विज्ञापन

आवारा

Vinit Narain Updated Tue, 29 May 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
निर्देशक संजय लीला भंसाली की 2002 में आई फिल्म देवदास को सहस्त्राब्दी की 10 महान फिल्मों में शामिल करने के बाद अब टाइम पत्रिका ने 1951 में बनी राज कपूर की क्लासिक फिल्म आवारा को 100 सर्वकालिक फिल्मों में शुमार किया है। फिल्म में राज कपूर की रुमानियत और नरगिस की खूबसूरती का बखूबी चित्रण तो किया ही गया था, आजादी के कुछ वर्षों बाद आई इस फिल्म में उस दौर के नेहरूवादी समाजवाद की झलक भी नजर आई थी। यही वजह है कि इसे भारत के साथ ही रूस, पूर्वी एशिया, अफ्रीका, दक्षिण एशिया और पश्चिम एशिया के साथ ही चीन तक में काफी पसंद किया गया। रूस और चीन में तो इस फिल्म के गाने खासे मशहूर हुए थे।
विज्ञापन
विज्ञापन
आवारा का निर्माण और निर्देशन खुद राज कपूर ने ही किया था, वह भी महज 26 वर्ष की उम्र में। दिलचस्प यह भी है कि इस फिल्म में कपूर खानदान की चार पीढ़ियां एक साथ दिखी थीं। इसमें राज कपूर तो थे ही, उनके पिता पृथ्वीराज कपूर ने जज रघुनाथ की भूमिका निभाई, तो राज कपूर का बचपन उनके छोटे भाई शशि कपूर पर फिल्माया गया। राज कपूर के दादा दीवान बशेशरनाथ कपूर और राज कपूर के बेटे रणधीर ने भी इसमें अदाकारी की। हालांकि इस फिल्म के हिट होने की एक बड़ी वजह इसका कर्णप्रिय संगीत है, जिसे शंकर-जयकिशन ने तैयार किया था।

वर्ष 1953 में आवारा को कान्स फिल्म समारोह में भी दिखाया गया, जहां उसे गोल्डन पाम के लिए नामित किया गया। आवारा के प्रति दीवानगी ही है कि 1964 में इसे तुर्की भाषा में भी बनाया गया, जिसमें सादरी और अजदा पैकान जैसे तुर्की के मशहूर कलाकारों ने काम किया।

Recommended

कुंभ मेले में अतुल धन, वैभव, समृधि प्राप्ति हेतु विशेष पूजा करवायें और प्रसाद की होम डिलीवरी पायें
त्रिवेणी संगम पूजा

कुंभ मेले में अतुल धन, वैभव, समृधि प्राप्ति हेतु विशेष पूजा करवायें और प्रसाद की होम डिलीवरी पायें

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Opinion

क्रिकेट की धारणा बदलते धोनी

हमें यह मान लेना चाहिए कि वह अब पहले वाले धोनी नहीं हैं, जो कि किसी भी गेंदबाज पर छक्का जमा देता था। पर वह अब भी विकेट पर टिकने का माद्दा रखते हैं, इसलिए टीम इंडिया के लिए विश्व कप में बहुत उपयोगी हैं।

23 जनवरी 2019

विज्ञापन

जानिये पूर्वी उत्तर प्रदेश की सीटों का हाल, यहां से बनती और बिगड़ती है सरकारों की किस्मत

पूर्वी उत्तर प्रदेश की सीटें सरकारों की किस्मत बनाने और बिगाड़ने का दम रखती हैं।इस रिपोर्ट के जरिये देखिए कि क्यों प्रियंका गांधी को कांग्रेस ने पूर्वी उत्तर प्रदेश भेजा।

24 जनवरी 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree