मौत से एक दिन पहले घायल अवस्था में दून अस्पताल पहुंची थी रुचिता जैन

Dehradun Updated Mon, 15 Oct 2012 12:00 PM IST
देहरादून। मौत के बाद रुचिता भले ही कई अनसुलझे सवाल छोड़ गई हो। लेकिन, नए खुलासे के बाद माना जा रहा है कि उसने पहले भी खुदकुशी की कोशिश की थी। मौत से महज एक दिन पूर्व रुचिता घायल अवस्था में दून अस्पताल पहुंची थी। उसके पेट पर गहरा घाव था, लेकिन डाक्टर की सलाह के बावजूद वह भर्ती नहीं हुई।
शनिवार को मैगी प्वाइंट के पास रुचिता जैन ने कार खाई में कुदाकर जान दे दी थी। रविवार को पूछताछ में पता चला है कि शुक्रवार को रुचिता दून अस्पताल गई थी। उसके पेट पर धारदार हथियार से गहरा घाव बना हुआ था। अस्पताल सूत्रों के मुताबिक डाक्टरों ने उसे भर्ती होने को कहा था, लेकिन उसने स्कूल से छुट्टी न मिलने की बात कहकर इनकार कर दिया। यही नहीं, इलाज को लेकर भी वह काफी जल्दी में थी। ऐसे में यह सवाल उठ रहा है कि क्या रुचिता ने शुक्रवार को भी खुदकुशी की कोशिश की थी। सवाल यह भी है कि कहीं किसी और ने तो उस पर वार नहीं किया, जिसके बाद उसने शनिवार को मौत को गले लगा लिया। हालांकि, अब तक की पूछताछ में काफी समय से रुचिता के डिप्रेशन में रहने की बात सामने आई है। लेकिन, पुलिस के मुताबिक हर पहलू को ध्यान में रखते हुए जांच की जा रही है।

स्कूल में भी अनमनी रहने लगी थी
देहरादून। रुचिता की मौत के बाद उसके स्कूल समर वैली में शोक छा गया। वह स्कूल में प्रशासक के पद पर कार्यरत थी। प्रधानाचार्य कर्नल जसविंदर सिंह ने बताया कि रुचिका कुछ दिन से अनमनी दिख रही थी। उसने बीमार होने की बात कही थी। पिछले सप्ताह इलाज के लिए तीन दिन की छुट्टी भी ली थी। उन्होंने बताया कि शोकस्वरूप सोमवार को स्कूल में अवकाश घोषित किया गया है।

आज अंतिम संस्कार
रुचिता का अंतिम संस्कार आज कर दिया जाएगा। उसका भाई अमेरिका से दून के लिए रवाना हो गया है, जबकि छोटी बहन रविवार को बेंगलुरू से दून पहुंच गई। बहन का शव देख वह फफक पड़ी। उधर, रुचिता का कक्षा 11 में पढ़ने वाले बड़े बेटे किंशुक की तबीयत रविवार को बिगड़ गई। उसे उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया।

चश्मदीदों से पूछताछ
देहरादून। रविवार को एसआई संतोष तिवारी घटनास्थल मैगी प्वाइंट पर पहुंचे। चश्मदीद दुकानदारों ने बताया कि रुचिता कार में अकेली थी। वह मसूरी की ओर जाते हुए यहां रुकी। करीब दस मिनट तक रुचिता कार से बाहर रही। इसके बाद कार में बैठी और अचानक तेज रफ्तार में कार खाई की ओर मोड़ दी। एसआई तिवारी ने बताया कि मामले में रुचिता के परिजनों से बातचीत नहीं हो सकी है। उनसे पूछताछ के बाद ही खुदकुशी की वजह स्पष्ट हो सकती है। तिवारी ने बताया कि रुचिता के सहकर्मियों और बच्चों से भी पूछताछ की जाएगी। उधर, उसकी कार अब तक खाई से नहीं निकाली जा सकी।

अभी तक सामने आए तथ्यों के आधार पर यह डिप्रेशन के चलते किया गया सुसाइड ही लग रहा है। इस मामले में मसूरी पुलिस को विस्तृत जांच करने के आदेश दिए गए हैं।
-नीरू गर्ग, एसएसपी

Spotlight

Most Read

Varanasi

बिरहा प्रतियोगिता के चयन पर उठ रहे सवाल

बिरहा प्रतियोगिता के चयन पर उठ रहे सवाल

22 जनवरी 2018

Related Videos

राजधानी में बेखौफ बदमाश, दिनदहाड़े घर में घुसकर महिला का कत्ल

यूपी में बदमाशों का कहर जारी है। ग्रामीण क्षेत्रों को तो छोड़ ही दीजिए, राजधानी में भी लोग सुरक्षित नहीं हैं। शनिवार दोपहर बदमाशों ने लखनऊ में हार्डवेयर कारोबारी की पत्नी की दिनदहाड़े घर में घुस कर हत्या कर दी।

21 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper