विज्ञापन
विज्ञापन

प्राग डायरीः सदियों से सैलानियों के दिलों को जोड़ता चार्ल्स ब्रिज

Dayashankar shuklaदयाशंकर शुक्ल सागर Updated Sat, 21 Sep 2019 12:11 PM IST
वॉलदावा नदी 430 किलोमीटर लंबी है। इस नदी पर बने पुल को चार्ल्स ब्रिज के नाम से जाना जाता है।
वॉलदावा नदी 430 किलोमीटर लंबी है। इस नदी पर बने पुल को चार्ल्स ब्रिज के नाम से जाना जाता है। - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें
प्राग के पुराने शहर की गलियों से टहलते हुए आप सीधे चार्ल्स ब्रिज पर पहुंचेंगे। इस वक्त शाम ढल रही है और मैं पत्थरों से बने भव्य चार्ल्स ब्रिज पर हूं और इस बात को मैं पूरे यकीन से इसे दुनिया का सबसे सुंदर ब्रिज कह सकता हूं।
विज्ञापन
दरअसल, गैथिक शैली के बने इस ब्रिज की लोकेशन जबरदस्त है इससे जुड़ी कहानियां और भी दिलचस्प। रामायण और महाभारत जैसे महाकाव्य परम्परा के हम हिन्दुस्तानियों की कथाओं में खास दिलचस्पी रहती है।

सूर्योदय और सूर्यास्त के समय यहां से शहर का नजारा देखना एक आलौकिक अनुभव है। दिन में प्राग की लाल खपरेल की छतों की खूबसूरत इमारतें, शहर में धीमी चाल से रेंगती दर्जनों लाल ट्रामें, नीली बसें और पैदल चलते रंग-बिरंगे लोग। रात के वक्त पूरा प्राग यहां से रोशनियों में झिलमिला जाता है।

जैसे लगता है आप टिमटिमाते जुगनुओं के किसी शहर में हैं। आप उनमें से किसी एक जुगनु को छू नहीं सकते, क्योंकि छूने से पहले ही वे आगे उड़ जाएंगे और आपके पास उन टिमटिमाती रोशनियों के पीछे भागने के सिवा कोई रास्ता नहीं बचेगा।

कहानी चार्ल्स ब्रिज की 
प्राग, चेक रिपब्लिक की राजधानी है। लेकिन यहां हर जगह, हर इमारत पर आप प्राह् लिखा पाएंगे। प्राग को स्थानीय स्लाविक भाषा में 'प्राह्' कहते हैं। चकोस्लाविया दो अलग-अलग संस्कृतियों, चेक और स्लाविया से मिलकर बना है।

प्राचीन स्लाविक भाषा में 'प्राह्' का मतलब है, तेज बहने वाली नदी। जो ठीक प्राग शहर के बीच में से बहती है और जिसका नाम वॉलदावा है। अंग्रेजी में इसका सही उच्चारण "वीएल दावा" है। चेक के लोग इसे 'वक्दावा' कहते हैं। इस नदी के लिए यही उनका उच्चारण है, इसीलिए इस शहर का नाम प्राग पड़ा।

वॉलदावा नदी 430 किलोमीटर लंबी है। जाहिर है ये इस देश की सबसे लंबी नदी है। शहर में इस नदी पर कई सारे ब्रिज हैं जो नए और पुराने प्राग को जोड़ते हैं। लेकिन इन पुलों में सबसे मशहूर पुल चार्ल्स ब्रिज के नाम से जाना जाता है।

प्राग शहर के ठीक बीच में बना ये पुल बहुत लंबा नहीं है। इसकी कुल लंबाई कोई 514 मीटर है। यानी तेज कदमों से पांच मिनट में आप पुल पार कर लेंगे। यह गोथिक पुल ओल्ड टाउन को लैसर टाउन से जोड़ता है। लैसर टाउन की तरफ किनारे आपको पत्थर का एक नाइट भी खड़ा मिल जाएगा। इस नदी के चौकीदार  के रूप में। और पुल के आखिरी हिस्सों में दोनों तरफ एक टॉवर है। ये दोनों टॉवर इस पुल के सौंदर्य को चार चांद लगाते हैं। खासतौर पर पुराने शहर की तरफ वाला टॉवर।

ये बोरेक शैली में बना एक तरह का मेहराबदार द्वार है। ब्रिज की सड़क पर छोटे-छोटे चौकोर चमकदार पत्थर बिछे हैं, जैसे मुझे पुराने शहर की गलियों में बिछे दिखे थे। रोजाना हजारों हजार सैलानियों के चलते हुए कदमों के कारण घिसकर ये पत्थर और चमकदार हो गए हैं।
 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन

Recommended

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन
Oppo Reno2

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि  व्  सर्वांगीण कल्याण  की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि व् सर्वांगीण कल्याण की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Blog

परिणीति चोपड़ा का ब्लॉगः खुद को चुनौती देते रहना ही विकसित होना है

मेरी दिल की डायरी के तमाम पन्ने ऐसे हैं जिन पर मेरे चाहने वालों का प्यार दर्ज है। हर कलाकार के लिए उसके चाहने वाले ही उसकी सबसे बड़ी नेमत होते हैं।

21 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

NCRB की 2015-17 की रिपोर्ट: दिल्ली फिर बनी अपराध की राजधानी, साइबर क्राइम में यूपी नंबर वन

NCRB की 2015-17 की रिपोर्ट जारी हो गई है। दिल्ली फिर अपराध की राजधानी दिखी है तो वहीं साइबर क्राइम के मामले में यूपी नंबर वन है। इसके साथ ही निर्भया कांड के बाद कानून सख्त होने के बाद भी रेप पीड़िताओं को इंसाफ के लिए लंबा इंतजार करना पड़ रहा है।

21 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree