विज्ञापन
विज्ञापन

देश की छवि: 'लिंचिस्तान' बनने से रोकना बेहद जरूरी

तवलीन सिंह Updated Mon, 16 Sep 2019 03:37 AM IST
तबरेज अंसारी
तबरेज अंसारी - फोटो : social media
ख़बर सुनें
पिछले सप्ताह गोमाता से जुड़ी दो चीजें हुईं। प्रधानमंत्री ने मथुरा में कहा कि इस देश में कुछ लोग हैं, गाय का नाम सुनते ही जिनके ‘बाल खड़े हो जाते हैं।’  प्रधानमंत्री काफी क्रोधित दिखे, जब उन्होंने यह बात कही, और आगे यह कहा कि ऐसे लोग देश को बर्बाद करने का काम करते हैं। दूसरी खबर यह आई कि ग्यारह लोगों पर से तबरेज अंसारी की हत्या का मुकदमा हटाकर झारखंड की पुलिस अब उन पर गैर-इरादतन हत्या का मुकदमा चलाने वाली है।
विज्ञापन
एक तरफ प्रधानमंत्री हैं, जो यह मानते हैं कि देश की छवि तब खराब होती है, जब लोग यह कहते हैं कि उनकी सरकार ने गोमाता पर इतना ध्यान आकर्षित किया है कि भारत की छवि एक ऐसे देश की बन रही है, जो आगे बढ़ने के बदले पीछे को जा रहा है। क्या प्रधानमंत्री जानते नहीं कि अगर गायों को लेकर भारत की छवि बिगड़ी है, तो केवल इसलिए कि गोरक्षा के नाम पर मुसलमानों और दलितों पर जानलेवा हमले हुए हैं?

एक समय था, जब प्रधानमंत्री ने स्वीकार किया था कि गोरक्षा के नाम पर भीड़ द्वारा जो लिंचिंग हुई है, वह निंदनीय है। उन्होंने यहां तक कहा था कि इन गोरक्षकों में से कई तो ऐसे हैं, जो रात को हर तरह के अपराध करते हैं और दिन में गोरक्षक का चोला पहन कर अपनी असलियत छिपाते हैं। तो क्या अब उनका मन बदल गया है? क्या वह जानते नहीं कि लिंचिंग की अधिकतर वारदात उन राज्यों में हुई हैं, जहां भाजपा की सरकारें हैं और अक्सर देखा गया है कि सरकारों ने हत्यारों को बचाने का काम किया है।

सोशल मीडिया पर वह वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें तबरेज अंसारी को एक खंभे से बांधकर घंटों मारा गया और उससे ‘जयश्री राम’ कहलवाया गया। पुलिस जब आई, तो हत्यारों को गिरफ्तार करने के बदले वह अंसारी को पकड़ कर ले गई। अस्पताल ले जाने के बदले उसे हिरासत में रखा। दो दिन बाद जब उसकी हालत बिगड़ने लगी, तब उसे अस्पताल लेकर गए, जहां उसकी मौत हो गई। तबरेज के इलाज में अगर विलंब न हुआ होता, तो शायद आज वह जीवित होता।

पिछले पांच वर्षों में ऐसी घटनाओं के कारण भारत की बदनामी हुई है। कुछ विदेशी पत्रकार भारत को लिंचिस्तान कहने लग गए हैं। गाय की सेवा से कोई बदनामी नहीं हुई है। बल्कि गायों की सेवा तो सरकार को और ज्यादा करनी चाहिए, क्योंकि कसाईखानों के पूरी तरह बंद हो जाने से भूखी, लावारिस गायों के झुंड देहातों में किसानों की फसल खाते हुए दिखने लगे हैं। इन लावारिस गायों के लिए अगर बड़े पैमाने पर गोशालाओं का निर्माण होता है, तो इससे देश का नाम ही होगा, बदनामी नहीं।

अपने देश में गोसेवा की परंपरा पुरानी है। यह हमारी सभ्यता का हिस्सा बन चुकी है। लेकिन हमारे यहां गायों का हाल बद से बदतर होता जा रहा है। देहातों और कस्बों में लावारिस गायों की संख्या इतनी बढ़ गई है कि हर नुक्कड़ पर कमजोर लाचार गाएं कूड़ा और प्लास्टिक खाती हुई दिखती हैं। जिन देशों में गायों की पूजा नहीं होती, वहां ऐसे दृश्य बिल्कुल नहीं दिखते। यह कितने दुख की बात है कि हमारे देश में, जहां गाय की पूजा होती है, वहां उनका इतना बुरा हाल है कि उनको पेट भर चारा देनेवाला भी नहीं है।

लाखों नए गोशालाओं की इस देश में आवश्यकता है। इनका निर्माण होता है, तो देश बिल्कुल भी बदनाम नहीं होगा। लोगों के बाल तभी खड़े होते हैं प्रधानमंत्री जी, जब गोरक्षा के नाम पर इंसानों को मारा जाता है और हत्यारों को सरकारों से शरण मिलती है।
विज्ञापन

Recommended

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन
Oppo Reno2

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि  व्  सर्वांगीण कल्याण  की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि व् सर्वांगीण कल्याण की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Blog

हरियाणा चुनाव 2019ः किन इलाकों में किन मुद्दों पर आमने-सामने है भाजपा-कांग्रेस?

2019 के लोकसभा चुनाव परिणाम और राष्ट्रवादी चुनावी मुद्दों की भारी जीत ने विश्लेषकों को चुप करा दिया है। कोई भी कुछ बोलने को तैयार नहीं है, क्योंकि नरेंद्र मोदी के चुनावी करिश्मा से सारे डरते हैं।

19 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

बॉलीवुड बीट्स: सलमान के बॉडीगार्ड शेरा बने 'शिव सैनिक' तो स्टेज से गिर गई लेडी गागा, पांच खबरें

आज के बॉलीवुड बीट्स में आपको सलमान खान के बॉडीगार्ड शेरा के शिव सेना में शामिल होने, सारा अली खान के वायरल वीडियो, विवादों में आयुष्मान खुराना की फिल्म और स्टेज से गिरते हुईं लेडी गागा के वीडियो के बारे में बताएंगे।

19 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree