विज्ञापन
विज्ञापन

आर्थिक मोर्चे पर उम्मीदें : भारत की धमक और बढ़ने की उम्मीद है

जयंतीलाल भंडारी Updated Fri, 31 May 2019 03:32 AM IST
जयंतीलाल भंडारी
जयंतीलाल भंडारी - फोटो : a
ख़बर सुनें
नरेंद्र मोदी दोबारा प्रधानमंत्री का पदभार ग्रहण कर चुके हैं, जिसके बाद आर्थिक मोर्चे पर भारत की धमक और बढ़ने की उम्मीद है। पिछले दिनों स्टैंडर्ड ऐंड पूअर्स ने कहा कि मोदी की अगुवाई में एनडीए सरकार भारत को आर्थिक विकास और सुधारों की डगर पर तेजी से आगे बढ़ाएगी। इससे आर्थिक नीतिगत स्थिरता बनी रहेगी, विदेशी पूंजी प्रवाह में सुधार आएगा, कारोबार सुगमता बढ़ेगी, कर व्यवस्था ज्यादा सरल बनेगी और निजी खपत व निजी निवेश में वृद्धि होगी।
विज्ञापन
विज्ञापन
प्रधानमंत्री मोदी ने भी कहा है कि नई सरकार आगामी पांच साल में देश को आर्थिक शक्ति बनाने की डगर पर आगे बढ़ेगी। वैश्विक सुस्ती के बीच भारतीय अर्थव्यवस्था को गतिशील बनाने के लिए नई सरकार मैन्यूफैक्चरिंग, बैंकिंग और कॉरपोरेट क्षेत्र, निर्यात, ई-कॉमर्स, ग्रामीण विकास, भूमि एवं श्रम सुधार और काले धन पर नियंत्रण से लेकर रोजगार को बढ़ावा देने के लिए कई प्रभावी और कठोर कदम उठाते हुए दिखाई देगी।

पिछली सरकार के अधूरे एजेंडे को पूरा करने के लिए मोदी-2 सरकार के सामने वैश्विक सुस्ती, कच्चे तेल में तेजी और अमेरिका द्वारा भारतीय उत्पादों पर आयात शुल्क बढ़ाने की चेतावनी जैसी चुनौतियां मुंह बाए खड़ी हैं। वर्ष 2020 में भारत की विकास दर 7.5 फीसदी से घटकर सात फीसदी रह जाने का अनुमान है। ऐसे में बुनियादी ढांचे पर खर्च बढ़ाना होगा, कृषि पर ध्यान देना होगा, वैश्विक कारोबार में वृद्धि करनी होगी, उदार टैक्स कानून बनाना होगा, ज्यादा प्रत्यक्ष विदेशी निवेश सुनिश्चित करना होगा, निर्यात में सुधार और विनिर्माण को आगे बढ़ाने की रणनीति बनानी होगी, भूमि एवं श्रम सुधार और डिजिटलीकरण को आगे बढ़ाना होगा, ग्रामीण विकास, सड़क निर्माण, बुनियादी ढांचा विकास, आवास एवं स्मार्ट सिटी जैसी परियोजनाओं को गतिशील करना होगा।

ब्लूमबर्ग का 2020 के लिए विकास संबंधी अध्ययन आर्थिक विकास में गिरावट का संकेत दे रहा है। ऐसे में ऋण बाजार के दबाव को दूर करना सरकार और रिजर्व बैंक के एजेंडे में होना चाहिए। रिजर्व बैंक द्वारा ब्याज दरों में कटौती कर अर्थव्यवस्था में नकदी का प्रवाह बढ़ाने की जरूरत है। रोजगार भी नई सरकार के लिए निश्चित रूप से एक चुनौती होगा।

मनरेगा के अलावा स्वरोजगार और उद्यमिता के लिए मुद्रा योजना को और गतिशील करना होगा और कौशल प्रशिक्षण को ऊंचाइयां देनी होंगी। कृषि कल्याण के लिए नए कदम उठाने होंगे। निजी क्षेत्र को कृषि के साथ जोड़ने के साथ खाद्य प्रसंस्करण का दायरा बढ़ाना होगा और पेट्रो उत्पादों को जीएसटी के दायरे में लाना होगा।

कच्चे तेल की बढ़ती कीमतें भी सरकार के लिए चुनौती है। ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंध कड़ा किए जाने से वैश्विक तेल बाजार का संतुलन गड़बड़ा गया है और कीमतें सात महीने के ऊंचे स्तर पर पहुंच गई हैं। ऐसे में, सरकार को बाजार और नए विकल्प तलाशने होंगे। अमेरिका और चीन के बीच गहराते ट्रेड वार के बीच अमेरिका द्वारा भारत पर भी आयात शुल्क बढ़ाए जाने की आशंका है। भारत से सबसे अधिक निर्यात अमेरिका को होता है, अतः प्रधानमंत्री द्वारा अमेरिकी राष्ट्रपति के साथ अपने अच्छे संबंधों का उपयोग करते हुए एक अच्छा समाधान निकाला जाना चाहिए।

उम्मीद करनी चाहिए कि इस ऐतिहासिक जनादेश से चुनी गई नरेंद्र मोदी की सरकार नई आर्थिक चुनौतियों का रणनीतिपूर्वक मुकाबला कर देश को विकास और खुशहाली की डगर पर आगे बढ़ाने में कामयाब होगी।

Recommended

करियर के लिए सही शिक्षण संस्थान का चयन है एक चुनौती, सच और दावों की पड़ताल करना जरूरी
Dolphin PG Dehradun

करियर के लिए सही शिक्षण संस्थान का चयन है एक चुनौती, सच और दावों की पड़ताल करना जरूरी

तुरंत पायें अपनी सभी धन, प्यार, नौकरी, व्यापार आदि समस्याओं का समाधान सिर्फ 99 /-  में
Astrology

तुरंत पायें अपनी सभी धन, प्यार, नौकरी, व्यापार आदि समस्याओं का समाधान सिर्फ 99 /- में

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Opinion

अमेरिका के साथ रिश्ते का पेच

ट्रंप प्रशासन की धमकी इस बात का संकेत है कि अमेरिका नई दिल्ली में भारत और अमेरिका के बीच होने वाली आधिकारिक स्तर की बातचीत से पहले भारत पर दबाव बनाना चाह रहा है।

16 जुलाई 2019

विज्ञापन

विंक गर्ल ने खोले श्रीदेवी बंगलो के राज, अमर उजाला के कैमरे से देखिए इस फिल्म की शूटिंग

विंक गर्ल ने खोले श्रीदेवी बंगलो के राज। अमर उजाला के कैमरे से देखिए इस फिल्म की शूटिंग।

16 जुलाई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree