सिटी बस से गिरकर डीआईटी छात्र की मौत

Dehradun Updated Tue, 30 Oct 2012 12:00 PM IST
देहरादून। सिटी बस चालक की छोटी सी लापरवाही ने एक और जिंदगी लील ली। मंगलवार को बस से उतरने के दौरान गिरने से डीआईटी के एक छात्र की मौत हो गई। घटना से गुस्साए लोगों ने जमकर हंगामा किया। चालक के फरार हो जाने पर बस में तोड़फोड़ तक कर डाली। लोगों का कहना था कि चालक ने छात्र के उतरने से पहले ही बस चला दी। पुलिस ने बाद में चालक को गिरफ्तार कर लिया।
चंदर रोड निवासी बैंक कर्मचारी उमराव सिंह का बेटा अजय सिंह(20) सुबह करीब 10 बजे अपनी दो बहनों को बस में बैठाने एमडीडीए पुल पर आया था। उन्हें सिटी बस से डाटकाली जाना था। दोनों को बस में बैठाकर वह जब नीचे उतरने लगा तो अचानक बस चल पड़ी, जिससे अजय पीठ के बल जमीन पर गिर पड़ा। सिर का पिछला हिस्सा जमीन पर लगने के कारण वह बुरी तरह घायल हो गया। हादसा होते ही सवारियां और आसपास के लोगों ने वहां हंगामा शुरू कर दिया। बात बिगड़ती देख चालक और परिचालक बस छोड़ कर फरार हो गए। इस पर लोगों ने सवारियां उतारकर बस के शीशे फोड़ डाले।
दोनों बहनों ने सड़क पर तड़पते भाई को संभालने की कोशिश की लेकिन उसकी हालत देखकर दोनों बेसुध होने लगी। किसी तरह उन्होंने खुद को संभाला और लोगों की मदद से अजय को पहले दून अस्पताल और फिर मैक्स अस्पताल में भर्ती करवाया। मैक्स अस्पताल में उपचार के दौरान अजय की मौत हो गई। भाई की मौत के बाद दोनों बहने सदमे में हैं। बाद में पुलिस ने बस चालक को गिरफ्तार कर लिया। शव को पोस्टमार्टम के बाद महंत इंद्रेश अस्पताल की मोर्चरी में रखा गया है।

इकलौता बेटा था अजय
अजय डीआईटी में इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग का अंतिम वर्ष का छात्र था। जबकि उसके पिता उमराव सिंह इलाहाबाद बैंक में कर्मचारी हैं। वे पिछले कुछ दिनों से इलाज के लिए गाजियाबाद गए हुए थे। बेटे की मौत की खबर मिलते ही सोमवार रात वे वापस आ गए। अजय घर का इकलौता बेटा था। जबकि उसकी तीन बहनें हैं। सोमवार को कॉलेज की छुट्टी के चलते वह घर पर ही था।

कौन लगाएगा लगाम
शहर की सड़कों पर सिटी बसों का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा। आए दिन बेलगाम सिटी बसों के कारण कोई न कोई हादसा हो रहा है। इन बसों को तय समय में पूरा रूट कवर कराना होता है। समय की यही बाध्यता इन बसों के बेलगाम होने का प्रमुख कारण है। वक्त पर पहुंचने के लिए बस चालक यातायात नियमों का उल्लंघन करते हैं। इसके अलावा सवारियों को चढ़ाने या उतारने में भी जल्दबाजी की जाती है, यही कारण है कि अजय की तरह कई लोग जान गवां चुके हैं।

24 घंटे में चार एक्सीडेंट
सिटी बस चालकों की लापरवाही के चलते पिछले 24 घंटों में शहर में चार दुर्घटनाएं हुईं। इनमें एक की मौत हुई, जबकि कई लोग घायल हुए। रविवार शाम शिमला बाइपास पर सिटी बस की चपेट में आने से दो युवतियां घायल हुईं। रविवार शाम को ही धारा चौकी के सामने सिटी बस ने स्कूटर को टक्कर मारी, जिसमें पति-पत्नी गंभीर रूप से घायल हुए। वहीं गांधी रोड पर भी सिटी बस की चपेट में आने से एक बाइक सवार चोटिल हुआ।

चलाया जाएगा अभियान
बुधवार से बेकाबू बसों पर लगाम लगाने के लिए अभियान चलाया जाएगा। तेज रफ्तार और ओवरलोडिंग करने वालों पर भी कार्रवाई होगी। -अजय जोशी, एसपी ट्रैफिक

Spotlight

Most Read

Ballia

अभाविप ने फूंका केरल सरकार का पुतला

कार्यकर्ता की हत्‍या के विरोध में फूटा गुस्सा

21 जनवरी 2018

Related Videos

राजधानी में बेखौफ बदमाश, दिनदहाड़े घर में घुसकर महिला का कत्ल

यूपी में बदमाशों का कहर जारी है। ग्रामीण क्षेत्रों को तो छोड़ ही दीजिए, राजधानी में भी लोग सुरक्षित नहीं हैं। शनिवार दोपहर बदमाशों ने लखनऊ में हार्डवेयर कारोबारी की पत्नी की दिनदहाड़े घर में घुस कर हत्या कर दी।

21 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper