अपाचे हेलीकॉप्टर

Vinit Narain Updated Thu, 23 Aug 2012 12:00 PM IST
हमारा देश अमेरिका के साथ रक्षा समझौता कर बोइंग एएच-64 डी अपाचे लांगबो हेलीकॉप्टर खरीदने की तैयारी कर रहा है। हालांकि लड़ाकू हेलीकॉप्टर खरीदने की इस दौड़ में रूस का एमआई-28 एन नाइट हंटर नामक हेलीकॉप्टर भी था, पर अफगानिस्तान मिशन में अपाचे के प्रदर्शन को भारतीय विशेषज्ञों ने तरजीह दी।
अपाचे जैसे दो इंजन वाले उन्नत लड़ाकू हेलीकॉप्टर बनाने का खयाल 1970 के दशक में आया, जब अमेरिकी फौज को एएच-1 कोबरा से ज्यादा मारक हेलीकॉप्टर की जरूरत महसूस हुई। इसी क्रम में जुलाई, 1973 में अमेरिकी रक्षा विभाग ने बेल और ह्यूजेस नामक दो कंपनी को अपने-अपने ढंग से ऐसे हेलीकॉप्टर का मॉडल बनाने का जिम्मा सौंपा। 30 सितंबर, 1975 को ह्यूजेस के हेलीकॉप्टर ने उड़ान भरी, तो एक अक्तूबर को बेल भी अपना हेलीकॉप्टर लेकर तैयार हो गया। दोनों हेलीकॉप्टरों की जांच के बाद ह्यूजेस को हरी झंडी मिली।

अपाचे का वास्तविक सफर अप्रैल, 1983 में शुरू हुआ, जब इसका उत्पादन शुरू हुआ। वैसे तो ह्यूजेस को 1984 में मैकडोनेल डगलस ने खरीद लिया, पर अगस्त, 1997 में मैकडोनेल का विलय बोइंग में हो जाने से अब अपाचे की उत्पादन कंपनी बोइंग हो गई है।

अमेरिकी फौज में अपाचे का प्रवेश जनवरी, 1984 में हुआ। इसकी ताकत का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि इसके पांच से अधिक किस्म विकसित किए जा चुके हैं, और इस्राइल, मिस्र, नीदरलैंड जैसे देश भी इसका इस्तेमाल कर रहे हैं। भारत जिस एएच-64 डी अपाचे की खरीदारी कर रहा है, वह रात में भी दुश्मनों की टोह लेने, हवा से जमीन पर मार करने वाले रॉकेट दागने और मिसाइल आदि ढोने में सक्षम है।

Spotlight

Most Read

Opinion

कोयला खानें उगल सकती हैं सोना

खनन क्षेत्र का जीडीपी में बड़ा योगदान रहा है और यह सबसे ज्यादा रोजगार देने वाले क्षेत्रों में से है। अब कितनी सरकारी खदानों का निजीकरण हो पाता है और कितने उत्पादक ब्लॉक प्राइवेट कंपनियों को मिल पाते हैं, इन पर ही आगे का रास्ता तय होगा।

23 फरवरी 2018

Related Videos

शाम तक की सारी खबरों का राउंड अप 23 फरवरी 2018

‘यूपी न्यूज’ बुलेटिन में देखिए उत्तर प्रदेश के हर गांव हर शहर की छोटी-बड़ी खबरें रोजाना सुबह 9 और शाम 7 बजे सिर्फ अमर उजाला टीवी पर। अमर उजाला टीवी पेज पर एक क्लिक पर जानिए यूपी की ताजा-तरीन खबरें और दें अपनी राय, सुझाव और कमेंट्स।

23 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen