20 के बंद को लेकर व्यापारियों ने बनाई रणनीति

Dehradun Updated Wed, 19 Sep 2012 12:00 PM IST
देहरादून। एफडीआई के विरोध में 20 सितंबर को होने वाले प्रदेश बंद को लेकर मंगलवार को व्यापारियों ने रणनीति तैयार की। प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधिमंडल ने बैठक कर बंद को कामयाब बनाने के लिए सभी 19 जिला इकाइयों और 311 नगर इकाइयों को सक्रिय रहने को कह दिया है।
प्रतिनिधिमंडल से जुड़े वक्ताओं ने एफडीआई को इस कदम को देश को आर्थिक गुलामी की ओर धकेलने वाला करार दिया। कहा कि इससे लघु उद्यमी बर्बाद हो जाएगा। निर्णय पर रोल बैक की मांग की। बैठक में संगठन के प्रदेश अध्यक्ष अनिल गोयल, कार्यकारी अध्यक्ष उमेश अग्रवाल, प्रदेश महामंत्री नवीन वर्मा, संरक्षक बाबू लाल गुप्ता, कोषाध्यक्ष एनसी तिवारी, प्रमोद गोयल, गिरीश, राजकुमार, महेश जोशी, किशना, ओमप्रकाश अरोड़ा, अश्वनी छाबड़ा आदि मौजूद रहे।
वहीं व्यापार मंडल प्रेमनगर ने बैठक कर शहरी क्षेत्र के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में घूम-घूमकर बंद कराने का निर्णय लिया। डीजल की कीमतों में बढ़ोत्तरी के निर्णय को रोल बैक किए जाने तक व्यापारियों ने चुप न बैठने का फैसला किया। बैठक की अध्यक्षता जगदीश चावला और संचालन भूषण भाटिया ने किया। इस अवसर पर दीपक भाटिया, पिंकी तलवार, चरणजीत भाटिया, राजेंद्र भाटिया, फकीर चंद, पिशोरी लाल तलवार आदि उपस्थित रहे।

Spotlight

Most Read

Champawat

एसएसबी, पुलिस, वन कर्मियों ने सीमा पर कांबिंग की

ठुलीगाड़ (पूर्णागिरि) में तैनात एसएसबी की पंचम वाहिनी की सी कंपनी के दल ने पुलिस एवं वन विभाग के साथ भारत-नेपाल सीमा पर सघन कांबिंग कर सुरक्षा का जायजा लिया।

21 जनवरी 2018

Related Videos

राजधानी में बेखौफ बदमाश, दिनदहाड़े घर में घुसकर महिला का कत्ल

यूपी में बदमाशों का कहर जारी है। ग्रामीण क्षेत्रों को तो छोड़ ही दीजिए, राजधानी में भी लोग सुरक्षित नहीं हैं। शनिवार दोपहर बदमाशों ने लखनऊ में हार्डवेयर कारोबारी की पत्नी की दिनदहाड़े घर में घुस कर हत्या कर दी।

21 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper