'My Result Plus
'My Result Plus

इंसाफ मांगा तो सड़कों पर घसीटा

Chandigarh Updated Wed, 26 Dec 2012 05:30 AM IST
ख़बर सुनें
चंडीगढ़। दिल्ली गैंग रेप के विरोध में मंगलवार को पंजाब राज भवन के सामने सड़क पर डटे युवाओं और पुलिस के बीच जमकर हंगामा हुआ। सड़क किनारे बैठे लगभग 100 विद्यार्थी और रेवोल्यूशनरी यूथ एसोसिएशन के सदस्य ज्ञापन देने के लिए राज्यपाल शिवराज पाटिल को बाहर बुलाने की जिद पर अड़ गए। इस पर पुलिसकर्मियों ने दो दर्जन छात्र-छात्राओं को घसीट-घसीटकर बसों में भरा और सेक्टर तीन और 26 थाने ले आई। उन्हें करीब दो घंटे बाद छोड़ दिया गया। इस दौरान छात्राओं के साथ भी धक्का-मुक्की हुई और उन्हें चोटें र्भी आइं। छात्राओं ने आरोप लगाया कि बस में बैठने के दौरान महिला कांस्टेबलों ने उनके साथ गाली-गलौज करते हुए बदसलूकी की। वहीं, एएसआई जयपाल की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ सड़क जाम करने का केस दर्ज कर लिया। पिछले एक सप्ताह से शहर में दुराचारियों को सख्त सजा दिलाने की मांग को लेकर शांतिपूर्ण प्रदर्शन हो रहे थे, लेकिन मंगलवार को यह हंगामा हो गया।
मंगलवार सुबह साढ़े दस बजे रेवोल्यूशनरी यूथ एसोसिएशन के सदस्य और पीयू स्टूडेंइस नारेबाजी करते हुए निकले। मटका चौक के पास पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की और राज्यपाल के न होनेे की बात कही, लेकिन कारवां आगे बढ़ता गया। दोपहर लगभग एक बजे पीयू स्टूडेंट्स राज्यपाल भवन के सामने सड़क के बीच बैठकर प्रदर्शन नारेबाजी करने लगे। इस पर इंस्पेक्टर श्रीप्रकाश ने सभी छात्रों को साइड होने के लिए कहा। सभी छात्र सड़क खाली करके पीछे सड़क के पास बने डिवाइड पर बैठ गए। छात्रों ने राज्यपाल को बाहर बुलाकर ज्ञापन लेने की मांग की। हंगामा होने पर कार्यवाहक डीआईजी आलोक कुमार और डीएसपी आशीष कपूर मौके पर पहुंचे, लेकिन उनकी भी एक नहीं चली। इसके बाद पुलिसकर्मियों ने करीब दो दर्जन छात्र और छात्राओं को घसीट-घसीट कर बसों में बैठाया।

कोट
पंजाब गवर्नर हाउस के सामने प्रदर्शन करने वाले छात्र और छात्राओं ने सड़क पर जाम लगा दिया था। इस पर उन्हें उठाया गया। पुलिस जवानों ने किसी के साथ कोई बदसलूकी नहीं की है।
-आशीष कपूर, डीएसपी सेंट्रल

एसएसपी की बेटियों को छेड़ा!
एसएसपी ने हमें कहा था कि कोई बदसलूकी करे तो पुलिस जवानों को कहना एसएसपी की बेटी हूं, लेकिन हमें राउंडअप करने वालों ने एसएसपी की बेटी कहने पर भी एक न सुनी। एसएसपी के जवानों ने ही हमारे साथ बदसलूकी की है।
- नेहा, एमए फर्स्ट ईयर, पीयू


‘ज्यादा बोलेगी तो उठाकर हवालात में डाल दूंगा’
अगर मेरे सामने ज्यादा बोलेगी तो तुझे उठाकर हवालात में डाल दूंगा..। यदि लड़कियां न माने तो इन्हें चांटा मारकर गाड़ियों में डाल दो। कुछ इसी तरह के आरोप प्रदर्शन में शामिल लड़कियों ने पुलिस इंस्पेक्टर पर लगाए।छात्रा नवकिरण ने कहा कि शांतिपूर्ण प्रदर्शन के दौरान पुलिस इंस्पेक्टर ने न केवल उन्हें धमकी दी, बल्कि बसों में डालते समय उन्हें चोटें भी आई। नवकिरण और बीकॉम फाइनल ईयर की छात्रा कुसुम ने बताया कि उनकी टांगों और हाथों पर चोटें आई हैं।

‘प्रदर्शन किया तो तुम्हारे मां-बाप को बुलाएंगे’
पेशे से नर्स ईशा ने बताया कि लाठीचार्ज में उन्हें बाजू में चोटें आई। पुलिस ने थाने में बच्चियों को धमकाया कि उनके मां-बाप को बुलाकर प्रदर्शन करने की बात उन्हें बताई जाएगी। कई छात्राओं के मां-बाप का मोबाइल नंबर भी लिया गया। थाने में काफी देर बैठने के बाद छात्राएं खुद ही पिछले गेट से बाहर आ गई।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Kanpur

30 अप्रैल से मुंबई-गाजीपुर के लिए स्पेशल ट्रेन

रेलवे ने 30 अप्रैल से 25 जून तक स्पेशल वीकली ट्रेन चलाने का शेड्यूल जारी किया है। यह ट्रेन कानपुर सेंट्रल होकर चलेगी। 30 अप्रैल से हर सोमवार को यह ट्रेन (09025) बांद्रा टर्मिनल (मुंबई) से रात 11:25 बजे छूटेगी।

26 अप्रैल 2018

Related Videos

कुशीनगर में 11 बच्चों की दुर्घटना में मौत सहित यूपी की सारी खबरें सिर्फ यूपी न्यूज पर

कुशीनगर में स्कूल वैन और ट्रेन की टक्कर में 11 स्कूली बच्चों की मौत सहित यूपी की सारी बड़ी खबरें सिर्फ 'यूपी न्यूज' पर, सुबह 9 बजे LIVE

26 अप्रैल 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen