लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Columns ›   Opinion ›   Departure of last Viceroy: story of Kashmir entangled in India And Pakistan partition and British interests

अंतिम वायसराय का प्रस्थान : भारत-पाकिस्तान विभाजन और ब्रिटिश हितों की वजह से यूं उलझती गई कश्मीर की कहानी

r vikram singh आर विक्रम सिंह
Updated Sun, 19 Jun 2022 12:06 PM IST

सार

लगता है कि माउंटबेटन का भारत में रुकना कश्मीर विभाजन के एक एजेंडे के तहत था। माउंटबेटन न रहे होते, तो देश में ब्रिटिश सेनाध्यक्ष के स्थान पर जनरल करियप्पा या जनरल नाथू सिंह होते और पाकिस्तान के कश्मीर ख्वाब का अंत हो जाता।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00