लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Cricket ›   Cricket News ›   KL Rahul said if he would have batted till the end then result would have been different

IND vs BAN: बांग्लादेश के खिलाफ भारत की हार पर बोले राहुल- मैंने अंत तक बल्लेबाजी की होती तो नतीजा कुछ और होता

स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, दोहा Published by: शक्तिराज सिंह Updated Mon, 05 Dec 2022 12:26 PM IST
सार

बांग्लादेश के खिलाफ भारत की हार के बाद लोकेश राहुल ने कहा कि अगर की वह अंत तक बल्लेबाजी करते तो भारत 30-40 रन ज्यादा बना पाता और मैच का नतीजा कुछ और हो सकता था। 
 

भारत बनाम बांग्लादेश
भारत बनाम बांग्लादेश - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन

विस्तार

केएल राहुल ने बांग्लादेश के खिलाफ पहले वनडे में भारत की हार की जिम्मेदारी ली। उन्होंने अफसोस जताते हुए कहा कि अगर उन्होंने अंत तक बल्लेबाजी की होती तो 30-40 रन और बना सकते थे। इस स्थिति में बांग्लादेश की टीम पर दबाव ज्यादा रहता और मैच का नतीजा कुछ और हो सकता था। 


भारत और बांग्लादेश के बीच वनडे सीरीज के आखिरी मैच में टीम इंडिया को एक विकेट के अंतर से हार का सामना करना पड़ा। इस मैच में लोकेश राहुल ने मेंहदी हसन मिराज का अहम कैच छोड़ा और भारत की हार के लिए उन्हें ही जिम्मेदार ठहराया गया। राहुल ने भी हार की जिम्मेदारी ली, लेकिन कैच की बजाय अपनी बल्लेबाजी को लेकर उन्होंने निराशा जाहिर की।

भारत ने बांग्लादेश के खिलाफ अहम मौके पर दो कैच छोड़े। इसका फायदा उठाकर मेहदी हसन मिराज और मुस्तफिजुर रहमान ने 10वें विकेट के लिए 51 रन की नाबाद साझेदारी कर भारत से मैच छीन लिया। यह लक्ष्य का पीछा करते हुए 10वें विकेट के लिए चौथी सबसे बड़ी साझेदारी थी, जिसमें कोई टीम मैच जीती है। 

73 रनों की पारी खेलने वाले राहुल ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा "आदर्श रूप से मुझे अंत तक 30-40 और रन बनाने थे। अगर मैं अंत तक बल्लेबाजी करता तो मेरा अनुमान था कि 230-240 का स्कोर बनेगा। (मोहम्मद) सिराज मेरे साथ अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे, इसलिए अगर मैं 10 ओवर और बल्लेबाजी कर सकता था और 30-40 रन बना सकता था, तो इससे फर्क पड़ सकता था।"

शाकिब अल हसन के पांच इबादत हुसैन के चार विकेट लेकर भारतीय बल्लेबाजी को झकझोर दिया। भारतीय बल्लेबाज इस मैच में फेल रहे। टीम इंडिया 42 ओवर में 186 रन पर सिमट गई। हालांकि, केएल राहुल के अर्धशतक के चलते टीम इंडिया 200 के आसपास का स्कोर बना पाई। अगर राहुल भी फेल होते तो टीम इंडिया 100 रन के अंदर सिमट सकती थी। 

186 रन के स्कोर का बचाव करते हुए भारत के गेंदबाजों ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया और 40 ओवर के अंदर 136 रन पर बांग्लादेश के नौ विकेट गिरा दिए। मोहम्मद सिराज ने तीन विकेट लिए, जबकि कुलदीप सेन और वाशिंगटन सुंदर ने दो-दो विकेट लिए। हालांकि, मेहदी और मुस्तफिजुर ने भारत को आखिरी विकेट नहीं लेने दिया और मेजबान टीम को 24 गेंद शेष रहते जीत दिलाई।

अपनी व्यक्तिगत बल्लेबाजी पर बात करते हुए, केएल राहुल ने कहा "यह उन दिनों में से एक था, जहां हर किसी में से, मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं गेंद को बेहतर तरीके से टाइम कर रहा था। मैंने जो भी शॉट हवा में खेले, वह सौभाग्य से वह सीमा रेखा के पार गए। हर विकल्प जो मैंने चुना वह मेरे पक्ष में गया।

राहुल बोले "सारी तैयारी मैच से पहले होती है, इसलिए इस तरह की पारियों से काफी खुश होते हैं। एक बल्लेबाज के रूप में वास्तव में आपको खुशी मिलती है, क्योंकि आपको चुनौती दी जाती है और जब आपकी टीम को आवश्यकता होती है तो आपको वास्तव में अपना हाथ ऊपर रखना होता है, इसलिए मैंने अपनी बल्लेबाजी का आनंद लिया।"
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें क्रिकेट समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। क्रिकेट जगत की अन्य खबरें जैसे क्रिकेट मैच लाइव स्कोरकार्ड, टीम और प्लेयर्स की आईसीसी रैंकिंग आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00