विज्ञापन
विज्ञापन

बढ़ती आबादी बढ़ाएगी प्रवासन: भारत अगले दो दशकों में जनसंख्या वृद्धि में गिरावट के लिए तैयार है

पत्रलेखा चटर्जी Updated Thu, 11 Jul 2019 06:11 AM IST
प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर
ख़बर सुनें
सबसे पहले एक अच्छी खबर! हम इस बात पर खुश हो सकते हैं कि भारत अगले दो दशकों में जनसंख्या वृद्धि में तेजी से गिरावट के लिए तैयार है। और यह कि आबादी बहुल हिंदी प्रदेश में बहुत कम बच्चे पैदा हो रहे हैं। यह एक आशाजनक संकेत है। वर्तमान रुझानों के अनुसार, अगले दो दशकों में छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और मध्य प्रदेश में जनसंख्या वृद्धि दर आधी फीसदी हो सकती है, सिर्फ बिहार में ही जनसंख्या वृद्धि दर एक फीसदी रहने की संभावना है।
विज्ञापन
लेकिन जैसा कि आर्थिक सर्वेक्षण-2019 हमें बता रहा है, झारखंड के साथ ये राज्य अब भी 2021-41 के बीच भारत की जनसंख्या वृद्धि में दो-तिहाई के हिस्सेदार होंगे, सिर्फ उत्तर प्रदेश और बिहार ही जनसंख्या वृद्धि में 40 फीसदी से ज्यादा के लिए जिम्मेदार होगा। जनसांख्यिकीय लाभांश, जिसकी हम इतनी चर्चा करते हैं, वास्तव में कामकाजी उम्र श्रेणी में जनसंख्या का उभार है। हिंदी प्रदेश लगातार जितने लोगों को रोजगार दे सकते हैं, उसकी तुलना में ज्यादा रोजगार तलाशने वालों को पैदा करते रहेंगे।

यह जमीनी हकीकत है। लोगों को रोजगार के लिए बाहर जाने और आकर्षित करने वाले कारक पहले से ही उत्तरी भारत के लोगों के भारी विस्थापन का कारण रहे हैं, जिनके चलते उत्तर भारत के लोग ज्यादा विकसित दक्षिण भारतीय राज्यों का रुख करते हैं। आर्थिक सर्वेक्षण इसी बात की पुष्टि करता है कि इस प्रवृत्ति के आगे भी जारी रहने की संभावना है।

दक्षिण भारतीय राज्यों ने लगातार रोजगार सृजन के मार्ग का नेतृत्व किया है, खासकर सूचना प्रौद्योगिकी और संबंधित रोजगारों में, इन्हीं विशेषताओं के कारण इस क्षेत्र में कंपनियों की संख्या, योग्य प्रतिभाओं के पुल की मौजूदगी, गुणवत्तापूर्ण शिक्षण संस्थान और तीन प्रमुख शहरी केंद्रों की सामीप्य निकटता है। लेकिन भारत के गरीब राज्यों के अनौपचारिक श्रमिकों के लिए दक्षिणी राज्यों के आकर्षण का केंद्र बने रहने की भी संभावना है।

Recommended

शेयर मार्केट, अब नहीं रहेगा गुत्थी
Invertis university

शेयर मार्केट, अब नहीं रहेगा गुत्थी

समस्या कैसी भी हो, पाएं इसका अचूक समाधान प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्यों से केवल 99 रुपये में
Astrology Services

समस्या कैसी भी हो, पाएं इसका अचूक समाधान प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्यों से केवल 99 रुपये में

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Opinion

सुषमा स्वराज से लेकर अरुण जेटली तक, राजधानी के रणनीतिकारों को भुलाया नहीं जा सकता

मई, 2014 के बाद की कहानी सबको पता है। प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी ने उन्हें वित्त मंत्री बनाया था और रक्षा तथा सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय जैसी अहम जिम्मेदारी भी दी थी।

25 अगस्त 2019

विज्ञापन

सौरव गांगुली और एमएस धोनी को विराट कोहली ने पछाड़ा, किया ये बड़ा कारनामा

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने जहां टेस्ट क्रिकेट में भारत की सफलता की नई इबारत लिखी तो उनकी कप्तानी में टीम इंडिया ने रविवार को वेस्टइंडीज को दो मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले मैच में 318 रन के अंतर से मात दी।

26 अगस्त 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree