घर में रहकर ही बनाई बिजनेस वुमन की पहचान

Dehradun Updated Wed, 17 Oct 2012 12:00 PM IST
देहरादून। किस पार्टी में कैसे कपड़ें पहने जाएं, किसी खास अवसर पर घर को कैसे डेकोरेट करना है, लेटेस्ट स्टाइल और फैशन क्या है, इस बारे में हर भारतीय घरेलू महिला को जानकारी होती ही है। लेकिन इन होम मेकर्स में से कुछ ऐसी भी हैं जिन्होंने अपनी इसी खासीयत को पहचान कर दुनिया के सामने रखा। फिर क्या जो वाहवाही उन्हें पहले घर में मिलती थी, फिर समाज में मिलने लगी। होम मेकर्स से बिजनेसवुमन की पहचान बनाने वाली महिलाओं के नाम थी तुषात सेंटर में आयोजित लाइफस्टाइल एग्जीबिशन। यहां पर जो हर स्टॉल में होम मेकर की सादगी और बिजनेस वुमन की क्रिएटिविटी दिखी तो सबका दिल जीत लिया।
यहां लाइफस्टाइल से जुड़ी सभी चीजें दिखी। कपड़े, सुंदर पेंटिंग, होम फर्नीशिंग आइटम, गहने से लेकर डेकोरेटिव आइटम्स ने सबका मन मोहा। प्रदर्शनी का उद्घाटन डीजीपी सत्यव्रत बंसल ने किया। उन्होंने भी एग्जीबिशन की सराहना की। घरेलू महिला से अपना मुकाम बनाने वाली महिलाओं की बात उन्हीं की जुबानी...
‘मैंने एमबीए, एलएलबी किया है, लेकिन शादी के बाद ज्यादा काम नहीं किया। अब जब बच्चे बड़े हो गए तो मन में कुछ करने की इच्छा हुई। ऑयलक्राफ्ट नेचुरल्स के प्रोड्क्ट्स मुझे बहुत पसंद थे और धीरे धीरे मेरे जानने वालों ने भी इनमें दिलचस्पी दिखाई। फिर मन में आया कि मुझे कुछ करना चाहिए। दो साल हो गए हैं मुझे इस क्षेत्र में काम करते हुए। अब मेरा एक स्टोर भी है। घर के साथ काम करने का इससे सुखद अनुभव मुझे कभी नहीं हुआ। - गिगी पाठक
‘शादी के कई सालों तक मैं यूं ही रही। पर मन में होता था कि मेरी पढ़ाई लिखाई का क्या फायदा। अब जब बेटा पांच साल का हो गया है तो अपने मन की कसक को पूरा करने की सोची। अभी मुझे दो महीने ही हुए हैं अपने बिजनेस में, लेकिन एक सुखद अनुभव हो रहा है। मैट और होम डेकोरेशन की चीजें जो मैं लाती हूं उन्हें सभी पसंद कर रहे हैं। - श्वेता सिकरी
‘मेरी इच्छा थी बचपन से ही डिजाइनर बनने की। इसलिए डिजाइनिंग की और फिर इसे ही प्रोफेशन बनाया। मैं राजस्थानी ज्वैलरी की डिजाइनिंग करती हूं। यह विशेष ध्यान रहता है कि जो ज्वैलरी मैं बनाऊं वह अफोर्डेबल हो। साथ ही उसमें ट्रेंड और स्टाइल की झलक हो। मुझे लगता है मेरा डिजाइनिंग का करियर मेरे परिवार के समय में कभी बाधा नहीं बना। - रुचि शर्मा
‘मैं अपने पापा को इस लाइन में आने का क्रेडिट देना चाहती हूं। उनेंने ही मुझे प्रेरित किया अपना काम करने के लिए। मैं शादी से लेकर किसी खास फेस्टिवल तक के लिए छोटी छोटी चीजें जैसे छलनी, थाल पोश डिजाइन करती हूं। एंटीक कैंडल स्टेंड, एनवेलप आदि भी खूब पसंद किए जाते हैं। अब मैं बिजनेसवुमन के रूप में पहचानी जाती हूं तो काफी खुशी मिलती है।- प्रिया ओबरॉय
‘मैंने काम शुरू किया क्योंकि मैं अपना समय व्यतीत करने का कोई अच्छा जरिया खोजना चाहती थी। पति की कुछ साल पहले मृत्यु हो गई तो घर पर अकेली हो गई। ऐसे में क्या करती। लेकिन गर्म कपड़ों विशेष रूप से कुर्ती के बिजनेस में मुझे अपनी पहचान मिली। मैं यह काम काफी अच्छे से कर लेती हूं और लोगों को मेरी पसंद भाती है। - मंजू रानी जैन

Spotlight

Most Read

Shimla

वन भूमि से 416 पेड़ काटने के मामले में आरोपी गिरफ्तार

वन भूमि से 416 पेड़ काटने के मामले में आरोपी गिरफ्तार

20 जनवरी 2018

Related Videos

रविवार के दिन मौज-मस्ती के बीच इन चीजों से रहें दूर

जानना चाहते हैं कि रविवार को लग रहा है कौन सा नक्षत्र, दिन के किस पहर में करने हैं शुभ काम और कितने बजे होगा सोमवार का सूर्योदय? देखिए, पंचांग गुरुवार 21 जनवरी 2018।

20 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper