विज्ञापन

विरक्त की असली परिभाषा

Yashwant Vyas Updated Tue, 17 Jul 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
एक राजा की एक महात्मा पर बहुत श्रद्धा थी। उन्होंने महात्मा के रहने के लिए अपने महल के समान एक बहुत बड़ा भवन बनवा दिया। अपने उद्यान जैसा उद्यान बनवा दिया। हाथी, घोड़े, रथ दे दिए। अपने समान ही सुख-सुविधाएं उस महात्मा के लिए जुटा दीं।
विज्ञापन
विज्ञापन
राजा महात्मा से काफी घुल-मिल गया था। एक दिन मजाक में उसने महात्मा से पूछा, हम दोनों के पास ही एक समान सुख-सुविधाओं की वस्तुएं हैं। अब आपमें और मुझमें क्या अंतर रहा? महात्मा समझ गए कि राजा बाह्य जीवन को ही महत्व दे रहा है। वह बोले, राजन, समय आने पर आपको इसका उत्तर मिल जाएगा।

एक दिन राजा जब महात्मा के पास गए, तो उन्होंने राजा से सैर करने वन चलने को कहा। जब दोनों काफी आगे पहुंच गए, तो महात्मा ने राजा से कहा, राजन, मेरी इच्छा इस नगर में लौटने की नहीं है। सुख-वैभव तो हम बहुत भोग चुके, अब हम दोनों यहीं वन में रहकर ईश्वर का भजन करेंगे। यह सुनकर राजा तुरंत बोला, भगवन, मेरा राज्य है, पत्नी है, बाल-बच्चे हैं, मैं वन में नहीं रह सकता।

महात्मा जी हंसकर बोले, राजन, मुझमें और आपमें यही अंतर है। बाहर से एक जैसा व्यवहार होते हुए भी असली अंतर मन की आसक्ति का होता है। भोगों में जो आसक्त है, वह वन में रहकर भी संसारी है। जो भोगों में आसक्त नहीं है, वह घर में रहकर भी विरक्त है। राजा महात्मा के चरणों में नतमस्तक हो गया।

Recommended

क्या कारोबार में लगाया हुआ धन फंस जाता है ? करें उपाय
ज्योतिष समाधान

क्या कारोबार में लगाया हुआ धन फंस जाता है ? करें उपाय

जानें क्यों कायम है आपकी नौकरी पर संकट?
ज्योतिष समाधान

जानें क्यों कायम है आपकी नौकरी पर संकट?

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Opinion

हमने धारणाओं को बदला

पिछले दो साल में उत्तर प्रदेश सरकार ने सुशासन की जो सुदृढ़ नींव रखी है, उससे प्रदेश के बारे में लोगों की धारणा बदली है। आज संगठित अपराध पर पूरी तरह रोक लगी है और कानून का राज है।

18 मार्च 2019

विज्ञापन

यूपी में लाखों लोगों को रोजगार देगी महिंद्रा फाइनेंस, देखिए कंपनी के एमडी रमेश अय्यर का इंटरव्यू

ग्रामीण क्षेत्र में देश की सबसे बड़ी गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनी महिंद्रा फाइनेंस उत्तर भारत में अपनी मौजूदगी को बढ़ाने जा रही है। कंपनी का अगले तीन सालों में केवल उत्तर प्रदेश में 200 नई शाखाएं खोलने की योजना है।

18 मार्च 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree