बैंक खुलने से पहले ही जुटी भीड़

Dehradun Updated Sat, 25 Aug 2012 12:00 PM IST
देहरादून। दो दिन की हड़ताल के बाद बैंक खुले तो जैसे शहरवासियों को बड़ी राहत मिली। बैंक खुलने के साथ ही भीड़ जुटती चली गई। चैनल गेट पर अंदर जाने के लिए ग्राहकों में धक्का-मुक्की शुरू हो गई। चंद मिनट में ही चालान, ड्राफ्ट, नकदी लेन-देन के काउंटरों पर लंबी लाइनें लग गईं। कुछ शाखाओं पर तो आलम यह था कि लोग बैंक खुलने के तय समय से पहले आ जुटे थे। उधर, एटीएम में सुबह के वक्त पैसा लेने पहुंचे लोगों के हाथ केवल निराशा लगी। एटीएम में दोपहर बाद तक कैश पहुंचाया जा सका। अमर उजाला टीम ने बैंक खुलने से लेकर काम-काज शुरू हो जाने के बाद कुछ प्रमुख बैंकों का जायजा लिया। कुछ यूं नजर आई तस्वीर---

स्थान : पंजाब नेशनल बैंक, मुख्य कार्यालय, एस्लेहाल
समय : सुबह 10 बजकर 13 मिनट
परिसर के भीतर पैर तक रखने को जगह नहीं थी। मेन गेट से एंट्री लेते ही दाहिनी तरफ स्थित केबिन में सहायक महाप्रबंधक विश्वनाथ सिन्हा भीड़ के मद्देनजर बार-बार इंटरकाम पर मातहतों को निर्देश देने में जुटे थे। स्टाफ को मैनेज कर रहे थे। यहां सुविधा की दृष्टि से छात्र-छात्राओं की पंक्ति अलग से बनवाई गई थी। बैंक के आन साइड एटीएम में नगदी कम होने की सूचना पर तुरंत भर देने का फरमान हुआ। भीड़ लगातार बढ़ती रही। 15 मिनट के भीतर मारा-मारी की स्थिति आ चुकी थी।


स्थान : भारतीय स्टेट बैंक, मुख्य कार्यालय, कांवेंट रोड
समय : सुबह 10 बजकर 29 मिनट
पूरे परिसर में लंबी लाइन लगी थी। किनारे लगी कुर्सियों पर एक भी कुर्सी खाली नहीं थी। कुछ छात्र-छात्राएं यहां चालान फार्म भरने में व्यस्त थे। यह उनकी 12वीं के परीक्षा फार्म (प्राइवेट) भरने के लिए चालान जमा करने की आखिरी तिथि जो थी। ड्राफ्ट बनवाने वालों की लाइन तो इतनी लंबी थी कि मेन सर्किल तक जा चुकी थी। एक-दूसरे को धक्का-मुक्की का दौर चल रहा था। इतना ही नहीं, फटे-पुराने नोट बदले जाने वाले काउंटर को रिसीट, कैश पेमेंट वाले काउंटर की शक्ल दे दी गई थी। भीड़ बढ़ती जा रही थी।

अलग से लगाए गए काउंटर
दो दिन की छुट्टी केमद्देनजर बैंकों को शायद पहले से ही भीड़ जुटने की उम्मीद थी, इसलिए अधिकांश बैंकों में अलग से काउंटर लगा दिए गए थे। पीएनबी मुख्य कार्यालय में 5, जबकि एसबीआई मुख्य कार्यालय में 3 काउंटर अलग से लगाए गए। अन्य बैंकों में भी यही हाल रहा।

कम स्टाफ को किया एडजस्ट
दो दिन की छुट्टी के चलते बैंकों में स्टाफ कम नजर आया। ऐसे में अचानक उमड़ी भीड़ को मैनेज करने केलिए स्टाफ को एडजस्ट किया गया। एफडी, नेट बैंकिंग जैसे काउंटर से हटा उन्हें डायरेक्ट चालान, ड्राफ्ट जैसे काउंटरों पर लगा दिया गया।

जान-पहचान का उठाया फायदा
चेक, चालान जमा कराने आए लोगों ने भ्ीाड़ के मद्देनजर अपने काम कराने का वही तरीका ढूंढा जो लोग अक्सर इस्तेमाल करते हैं। किसी ने मैनेजर से जान-पहचान का फायदा उठाया तो किसी ने जानकार का नाम लेकर अपना काम निकलवाया।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाले में लालू की नई मुसीबत, चाईबासा कोषागार मामले में आज आएगा फैसला

चारा घोटाला मामले में रांची की स्पेशल सीबीआई कोर्ट बुधवार को सुनवाई करेगी। स्पेशल कोर्ट जज एस एस प्रसाद इस मामले में फैसला देंगे।

24 जनवरी 2018

Related Videos

‘पद्मावत’ का रिव्यू : फर्स्ट डे-फर्स्ट शो से पहले देखिए

'पद्मावत' की रिलीज से पहले प्रोड्यूसर-डायरेक्टर संजय लीला भंसाली ने मीडिया के लिए प्रेस शो रखा जिसे देखने के बाद जर्नलिस्ट्स ने क्या रिव्यू दिया ‘पद्मावत’ पर वो आपको दिखाते हैं सिर्फ अमर उजाला टीवी पर।

24 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper