विज्ञापन
विज्ञापन

मुख्यमंत्री ने किया सात करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन

Dehradun Updated Tue, 28 Aug 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
देहरादून। मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने घंटाघर स्थित निर्माणाधीन एमडीडीए शापिंग कांप्लेक्स की कंप्यूटराइज पार्किंग का शुभारंभ किया। इससे घंटाघर के आसपास यातायात का दबाव कम हो जाएगा। पार्किंग में लगभग 600 वाहनों को खड़ा करने की सुविधा है। इससे लोगों को सड़कों पर अपने वाहन खड़े नहीं करने पड़ेंगे।
विज्ञापन
विज्ञापन
इस मौके पर क्षेत्रीय विधायक राजकुमार ने मुख्यमंत्री को एक मांग पत्र सौंपा, जिसमें शहर की नौ मांगों का उल्लेख किया गया था। शहर में सब-वे, ओवर ब्रिज बनाने से लेकर घंटाघर के सुंदरीकरण, नदियों की स्थाई सुरक्षा योजना बनवाने, ड्रेनेज व्यवस्था ठीक करने, मलिन बस्तियों को मान्यता दिलाने, स्कूलों और घरों के ऊपर से गुजरती हाइटेंशन लाइनें हटाने आदि मांगों को शामिल किया गया था। विधायक के मांगपत्र को देखकर मुख्यमंत्री भी दबाव में आ गए। उन्होंने कहा कि ‘राजकुमार ने तो मांगपत्र नहीं बल्कि पूरी रामायण दे दी है, जिसे तत्काल पढ़ पाना संभव नहीं है।’ केवल भरोसा दिलाया कि इनमें से ज्यादातर मांगों को जल्द ही पूरा कर दिया जाएगा।
---
इन योजनाओं का हुआ लोकार्पण
- राजा रोड, पलटन बाजार, रेसकोर्स की आंतरिक सड़कों का नवीनीकरण
- संजय कालोनी में 200 किलोलीटर क्षमता का उच्च जलाशय
- टैगोर विला में 1450 किलोलीटर क्षमता का उच्च जलाशय

इन योजनाओं का शिलान्यास
- झंडा वार्ड की आंतरिक सड़कों और नालियों का पुर्ननिर्माण
- शिवाजी मार्ग के आंतरिक मार्गों का और नालियों का सुदृढ़ीकरण
- चकराता रोड का चौड़ीकरण
- नेशविला रोड, रेसकोर्स, सरकुलर मार्ग और डालनवाला क्षेत्र में जल निकासी का शिलान्यास
---
दुकानदारों ने दिया ज्ञापन
फ्री होल्ड ओनर एसोसिएशन चकराता रोड की ओर से मुख्यमंत्री को एक ज्ञापन दिया गया, जिसमें फ्री होल्ड दुकानदारों को कांप्लेक्स में डेढ़ गुना स्पेस देने की मांग की गई। इंदिरा मार्केट के दुकानदारों ने शौचालय बनवाने के लिए मुख्यमंत्री को ज्ञापन दिया। संयुक्त संघर्ष समिति ने नजूल भूमि के 285 दुकानदारों की समस्याओं का समाधान करने की मांग रखी।
--
आपस में भीड़ गए दुकानदार
शापिंग कांप्लेक्स में डेढ़ गुना जमीन की मांग को लेकर दुकानदार आपस में ही भीड़ गए। एक चर्चित मिठाई दुकानदार का कहना था कि मंदिर समिति को भी डेढ़ गुना जमीन देने के लिए मांग की जानी चाहिए थी। भगवान सबसे ऊपर हैं, लेकिन दुकानदारों ने उनकी बात सुनी ही नहीं। बाद में वह खुद ही चले गए। दरअसल मिठाई दुकानदार मंदिर समिति का किरायदार है।

Recommended

HP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
HP Board 2019

HP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019
ज्योतिष समाधान

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव में किस सीट पर बदल रहे समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पढ़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

पत्नी के वोट ना डालने पर हार गए थे ये कांग्रेसी नेता

राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी की जिंदगी से जुड़ा एक रोचक किस्सा बड़ा मशहूर है। उनके बारे में कहा जाता है कि एक वोट की कीमत कोई सीपी जोशी से जाने... आखिर ऐसा क्यों कहा गया, इसके पीछे की कहानी क्या है आइए आपको बताते हैं...

20 अप्रैल 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election