अभियान में नजर नहीं आए कथित ‘भगीरथ’

Dehradun Updated Fri, 02 Nov 2012 12:00 PM IST
ऋषिकेश। दूर-दूर से हजारोें लोग आए और तीर्थनगरी के व्यवस्थापकों, नागरिकों को तीर्थ और गंगा की स्वच्छता का आइना दिखाकर चले गए। उनके इस महाअभियान में गंगा प्रेम का ढोंग रचने और छद्म अभियान चलाने वाले कहीं नजर नहीं आए।
तीर्थनगरी में वर्षभर गंगा स्वच्छता के नाम पर स्थानीय ही नहीं नेशनल और इंटरनेशनल कांफ्रेंस, सेमिनारों का आयोजन आम बात है। इनमें देवनदी को प्रदूषण मुक्त रखने के लिए कथित ‘भगीरथ’ प्रयासों और न जाने कितनी बातें की जाती हैं। गंगा स्वच्छता के नाम पर नदी तटों पर महज प्रचार में रहने के लिए छद्म अभियान चलाए जाते हैं। ऐसे लोगों के लिए बृहस्पतिवार को डेरा सच्चा सौदा का प्रयास किसी सबब से कम नहीं है। बिना दावे के गंगातटों ही नहीं संपूर्ण तीर्थनगरी और समीपवर्ती गांवों में चले अब तक के इस सबसे बड़े स्वच्छता अभियान से क्या कथित गंगा प्रेमी सबक लेंगे? ऐसे लोगों पर यह पंक्तियां फिट बैठती हैं- लोग हवा में हकीकत को बयां करने की सोचते हैं, जमीं से आसमां पर उड़ने की सोचते हैं, हमने तो संकल्प शक्ति से ही वक्त को आइना दिखा दिया...।

निकायों की सफाई की खुली पोल
नगर और मुनिकीरेती क्षेत्र में चलाए गए स्वच्छता अभियान में क्षेत्र में फैले टनों कचरे को एकत्रित कर संस्था के सेवादारों ने तीर्थ और गंगा प्रेमियों के दावों की तो धज्जियां उड़ाई ही हैं, नगर पालिका प्रशासन और नगर पंचायत की सफाई व्यवस्था की भी पोल खोलकर रख दी है। स्थानीय नागरिक आरके अग्रवाल, भानुमित्र शर्मा, बीएल नौटियाल, सतीश गुप्ता, अशोक क्रेजी, रणवीर नेगी, डॉ. सुनील थपलियाल, इंद्रमणि सेमवाल का कहना था कि इस अभियान से स्थानीय लोगाें के साथ ही गंगा और तीर्थ की स्वच्छता के झंडाबरदारों को अपने गिरेबां में झांकने की जरूरत है।

सारे शहर में चर्चा रही
डेरा सच्चा सौदा के अभियान की दिनभर सारे शहर और गली-कूचों तक चर्चा रही। सबका एक ही सवाल था कि यदि सब इमानदारी से तीर्थ की स्वच्छता का प्रयास करते तो क्या ढेरों कूड़ा जमा होता?

देर रात तक सड़कों पर जमा थे कूढ़े के ढेर
डेरा सच्चा सौदा संस्था का कहना है कि एकत्रित कूड़े को उठान के लिए स्थानीय प्रशासन और निकायों ने जिम्मेदारी ली थी, मगर वह इसमें भी खरे नहीं उतरे। नतीजतन बृहस्पतिवार को अभियान समाप्त होने के बाद देर रात तक नगर के अधिकांश हिस्सों में कूड़े के ढेर सड़कों पर नजर आए। जिम्मेदार प्रशासन ने इन्हें साफ करने की जहमत तक नहीं उठाई।

Spotlight

Most Read

Unnao

ट्रक में भिड़ी कार, एक की मौत

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर शाहपुर तोंदा गांव के सामने ट्रक के अचानक ब्रेक लेने से पीछे आ रही तेज रफ्तार कार पीछे घुस गई। हादसे में चालक की मौत हो गई। साथी गंभीर रूप से घायल हो गया।

21 जनवरी 2018

Related Videos

रविवार के दिन मौज-मस्ती के बीच इन चीजों से रहें दूर

जानना चाहते हैं कि रविवार को लग रहा है कौन सा नक्षत्र, दिन के किस पहर में करने हैं शुभ काम और कितने बजे होगा सोमवार का सूर्योदय? देखिए, पंचांग गुरुवार 21 जनवरी 2018।

20 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper