विज्ञापन

बलि से प्रसन्न नहीं होतीं देवी

Yashwant Vyas Updated Sun, 15 Jul 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
संत गाडगे बाबा का जन्म महाराष्ट्र के एक धोबी परिवार में हुआ था। सामाजिक भेदभाव और ऊंच-नीच की भावना के उन्मूलन के लिए जहां उन्होंने रचनात्मक अभियान चलाया, वहीं धर्म के नाम पर निरीह पशुओं की बलि की भी उन्होंने घोर निंदा की।
विज्ञापन
विज्ञापन
गाडगे महाराज ने झाड़ू पंथ की स्थापना की। वह गरीब बस्तियों में जाते और वहां के घरों में अपने हाथों से झाड़ू लगाकर उन्हें स्वच्छ रहने की प्रेरणा देते। वह जीर्ण-शीर्ण पड़े मंदिरों की सफाई कर देवस्थानों की पावनता का संदेश देते और लोगों को शराब छोड़ने का संकल्प कराते।

एक दिन बाबा अपने शिष्यों सहित एक ऐसे देवी मंदिर में जा पहुंचे, जहां देवी की प्रतिमा के समक्ष बकरे की बलि दी जा रही थी। गाडगे बाबा ने देखा कि एक व्यक्ति बकरे को खींचकर बलि स्थल पर ला रहा है और असहाय बकरा 'मां-मां' कर रो रहा है। बाबा ने उस व्यक्ति को ललकारा, यह पाप कर्म क्यों कर रहे हो? इस निरपराध पशु की हत्या से देवी भला कैसे खुश हो सकती है?

जब वह अंधविश्वासी मानने को तैयार नहीं हुआ, तो गाडगे बाबा बलि स्थल पर खड़े हो गए और बोले, भइया, मेरा सिर उतार लो, बाद में बेजुबान पशु की हत्या करना। देवी मां किसी का जीवन लेने से नहीं, किसी के प्राणों की रक्षा करने से प्रसन्न होती है। ये शब्द सुनते ही उस अंधविश्वासी की आंखें खुल गईं। उसने भविष्य में पशु बलि न देने का संकल्प ले लिया।

Recommended

क्या कारोबार में लगाया हुआ धन फंस जाता है ? करें उपाय
ज्योतिष समाधान

क्या कारोबार में लगाया हुआ धन फंस जाता है ? करें उपाय

जानें क्यों कायम है आपकी नौकरी पर संकट?
ज्योतिष समाधान

जानें क्यों कायम है आपकी नौकरी पर संकट?

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Opinion

हमने धारणाओं को बदला

पिछले दो साल में उत्तर प्रदेश सरकार ने सुशासन की जो सुदृढ़ नींव रखी है, उससे प्रदेश के बारे में लोगों की धारणा बदली है। आज संगठित अपराध पर पूरी तरह रोक लगी है और कानून का राज है।

18 मार्च 2019

विज्ञापन

आपकी इन गलतियों से फट सकता है स्मार्टफोन

अक्सर स्मार्टफोन फटने या बैटरी फटने की खबर सामने आ ही जाती है। कई लोगों का फोन पर बात करते- करते या फिर चार्ज करते-करते ही फट जाता है। हमारी जरा सी लापरवाही, हमारी जान मुश्किल में डाल सकती है।

18 मार्च 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree