अंतरिक्ष में महिलाएं

Vinit Narain Updated Sun, 17 Jun 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
अंतरिक्ष जाने वाली महिलाओं की सूची में अब लियु यांग का नाम भी जुड़ गया है। यांग ऐसा कारनामा करने वाली चीन की पहली महिला बन गई हैं। हालांकि अंतरिक्ष की असीमित दुनिया की तरफ महिलाओं का यह आकर्षण नया नहीं है। जब से मानव ने अंतरिक्ष को जानने-समझने का प्रयास तेज किया है, महिलाएं भी इसमें बढ़-चढ़कर शामिल हुई हैं।
बानगी देखिए कि 12 अप्रैल, 1961 को रूसी अंतरिक्ष यात्री यूरी गागरीन अंतरिक्ष जाने वाले प्रथम व्यक्ति बने, तो इसके ठीक दो वर्ष बाद 16 जून, 1963 को रूस की ही वेलेंटिना तेरेशकोवा भी ऐसा करने में कामयाब हुई। नासा की मानें, तो अब तक 525 यात्री अंतरिक्ष की यात्रा कर चुके हैं, जिसमें विगत अप्रैल तक विभिन्न देशों की 54 महिलाएं भी बतौर अंतरिक्ष यात्री अथवा पेलोड विशेषज्ञ इसमें शामिल हुईं।

तेरेशकोवा ने जब अंतरिक्ष की उड़ान भरी थी, तो अंतरिक्ष की खोज अपने शैशवावस्था में था। लिहाजा करीब बीस वर्षों तक इस क्षेत्र में महिलाओं की मौजूदगी नगण्य रही। 1980 के दशक के बाद महिलाएं इस दिशा में सक्रिय हुईं, और रूस की ही बाला स्वेतलाना सवित्सकाया अंतरिक्ष पहुंची। वह न सिर्फ दूसरी महिला अंतरिक्षयात्री थीं, बल्कि अंतरिक्ष में चहलकदमी करने वाली पहली महिला भी बनीं।

इस क्षेत्र में अमेरिकी महिलाओं का आगमन सैली राइड के साथ हुआ, जो 1983 और 1984 में अंतरिक्ष गईं। भारतीय मूल की कल्पना चावला और सुनीता विलियम्स दो ऐसे नाम हैं, जिन्होंने इस क्षेत्र में शोहरत हासिल की। हालांकि फरवरी, 2003 में पृथ्वी पर वापस लौटने के दौरान हुए हादसे (कोलंबिया हादसे) में अमेरिकी अंतरिक्षयात्री कल्पना की दुखद मौत हो गई।

Recommended

Spotlight

Most Read

Opinion

पाकिस्तान में नई शुरुआत

इमरान खान को याद रखना चाहिए कि इन दिनों भले उन्हें सेना का समर्थन मिल रहा है, लेकिन अगर उन्होंने अपनी जूती से पैर बाहर निकाले, तो उनके लिए भी नवाज शरीफ की तरह बख्तरबंद गाड़ी का इंतजाम किया जा सकता है।

17 अगस्त 2018

Related Videos

VIDEO: तीसरे टेस्ट मैच से पहले विराट ने बल्लेबाजों को दी चेतावनी!

शनिवार से भारत इंग्लैंड के बीच नॉटिंघम में तीसरा टेस्ट मैच खेला जाना है। तीसरे टेस्ट मैच से ठीक पहले विराट कोहली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और बल्लेबाजों को एक तरह से अच्छा प्रदर्शन करने की चेतावनी दी।

17 अगस्त 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree