विज्ञापन
विज्ञापन

गन्ना, लीची, बच्चे, श्वान आदि-इत्यादि : चीख के एक तरफ गन्ना है दूसरी तरफ लीची

यशवंत व्यास Updated Mon, 24 Jun 2019 05:42 AM IST
On one side of the scream there is sugarcane, on the other side litchi
- फोटो : amar ujala
ख़बर सुनें
अपने क्या कभी गन्ना काटा है? बीड़, मराठवाड़ा की मजदूरिनें अपने पति के साथ मिलकर ठेकेदार से एक करार करती हैं। एक टन गन्ने काटने के ढाई सौ रुपए। कुल चार से पांच महीनों का काम जिसमें तीन सौ टन काटकर मिले पैसों से साल भर उनकी गृहस्थी चलेगी। इसलिए एक दिन भी छूट जाए तो क्या हो? और वह भी जब, मासिक धर्म के चलते हो तो क्या हो? उन चार दिनों के बदले पांच सौ रुपए रोज की पेनल्टी लगेगी और पैसा कट जाएगा सो अलग। तो मजदूरिन क्या करे? वह कोख के उस हिस्से से ही मुक्त हो जाती है, जिसके चलते जीवन का यह चक्र उसके जीवन को जीवन बनाने के लिए बनाता है। 
विज्ञापन
गांव के गांव - जहां औरतों ने गर्भाशय निकाल दिए हैं। सर्जरी के लिए भी ठेकेदार एडवांस देने को तैयार बैठा है। उधार कटाओ, मुक्त हो जाओ। गन्ना कट रहा है। मिलों में जा रहा है। शक्कर बन रही है। आपकी जीभ की मिठास में जो शक्कर आती है, उसमें एक कोख की चीख भी होती है। पर आपको सुनाई नहीं देती।

चीख के एक तरफ गन्ना है, दूसरी तरफ लीची है। मीठे से मीठे का भाग दो तो कुल कितना मीठा बचा? सयाने कहते हैं मुजफ्फरपुर में भूखे बच्चे लीची खा जाते हैं, इसलिए उसके जहर से मर जाते हैं। ‘चमकी बुखार’ का कोई इलाज नहीं है, वो तो मरेंगे। ये तो सालाना उत्सव है। इसमें सरकार बेचारी क्या करे? जैसे होली, दीवाली, ईद आती है, वैसे ये भूखे बच्चों की लीची-मौत भी आती है। रिपोर्टर ‘चमकी’ से त्रस्त आईसीयू में घुस गए हैं, डॉक्टर कांप रहे हैं, बच्चे बेहोश हैं, मांएं रो रही हैं, सरकारें भरे पेट लीची खा रही हैं।

भरे पेट खाने पर लीची ज्यादा मीठी और अतिरिक्त तौर पर स्वादिष्ट लगती है। तब आपको अस्पताल, बीमारी, गरीबी, डॉक्टर, इंतजाम, मृत्यु, जीवन आदि पर उत्कृष्ट विचार आते हैं। भूखों ने गलती की। भूखे हमेशा गलती करते हैं, क्योंकि वे भूखे हैं। वे पेट भर लेते तो लीची जैसी लजीज चीज को बदनाम करने से बच जाते।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन

Recommended

बायोमेडिकल एवं लाइफ साइंस में लेना है एडमिशन, ये है सबसे नामी संस्था
Dolphin PG

बायोमेडिकल एवं लाइफ साइंस में लेना है एडमिशन, ये है सबसे नामी संस्था

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को
Astrology Services

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Opinion

अब मुद्दा सिर्फ पाक अधिकृत कश्मीर : पाकिस्तान, चीन की कठपुतली बन गया है

भारत के कदम से पाकिस्तान की नींद हराम हो गई है, क्योंकि कश्मीर अब कोई मुद्दा ही नहीं रहा। अब केवल एक मुद्दा बाकी है कि पाक अधिकृत कश्मीर को पाकिस्तान के कब्जे से कैसे वापस लाया जाए। इस मामले में हमारी सरकार भी कड़े तेवर दिखा रही है।

20 अगस्त 2019

विज्ञापन

INX मीडिया केस: पी चिदंबरम की गिरफ्तारी पर भड़के बेटे कार्ति, ‘हम लड़ेंगे राजनीतिक और कानूनी लड़ाई'

पूर्व वित्त मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम ने चेन्नई में मीडिया से बात करते हुए कहा कि उनके पिता की गिरफ्तारी अनुचित और राजनीतिक विद्वेषपूर्ण है।

22 अगस्त 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree