विज्ञापन
विज्ञापन

सबको चांद चाहिए : इसी साल एक रोबोटिक लैंडर चंद्र अभियान पर निकला था, लेकिन वह दुर्घटनाग्रस्त हो गया

केनेथ चैंग Updated Mon, 15 Jul 2019 03:25 AM IST
चांद की होड़
चांद की होड़ - फोटो : a
ख़बर सुनें
ऐसा लगता है कि आज हर कोई चांद पर पहुंचना चाहता है। विगत जनवरी में एक चीनी रोबोटिक अंतरिक्ष यान चेंज-4  ने एक छोटे रोवर के साथ चांद के सुदूर किनारे पर उतरकर इतिहास रचा। भारत ने आज से अपना महत्वाकांक्षी चंद्र अभियान चंद्रयान-2 की शुरुआत की है। इस्राइल से भी इसी साल एक छोटा रोबोटिक लैंडर चंद्र अभियान पर निकला था, लेकिन वह दुर्घटनाग्रस्त हो गया।
विज्ञापन
आने वाले दशकों में इन और दूसरे देशों के भी पर्यटक चांद की सतह पर कदम रख सकते हैं। चीन हालांकि इस मामले में थोड़ा सुस्त रुख अपना रहा है, लेकिन अगले पच्चीस साल में अपने अंतरिक्ष यात्रियों को वहां उतार सकता है। यूरोपियन स्पेस एजेंसी ने 2050 तक चांद पर 'मून विलेज' शुरू करने की योजना बनाई है। रूस ने भी 2030 तक चांद पर अंतरिक्ष यात्रियों को भेजने का लक्ष्य रखा है, हालांकि बहुतों को संदेह है कि इसकी लागत को देखते हुए रूस अपने इस अभियान से हाथ भी खींच सकता है।

1968  से 1972  तक चांद की तरफ 24 अंतरिक्ष यात्रियों को भेजने वाले अमेरिका की प्राथमिकता इस मामले में कांग्रेस और उसके राष्ट्रपतियों की मर्जी पर निर्भर करती है। लेकिन विगत फरवरी में उप-राष्ट्रपति माइक पेन्स की इस घोषणा से, कि अमेरिकी 2024 में, जो उसके प्रारंभिक लक्ष्य से चार साल पहले है, चांद पर होंगे, पता चलता है कि चांद किस तरह अब नासा की प्राथमिकता में है। ट्रंप द्वारा नासा के नए प्रशासक चुने गए जिम ब्रिडेनस्टाइन कहते हैं, 'चांद के मामले में हमारा अभियान अब बिल्कुल स्पष्ट है।'

चंद्रयान-2 का चांद की सतह पर पहुंचना भारत की तकनीकी प्रगति को रेखांकित करेगा। जबकि चीन इस मामले में वैश्विक ताकत बनना चाहता है। ऐसे ही अमेरिका और नासा के लिए अपने मंगल अभियान में चांद एक महत्वपूर्ण पड़ाव है। चांद के प्रति यह आकर्षण सिर्फ राष्ट्रों तक सीमित नहीं है।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन

Recommended

बायोमेडिकल एवं लाइफ साइंस में लेना है एडमिशन, ये है सबसे नामी संस्था
Dolphin PG

बायोमेडिकल एवं लाइफ साइंस में लेना है एडमिशन, ये है सबसे नामी संस्था

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को
Astrology Services

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Opinion

अब मुद्दा सिर्फ पाक अधिकृत कश्मीर : पाकिस्तान, चीन की कठपुतली बन गया है

भारत के कदम से पाकिस्तान की नींद हराम हो गई है, क्योंकि कश्मीर अब कोई मुद्दा ही नहीं रहा। अब केवल एक मुद्दा बाकी है कि पाक अधिकृत कश्मीर को पाकिस्तान के कब्जे से कैसे वापस लाया जाए। इस मामले में हमारी सरकार भी कड़े तेवर दिखा रही है।

20 अगस्त 2019

विज्ञापन

रातभर लॉकअप में कटी पूर्व वित्त मंत्री की रात, डिनर करने से भी चिदंबरम ने किया इंकार

पी चिदंबरम को गिरफ्तार करके रात भर सीबीआई ने लॉकअप में रखा। इस दौरान पूर्व वित्त मंत्री को खाना ऑफर किया गया लेकिन उन्होंने इंकार कर दिया। देखिए रातभर लॉकअप में कैसे रहे पी चिदंबरम।

22 अगस्त 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree