विज्ञापन
विज्ञापन

उल्टी पड़ी पाकिस्तान की रणनीति : पाक पर लगातार दबाव बनाए रखना ही भारत के हित में

मारूफ रजा Updated Fri, 19 Jul 2019 03:33 AM IST
आईसीजे
आईसीजे - फोटो : a
ख़बर सुनें
नीदरलैंड्स के द हेग स्थित अंतरराष्ट्रीय न्याय अदालत (आईसीजे) ने पाकिस्तान की जेल में बंद कुलभूषण जाधव के मामले में जो फैसला सुनाया है, वह भारत के हक में है और इसे भारत की एक बड़ी जीत माना जा सकता है। आईसीजे ने फिलहाल जाधव की फांसी पर रोक लगा दी है और पाकिस्तान को निर्देश दिया है कि वह फांसी की सजा पर पुनर्विचार करे। भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने जासूसी और आतंकवाद फैलाने के आरोप में 2017 में फांसी की सजा सुनाई थी।
विज्ञापन
पाकिस्तानी सैन्य अदालत के फैसले के खिलाफ भारत ने आईसीजे का दरवाजा खटखटाया था। भारत को जब यह बात समझ में आ गई कि इस मसले को लेकर पाकिस्तान भारत के खिलाफ दुष्प्रचार फैलाएगा कि भारत कुलभूषण जाधव के जरिये बलूचिस्तान में आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा था, तब उसने आईसीजे में जाने का फैसला किया। हालांकि भारत का रुख कूटनीतिक और वैधानिक तौर पर पहले से ही सही था और यही साबित करने भारत आईसीजे में गया था। सोलह में से पंद्रह जजों ने भारत के पक्ष में फैसला दिया।

वियना संधि में यह निर्देश दिया गया है कि अगर किसी भी दूसरे देश के नागरिक को कोई देश पकड़ेगा, तो उसे उसके देश के राजनयिकों से मिलने की इजाजत देनी पड़ेगी और उसे अपने बचाव के लिए हर तरह की सुविधा देनी होगी। यह बात तो पाकिस्तान भी मंजूर कर चुका है कि कुलभूषण जाधव का पासपोर्ट भारत का था। तो सवाल उठता है कि उसने कुलभूषण को भारतीय राजनयिक से मिलने क्यों नहीं दिया।

इसी मसले पर भारत ने पाकिस्तान पर यह आरोप लगाया था कि वह इस मामले में न केवल वियना समझौते का उल्लंघन कर रहा है, बल्कि मानवाधिकार का भी उल्लंघन कर रहा है। अंतरराष्ट्रीय न्याय अदालत ने अपने फैसले में भारत के इस आरोप को सही ठहराते हुए पाकिस्तान से जाधव को न केवल राजनयिक पहुंच देने को कहा है, बल्कि यह भी स्पष्ट कर दिया कि पाकिस्तान ने इस मामले में वियना संधि का उल्लंघन किया है। पाकिस्तान ने अब तक कुलभूषण जाधव को राजनयिक पहुंच की सुविधा नहीं दी थी।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन

Recommended

बायोमेडिकल एवं लाइफ साइंस में लेना है एडमिशन, ये है सबसे नामी संस्था
Dolphin PG

बायोमेडिकल एवं लाइफ साइंस में लेना है एडमिशन, ये है सबसे नामी संस्था

मनचाहा जीवनसाथी  पाने के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा - 24 अगस्त 2019
Astrology Services

मनचाहा जीवनसाथी पाने के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा - 24 अगस्त 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Opinion

अब मुद्दा सिर्फ पाक अधिकृत कश्मीर : पाकिस्तान, चीन की कठपुतली बन गया है

भारत के कदम से पाकिस्तान की नींद हराम हो गई है, क्योंकि कश्मीर अब कोई मुद्दा ही नहीं रहा। अब केवल एक मुद्दा बाकी है कि पाक अधिकृत कश्मीर को पाकिस्तान के कब्जे से कैसे वापस लाया जाए। इस मामले में हमारी सरकार भी कड़े तेवर दिखा रही है।

20 अगस्त 2019

विज्ञापन

राजकीय सम्मान के साथ हुई खय्याम साहब की अंतिम यात्रा

राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता खय्याम सोमवार रात इस दुनिया से विदा हो गए।मंगलवार शाम उन्हें पूर्ण राजकीय सम्मान के साथ सुपुर्द-ए-खाक किया गया।

21 अगस्त 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree