केमिकल फैक्ट्री में धमाका, चार जिंदा जले

Chandigarh Updated Tue, 01 May 2012 12:00 PM IST
लालड़ू। कस्बे से करीब दस किमी दूर गांव बसौली स्थित दशमेश मेडिकेयर केमिकल फैक्ट्री में सोमवार सुबह धमाके के बाद लगी भीषण आग में चार कर्मचारी जिंदा जल गए जबकि 15 लोग झुलस गए। घायलों को डेराबस्सी के सिविल और प्राइवेट अस्पतालों में पहुंचाया गया। बुरी तरह जख्मी दस लोगों को चंडीगढ़ स्थित पीजीआई, जीएमसीएच और इंस्कॉल अस्पताल में रेफर किया गया है। हादसे में मरने वाले एक कर्मचारी की ही शिनाख्त हो पाई है जबकि अग्निकांड के बाद दो कर्मचारी लापता बताए गए हैं। पुलिस ने लापरवाही बरतने के आरोप में फैक्ट्री मालिक और प्रबंधकों के खिलाफ आईपीसी 304 के तहत मामला दर्ज कर हादसे की जांच शुरू कर दी है। प्रशासन और कंपनी की ओर से मृतकों के परिजनों को छह-छह लाख मुआवजा और मृतकों के एक आश्रित को इसी कंपनी में नौकरी देने की घोषणा की गई है जबकि घायलों को डेढ़-डेढ़ लाख रुपये मुआवजा मिलेगा।
हादसा सोमवार सुबह करीब 6 बजकर 50 मिनट पर फैक्ट्री की पहली मंजिल पर रिएक्टर के फटने से हुआ। हादसे का कारण केमिकल मिश्रण के दौरान विस्फोट बताया गया है जिसकी जांच की जा रही है। डिप्टी डायरेक्टर ऑफ फैक्ट्रीज एनपी बेरी के अनुसार एक रिएक्टर में तापमान बढ़ने से प्रेशर बन गया और समय पर सेफ्टी वाल्व न खुलने से विस्फोट हो गया। पहले बडे़ धमाके के बाद हुए कई विस्फोटों के कारण जहां आसमान में काले धुएं का गुबार फैल गया, वहीं इसके बाद भीषण आग लग गई। धमाकों के कारण आसपास के गांवों में दहशत का माहौल पैदा हो गया है। डेराबस्सी से दो, दप्पर आयुध डिपो, नाहर, मोहाली, चंडीगढ़ और अंबाला से करीब एक दर्जन दमकल गाड़ियों ने करीब तीन घंटों के बाद आग पर काबू पाया जिसके बाद बचाव अभियान शुरू किया जा सका।
दशमेश केमिकल के महाप्रबंधक अतुल चौबे ने बताया कि कंपनी केमिकल मिश्रण द्वारा बल्क ड्रग्स तैयार करती है। हादसे के समय कुल 31 लोग ड्यूटी पर थे। विस्फोट के बाद रिएक्टरों के टुकड़े आसपास खेतों में 500 गज तक फैल गए जो 5 किलो से लेकर 50 किलो तक के थे। आग लगने के बाद कुछ कर्मचारियों ने बिल्डिंग की खिड़कियों के शीशे तोड़कर बाहर आने की कोशिश की और कइयों ने छलांग मारकर अपनी जान बचाई। भीषण आग से बचने के लिए छलांग लगाने जा रहे दो कर्मचारियों के शव खिड़की में ही फंसे मिले, उन्हें बचने का मौका तक नहीं मिला। समाचार लिखे जाने तक केवल एक शव की शिनाख्त हो पाई है जबकि तीन शव तो शिनाख्त के काबिल भी नहीं रहे। एसएमओ डेराबस्सी जेके बांसल के अनुसार दो दिन तक शिनाख्त न होने पर शवों को पटियाला स्थित मेेडिकल कालेज भेजा जाएगा जहां डीएनए टेस्ट से उनकी शिनाख्त की जाएगी। एक शव की जेब से मिले अधजले आईकार्ड से उसकी शिनाख्त शिफ्ट इंचार्ज निरंकार सिंह के रूप में हुई। निरंकार सिंह गुड़गांव में जयपुर रोड स्थित सतगुरु भवन की गली नंबर एक के मकान नंबर एक का रहने वाला था।
ये हुए घायल
घायलों में राजकुमार वर्मा, अशोक कुमार, मलिक, सुच्चा सिंह, सर्बजीत और सोबिंदु, छोटे राम, संतोष, कपिल, सुनील, महिंदर अवस्थी, आशू और मुनिलाल को डेराबस्सी के प्राइवेट अस्पतालों जबकि रामनरेश, सुखबीर, बेचंद और संजीव कुमार को डेराबस्सी सिविल अस्पताल पहुंचाया गया। राजकुमार, अशोक, रामनरेश, बेचंद और सुखबीर को छोड़कर सभी को चंडीगढ़ के अस्पतालों में रेफर कर दिया गया।
बाक्स
मृतकों के आश्रितों को छह-छह लाख मुआवजा व नौकरी
डीसी, मोहाली वरुण रूजम ने प्रशासन की ओर से मृतकों के परिजनों को एक-एक लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये का मुआवजा देने घोषणा की गई है। कंपनी के महाप्रबंधक अतुल चौबे ने मरने वालों के आश्रितों को 5-5 लाख रुपये मुआवजा और मृतक कर्मचारी की 58 साल तक सर्विस तक उसका वेतन और परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने की घोषणा की है जबकि घायलों को एक-एक लाख रुपये का मुआवजे का ऐलान किया गया है।
बाक्स
नहीं थे आग से बचने के प्रबंध
डेराबस्सी अस्पताल में घायलों का हालचाल पूछने आए डीसी और एसएसपी ने बताया कि हादसे में फैक्ट्री प्रबंधकों की लापरवाही सामने आई है। मौके पर इंडस्ट्रियल सेफ्टी और आग बुझाने के प्रबंध नाकाफी पाए गए। फैक्ट्री मालिक और प्रबंधकों के खिलाफ मामला दर्ज कर डिप्टी डायरेक्टर ऑफ फैक्ट्रीज को हादसे की जांच के आदेश दिए गए हैं। हादसे के बाद मुख्य संसदीय सचिव एनके शर्मा, मोहाली के डीसी वरुण रूजम, एसएसपी गुरप्रीत सिंह भुल्लर, डीएसपी, नायब तहसीलदार, डिप्टी डायरेक्टर ऑफ फैक्ट्रीज एनपी बेरी, फोरेंसिक टीम समेत अधिकारियों ने दौरा किया।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Mirzapur

पोषणयुक्त खाद्य पदार्थो के लिए तकनीक व शोध जरूरी: प्रो.मैरी

पोषणयुक्त खाद्य पदार्थो के लिए तकनीक व शोध जरूरी: प्रो.मैरी

19 फरवरी 2018

Related Videos

पीएम नरेंद्र मोदी के मैसूर भाषण की बड़ी बात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मैसूर में चुनावी जनसभा की। पीएम मोदी ने कहा कि, मैसूर को सैटेलाइट रेलवे स्टेशन बनाया जाएगा जो वर्ल्ड क्लास का होगा।

19 फरवरी 2018

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen