विज्ञापन
विज्ञापन

भगवद् चिंतन और राष्ट्र भक्ति

Yashwant Vyas Updated Fri, 31 Aug 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
दैनिक जीवन में कभी-कभी साधारण प्रसंग भी हमें इतना चमत्कृत कर जाता है कि हम खुद-ब-खुद ईश्वर भक्ति की ओर उन्मुख हो जाते हैं। ऐसी ही घटना एक बार स्वामी रामतीर्थ के साथ हुई। वह पानी के जहाज से जापान जा रहे थे। उनके साथ एक वृद्ध अमेरिकी भी यात्रा कर रहे थे। स्वामी जी का उससे घनिष्ठ परिचय हो गया। स्वामी जी ने देखा कि वह घंटों तक रूसी भाषा सीखने का अभ्यास करते रहते हैं। स्वामी जी ने पूछा, आप भूगर्भ शास्त्र के प्रोफेसर रहे हैं, सत्तर वर्ष की आयु हो चुकी है। आप ग्यारह भाषाओं के ज्ञाता हैं। अब आपके जीवन का सांध्यकाल है। भगवद् चिंतन करने की जगह बारहवीं भाषा सीखकर समय व्यर्थ क्यों कर रहे हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
उस अमेरिकी ने उत्तर दिया, स्वामी जी, हाल ही में रूसी भाषा में भूगर्भ शास्त्र का एक अत्यंत महत्वपूर्ण ग्रंथ प्रकाशित हुआ है। मेरी अभिलाषा है कि उसका अंगरेजी भाषा में अनुवाद कर उसे अपने देश के छात्रों को उपलब्ध कराऊं। इस ज्ञान से मेरे राष्ट्र को भी लाभ पहुंचेगा। इसलिए रूसी भाषा सीख रहा हूं।

कुछ क्षण रुककर उसने फिर कहा, स्वामी जी, जहां तक भगवद् चिंतन और उपासना का प्रश्न है, मैंने गीता से यह प्रेरणा ली है कि ज्ञान की साधना तथा राष्ट्र का हित चिंतन भगवान की उपासना का ही एक रूप है। मैं इसी साधना को भगवान की उपासना मानता हूं। स्वामी रामतीर्थ उस वृद्ध के मुख से भगवान की उपासना की अनूठी व्याख्या सुनकर गद्गद हो उठे।

Recommended

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
UP Board 2019

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

क्या आप जीवन में किसी चिंता से परेशान है? ज्योतिष शास्त्र द्वारा अपने प्रश्न का उत्तर जानिए
ज्योतिष समाधान

क्या आप जीवन में किसी चिंता से परेशान है? ज्योतिष शास्त्र द्वारा अपने प्रश्न का उत्तर जानिए

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Opinion

नौकरशाही का बदलता चेहरा

विभिन्न क्षेत्रों के नौ विशेषज्ञ पेशोवरों को लैटरल इंट्री के जरिये केंद्र सरकार के विभिन्न मंत्रालयों में संयुक्त सचिव के पदों पर सीधी नियुक्ति दी गई है। इनका कार्यकाल तीन साल का होगा और अच्छा प्रदर्शन होने पर इसे पांच साल तक किया जा सकेगा।

22 अप्रैल 2019

विज्ञापन

VIDEO : रिसर्चः मोटी पत्नी वाले मर्द रहते हैं ज्यादा खुश

नेशनल ऑटोनॉमस यूनिवर्सिटी ऑफ मैक्सिकों में एक स्टडी की गई है, जिसके बाद ये बात सामने आई है कि वजनी लड़कियों के साथ शादी या प्रेम में पड़े पुरुष ज्यादा खुश रहते हैं। 

23 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election