विज्ञापन
विज्ञापन

कश्मीर से पहले हांगकांग, तिब्बत और पश्चिम चीन में दमन पर जवाब देगा चीन

Sanjiv Pandeyसंजीव पांडेय Updated Wed, 21 Aug 2019 04:43 PM IST
कश्मीर पर बोलने से पहले हांगकांग, तिब्बत और पश्चिम चीन पर क्या कहेगा ड्रैगन
कश्मीर पर बोलने से पहले हांगकांग, तिब्बत और पश्चिम चीन पर क्या कहेगा ड्रैगन - फोटो : PTI
ख़बर सुनें
चीन को जम्मू-कश्मीर की चिंता सता रही है। पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में चीन पाकिस्तान आर्थिक कॉरिडोर के अधीन भारी निवेश के बाद चीन की लालच से भरी चिंता बढ़ेगी, यह एक सच्चाई है। यही कारण है कि चीन भी पाकिस्तान के उन प्रयासों में शामिल हो गया, जिसमें जम्मू-कश्मीर के मसले का अंतराष्ट्रीयकरण की कोशिश हो रही है।
विज्ञापन
ताजा मामला जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे के समाप्त करने के मसले को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में ले जाने का है। चीन के प्रयासों से मामला एक बार संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में पहुंच गया लेकिन चीन और पाकिस्तान को यहां कोई खास समर्थन नहीं मिला। इसके बावजूद चीन और पाकिस्तान इसमें अपनी जीत बता रहे हैं। चीन के आग्रह पर सुरक्षा परिषद की बैठक तो बुला ली गई, लेकिन पाकिस्तान को कुछ हासिल नहीं हो पाया।

पाकिस्तानी अखबारों ने भी माना कि यूएन सुरक्षा परिषद में चीन के सहयोग के बाद भी पाकिस्तान को कुछ खास हासिल नहीं हो पाया, क्योंकि संयुक्त राष्ट्र परिषद की वर्तमान बनावट पाकिस्तान के पक्ष में नहीं है। पांच स्थायी सदस्यों में से सिर्फ चीन ने पाकिस्तान के पक्ष में बात की। दरअसल चीन का पक्ष मे बात करना चीन की मजबूरी है।

पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में जहां चीन पावर प्लांट लगा रहा है, वहीं पश्चिमी चीन से ग्वादर को जोड़ने वाले महत्वपूर्ण रूट पर भी नार्दन एरिया और पाक अधिकृत कश्मीर पड़ता है। चीन लद्दाख को लेकर भी आग बबूला है, लेकिन अहम सवाल यह है कि तिब्बत, पश्चिम चीन और हांगकांग में मानवीय स्वतंत्रता और मूलभूत लोकतांत्रिक मूल्यों का दमन करने वाला चीन किस आधार पर जम्मू-कश्मीर के लोगों के हितों की आवाज उठा रहा है?
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन

Recommended

छात्रोंं के करियर को नई ऊंचाइयां देता ये खास प्रोग्राम
Invertis university

छात्रोंं के करियर को नई ऊंचाइयां देता ये खास प्रोग्राम

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Opinion

हरियाणा में सब कुछ हरा नहीं है, आखिर गुम हो रहे चुनावी मुद्दे

राज्य में प्रति व्यक्ति आय 2,26,644 रुपये सालाना है, जो देश की औसत आय 1,26,466 से एक लाख ज्यादा है। विकास दर 8.7 फीसद है, लेकिन सड़क पर मिले नौजवान हाशिये पर ही हैं। फिर भी यहां भाजपा के सामने कोई चुनौती नजर नहीं आ रही है।

17 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

कांग्रेस अपने परिवार में भारत रत्न समेटना चाहती है: रविशंकर प्रसाद

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा की वीर सावरकर को भारत रत्न मिलना चाहिए। कांग्रेस सिर्फ अपने परिवार में भारत रत्न समेंटना चाहती है।

16 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree