उत्तराखंड, हिमाचल की जनजातियों पर होगा अध्ययन

Dehradun Updated Fri, 17 Aug 2012 12:00 PM IST
देहरादून। उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश की जनजातियों पर अध्ययन की तैयारी है। भारतीय सामाजिक विज्ञान शोध परिषद (आईसीएसएसएआर) ने अनुसूचित जनजातियों की शैक्षणिक स्थिति पर विशेष शोध परियोजना के तहत दून यूनिवर्सिटी को यह जिम्मेदारी सौंपी है। अध्ययन के लिए दो साल की समयावधि नियत की गई है। दून यूनिवर्सिटी के सेंटर फार पब्लिक पालिसी में बृहस्पतिवार को इस संबंध में बैठक भी हुई।
दून यूनिवर्सिटी के डिप्टी रजिस्ट्रार डा. मंगल सिंह मंद्रवाल के अनुसार इस अध्ययन का मकसद उत्तराखंड और हिमाचल में अनुसूचित जनजातियों की शैक्षणिक स्थितियों से संबंधित नीतियों, योजनाओं, प्रबंधन, क्रियान्वयन, उपलब्धियों और चुनौतियों का ब्योरा जुटाना है। दोनों राज्यों के बीच रणनीतिक स्तर पर शासन, निदेशालय, तकनीकी शिक्षा, व्यावसायिक शिक्षा विभाग का इस संबंध में सहयोग रहेगा।
यूनिवर्सिटी की वेबसाइट पर भी इस शोध से संबंधित एक लिंक अपलोड किया जाएगा। इसके साथ ही परियोजना से जुड़े बिंदुओं पर लघु शोध प्रबंध संचालित किए जाएंगे। बैठक में परियोजना निदेशक डा. आरएस टोलिया, प्रो. नवीन चंद्र ढौंडियाल, डा. बीएम हरबोला आदि उपस्थित रहे।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

दिल्ली-एनसीआर में दोपहर में हुआ अंधेरा, हल्की बार‌िश से गिरा पारा

पहले धुंध, उसके बाद उमस भरे मौसम और फिर हुई हल्की बारिश ने दिल्ली में हो रहे गणतंत्र दिवस के फुल ड्रेस रिहर्सल में विलेन की भूमिका निभाई।

23 जनवरी 2018

Related Videos

SBI में निकलीं 8301 नौकरियां, ये है अप्लाई करने की आखिरी तारीख

करियर प्लस के इस बुलेटिन में हम आपको देंगे जानकारी लेटेस्ट सरकारी नौकरियों की, करेंट अफेयर्स के बारे में जिनके बारे में आपसे सरकारी नौकरियों की परीक्षाओं या इंटरव्यू में सवाल पूछे जा सकते हैं और साथ ही आपको जानकारी देंगे एक खास शख्सियत के बारे में।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper