विज्ञापन

यम से आत्मज्ञान की प्राप्ति

Yashwant Vyas Updated Fri, 25 May 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
कठोपनिषद् की एक कथा है। ऋषि उद्दालक ने अपने पुत्र नचिकेता से किसी बात पर चिढ़कर उसे यमराज को सौंप दिया। यम ऋषि पुत्र का यथोचित सत्कार नहीं कर पाए। उन्हें तीन रात उपवास में बितानी पड़ी। यम को लगा कि इस अपराध की क्षमा के लिए नचिकेता को वर देकर प्रसन्न किया जाना आवश्यक है।
विज्ञापन
विज्ञापन
दो साधारण वर मांगने के बाद नचिकेता ने कहा, मैं आपसे आत्म तत्व का ज्ञान प्राप्त करना चाहता हूं। यम ने तो पहले इसे टालने की कोशिश की, पर जब नचिकेता नहीं माने, तो यम ने कहा, आत्मा चेतन है। यह न जन्म लेता है, न मरता है। न कोई दूसरा इससे उत्पन्न हुआ है। यह अजन्मा है, नित्य है, शाश्वत है और शरीर के नष्ट होने पर भी बना रहता है। यह सूक्ष्म से भी सूक्ष्म और महान से भी महान है। यह कण-कण में व्याप्त है। सारा सृष्टिक्रम उसी के आदेश पर चलता है। जो व्यक्ति काल के आगोश में जाने से पूर्व इसे जान लेता है, वह बंधनों से मुक्त हो जाता है। शोक आदि क्लेशों को पार कर वह परमानंद पाता है।

यम नचिकेता को उपदेश में कहते हैं, वह न शास्त्रों के प्रवचन से पाया जा सकता है, न ज्ञान द्वारा प्राप्त किया जा सकता है। यह उसी को प्राप्त होता है, जिसकी वासनाएं शांत हो चुकी हों, जिसका अंतःकरण मलिनता से मुक्त हो चुका हो और जो आत्मज्ञान पाने को व्याकुल हो। यम के उपदेश ने नचिकेता के आत्मज्ञान को अभिभूत कर दिया और वह खुशी-खुशी पिता के आश्रम में लौट आए।

Recommended

कब होंगे सपने पूरे और कब किस्मत को लेकर रहेगा मलाल, सितारे बताएंगे पूरे साल का हाल, जानें वार्षिक राशिफल जाने-माने ज्योतिषी से
ज्योतिष समाधान

कब होंगे सपने पूरे और कब किस्मत को लेकर रहेगा मलाल, सितारे बताएंगे पूरे साल का हाल, जानें वार्षिक राशिफल जाने-माने ज्योतिषी से

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Opinion

बहुत दिनों बाद होता है कोई नामवर पैदा

नामवर सिंह का देहांत हिंदी साहित्य के एक युग का अंत है। वह हिंदी साहित्य के प्रतिनिधि व्यक्तित्व थे। उन्होंने अपने लेखन, अध्यापन और भाषणों से लेखकों और पाठकों की पीढ़ियां तैयार कीं।

20 फरवरी 2019

विज्ञापन

पुलवामा हमले के बाद गृह मंत्रालय का बड़ा फैसला समेत 5 बड़ी खबरें

पुलवामा हमले के बाद गृह मंत्रालय का पैरा मिलिट्री और एनएसजी जवानों को लेकर बड़ा फैसला समेत 5 बड़ी खबरें

21 फरवरी 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree