तनवार, सतीश कहेडा, अरूण फारसी, राजीव चौहान, रीता, अंकिता, गीता, रंजना, पदमा प्रमुख रही। अन्य कार्यक्रमों में राजस्थान का कालबेलिया नृत्य और हिमाचल प्रदेश का नटी भी प्रस्तुत किया गया।


विरासत में आज
मथुरा के विजय गोवर्धनिया ग्रुप का लोक नृत्य-6 बजे
बुरुंडी का उमेरा बैंड-7 बजे
सूफी गायन बडाली बंधु का-8 बजे से

Spotlight

Most Read

Lucknow

शिवपाल के जन्मदिन पर अखिलेश ने उन्हें इस अंदाज में दी बधाई, जानें- क्या बोले

शिवपाल यादव ने अपने समर्थकों संग लखनऊ स्थित आवास पर जन्मदिन मनाया। अखिलेश यादव ने उन्हें मीडिया के माध्यम से बधाई दी।

22 जनवरी 2018

Related Videos

सालों पहले रखा बॉलीवुड में कदम, आज हैं ये टॉप की हीरोइनें

क्या आप जानते हैं कि ऐश्वर्या राय को बॉलीवुड में डेब्यू करे 20 साल हो गए हैं। ऐसी ही और भी एक्ट्रेस हैं जिन्हें इस इंडस्ट्री में कई साल हो गए हैं और अब वे कामयाबी के शिखर पर हैं।

22 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper