अमन-चैन की दुआ को उठे हजारों हाथ

Dehradun Updated Tue, 21 Aug 2012 12:00 PM IST
देहरादून। राजधानी के ईदगाहों और मस्जिदों में सोमवार को ईद-उल-फितर की नमाज अदा की गई। इस दौरान अमन-चैन की दुआ के लिए हजारों हाथ उठे। मौसम ने भी अकीदतमंदों का पूरा साथ दिया। नमाज के बाद एक दूसरे को लगे लगाकर ईद की मुबारकबाद दी गई। दिनभर यह बधाइयों का सिलसिला चलता रहा। इससे पहले तकरीर में उलेमाओं ने लोगों से आपसी भाईचारा और सांप्रदायिक सौहार्द की अपील की।
ईद के मौके पर शहरभर की मस्जिदों में भारी संख्या में नमाजी पहुंचे। ईदगाह बिंदाल, माजरा, ईसी रोड, पलटन बाजार, धमावाला, इनामुल्ला बिल्डिंग, गांधीग्राम, शहीद भगत सिंह कॉलोनी, चोरखाला, दिलाराम बाजार आदि जगहों की मस्जिदों में ईद की नमाज अदा की गई। इससे पहले ईद को लेकर लोगों में खासा उत्साह दिखा। सुबह चार बजे से ही जहां महिलाएं पकवान बनाने में जुट गईं वहीं पुरुष नमाज की तैयारियों में लगे रहे। लोहियानगर की रजा मस्जिद में नमाज के मौके पर नायब सुन्नी शहर काजी अशरफ हुसैन कादरी ने पहले रोजे का मकसद बताया। उन्होंने कहा कि जिस तरह से रोजों के दौरान पूरे महीने मुस्लिम लोग बुराइयों से दूर रहते हैं उसी तरह हमेशा रहें। उन्होंने कहा कि किसी भी तरह की अफवाहाें पर संयम से काम लें, ताकि देश की शांति भंग ना हो। मुफ्ती शहजाद बरकाती ने कहा कि इंसान यदि अच्छा काम करे तो ऊंचा स्थान प्राप्त कर लेता है और बुराइयों से नीचे गिर जाता है।
‘सबका मालिक एक है’
बिंदाल के पास स्थित ईदगाह में शहर काजी मोहम्मद अहमद कासमी ने तकरीर की। उन्होंने कहा कि सबका मालिक एक है। इंसान को अल्लाह ने ही बनाया है। किसी भी मसले का हल बैठकर निकाला जाना चाहिए। आपस में अमन बनाए रखे, अफवाहों पर ध्यान ना दें। ईदगाह समिति के सचिव बहार अहमद ने कहा कि फिजा खराब करने वालों को मुंह तोड़ जवाब दें। उन्होंने कहा कि इस्लाम संदेश देता है कि सभी धर्म भाईचारे के साथ रहें।
--
घर आई मोबाइल की खुशी
ईद पर कुछ ना कुछ नया खरीदने की भी परंपरा रही है। वजह यही है कि हर कोई इस खास दिन को और ज्यादा खास और यादगार बनाना चाहता है। आजाद कॉलोनी में रहने वाली सुल्ताना प्रवीन को सबसे अच्छा मौका यही मिला। वह ईद की खुशी बढ़ाने के लिए इसी मौके पर मोबाइल घर लेकर आई।
--
काईद को मिली पहली ईद्दी
25 दिन के काईद की यह पहली ईद थी। इस मौके पर पहली बार घर आकर काईद को देखने वाले रिश्तेदार अब्दुल कादिर और इरफान ने उसे ईद्दी दी। साथ ही पास-पड़ोस से भी उसे पहली ईद की ईद्दी मिली।
--
बहनों के लिए खास
बहनों के लिए भी यह दिन खास होता है। इस दिन भाई और अभिभावक लड़की के ससुराल शीर, मिठाई सहित ईद्दी देकर आते हैं। डॉ. संजीदा बेगम ने बताया कि अपनी दोनों बेटियों को ईद पर नए कपड़े बनाने के लिए पहले पैसा दे चुकी थी। ईद के दिन व्यंजन और ईद्दी देकर अपना फर्ज निभाया।

बच्चों ने मिलकर मनाई खुशियां
देहरादून। क्लेमनटाउन स्थित अपना घर आश्रम में बच्चे-बड़ो ने संग मिलकर ईद की खुशियां मनाई। यहां रहने वाले अनाथ बच्चे हो या बड़े सभी ने अपने पुराने घर को भुलाकर अब इस नए घर में खुशियां मनाई। पूरे रोजे रखने के बाद सेहरीन और अरशद के लिए यह दिन खास था। सुबह से ही बच्चों ने नए कपड़े पहन खाना-पीना शुरू कर दिया था। यहां कई लोग भी बच्चों की खुशी में शामिल होने आए। बिमला ने भी पूरी शिद्दत से रोजे रखे और खुशी के साथ ईद मनाई। आश्रम के संचालक इलियाज ने बताया कि सभी बच्चों के लिए नए कपड़े खरीदे गए थे।

आरआईएमसी में मनाई गई ईद
फोटो...
देहरादून। राष्ट्रीय इंडियन मिलिट्री एकेडमी (आरआईएमसी) में धूमधाम से ईद मनाई गई। आरआईएमसी में सर्वधर्म समभाव की भावना के तहत सभी धर्मों से जुड़े त्योहार हर्षोल्लास से मनाए जाते हैं। इसी तर्ज पर कैंपस में मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा और चर्च भी बने हुए है। ईद पर मस्जिद में मौलवी को बुलाया गया। कैडेट अब्दुल मुजीद ने सभी को ईद-उल-फितर और रोजा के बारे में जानकारी दी। मौलवी ने ईद से जुड़ी भावनाओं को उजागर किया और आरआईएमसी में सभी धर्मों के सम्मान की सराहना की।
आरआईएमसी कमांडेंट कर्नल पंकज के कुमारिया ने ईद की मुबारकबाद दी। उन्होंने कहा कि सैनिक का एक ही धर्म होता है राष्ट्रभक्ति, पर इस राष्ट्रभक्ति के तहत ही सभी धर्मों को समान रूप से सम्मान देना होता है। इस अवसर पर लेफ्टिनेंट कर्नल अंबरीश तिवारी, एडमिन ऑफिसर सीएस विश्वकर्मा, उप प्रधानाचार्य विंग कमांडर एसके थपलियाल, मेजर आर रिचर्डसन, लेफ्टिनेंट पिंकू हेकम और पीके शर्मा मौजूद रहे। सभी कैडेट्स ने एक दूसरे को गले मिलकर ईद की बधाई दी।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

बवाना कांड पर सियासत शुरू, भाजपा मेयर बोलीं- सीएम केजरीवाल को मांगनी चाहिए माफी

दिल्ली के औद्योगिक इलाके बवाना में शनिवार देर शाम अवैध पटाखा गोदाम में आग लगने से 17 लोगों की मौत के बाद अब इस पर सियासत शुरू हो गई है।

21 जनवरी 2018

Related Videos

कैसे बनती है 2 मिनट में चप्पल, आप भी देखिए...

चप्पल हमसब की जिंदगी के रोजमर्रा में काम आने वाली चीज है ,लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि ये कैसे बनती होगी। चलिए आज हम आपको बताते हैं कि चप्पल 2 मिनट में कैसे तैयार की जाती है...

21 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper