महिलाओं में सिस्टम से लड़ने की तड़प

Chandigarh Updated Mon, 24 Dec 2012 05:31 AM IST
पंचकूला। दिल्ली में चलती बस में सामूहिक दुराचार का गुस्सा शांत होने का नाम नहीं ले रहा। महिलाओं में आक्रोश इस कदर है कि वे खुद दुराचारियों को सजा देनी चाहती हैं। अपराधियों और सिस्टम से लड़ने की तड़प उनमें साफ देखी जा सकती है। अमर उजाला रुपांतरण क्लब की ओर से आयोजित कार्यक्रम में इसका जीता जागता उदाहरण देखने को मिला। मुख्य अतिथि के रूप में आए चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट-कम-सेक्रेटरी डिस्ट्रिक्ट लीगल सर्विस अथारिटी जयबीर सिंह के सामने महिलाओं ने खुलकर सुरक्षा और कानून के बारे में सवाल पूछे। वे जानना चाहती थी कि आखिर उन्हें न्याय कब मिलेगा। उन्हें पुरुषों की भेड़िया वाली मानसिकता से छुटकारा कब मिलेगा? कानून में कई परिवर्तन करने की जरूरत है।
जयबीर सिंह ने महिलाओं के सभी सवालों का जवाब दिया। उन्होंने बताया कि कानून में कड़ी से कड़ी सजा का प्रावधान है। देश का कानून पर्याप्त है। जरूरत है तो उसे लागू करने की। यदि कानून को सही तरीके से लागू कर सकें तो यह देश की बहुत बड़ी अचीवमेंट होगी। उन्होंने कहा कि महिलाओं को कभी कमजोर नहीं समझना चाहिए। अबला नहीं महिलाओं को सबला बनना होगा। कानून में परिवर्तन की बात पर उन्होंने कहा कि न्यायपालिका कानून नहीं बनाती। कानून बनाने की जिम्मेदारी विधायिका की है। आप ऐसे प्रतिनिधि को चुनकर भेजें, जो साफ-सुथरा और इन बातों के लिए संवेदनशील हो। कभी भी मूकदर्शक न बनें। इस मौके पर अमर उजाला नार्थ रीजन के संपादक उदय कुमार ने कहा कि मां की जिम्मेदारी है कि वह अपने बेटों का संस्कारवान बनाए।
पीड़िता को दें सम्मान
जयबीर सिंह ने कहा कि समाज की असली जिम्मेदारी बनती है कि वह पीड़िता की मदद करे। उसे हीन भावना से न देखे। उसे वही सम्मान दे, जो आदर घटना से पहले था। किसी के साथ घटना हो जाने में पीड़ित का क्या कसूर होता है? पीड़ितों को पाजीटिव रिस्पांस देना चाहिए। जब ऐसी सोच होगी तो हमारा समाज जरूर उन्नति करेगा।
पुलिस न सुने तो हमारे पास आएं
डिस्टिक्ट लीगल सर्विसेस अथारिटी के महत्व को बताते हुए जयबीर सिंह ने कहा कि पुलिस यदि उनकी सुनवाई नहीं करती है तो अपने कदम वहीं न रोकें। वे डिस्ट्रिक्ट लीगल सर्विसेस अथॉरिटी के लीगल क्लीनिक में जाएं। पंचकूला में हर पांच किलोमीटर की दूरी पर लीगल क्लीनिक खोले गए हैं। उन्होंने कहा कि अच्छी तरह मालूम है कि पुलिस सही ढंग से काम नहीं करती। यदि पुलिस काम कर रही है तो न्यायपालिका को यह सब नहीं करना पड़ता। उन्होंने अमर उजाला रुपांतरण क्लब की सदस्यों को लीगल एड क्लीनिक का वालंटियर्स बनने का न्योता दिया।
क्राइम की सूचना जरूर दें
डिस्ट्रिक्ट लीगल सर्विसेस अथॉरिटी के एडवोकेट मनबीर सिंह राठी ने महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि अपने आसपास हो रहे किसी गलत काम की जानकारी वे जरूर दें। उन्होंने पंचकूला के कई ऐसे उदाहरण बताए, जिनमें लोगों और बच्चों की सतर्कता के चलते उन्हें इंसाफ मिला। उन्होंने कहा कि वे अपने आसपास की घटनाओं की जानकारी 1098, 1091 और 0172-2585566 में दे सकती हैं। उन्होंने बताया कि अवेयरनेस की कमी के कारण ही क्राइम रेट बढ़ रहा है।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

आप विधायकों को हाईकोर्ट ने भी नहीं दी राहत, अब सोमवार को होगी सुनवाई

लाभ के पद के मामले में चुनाव आयोग ने आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को अयोग्य घोषित करने के मामले में अब सोमवार को होगी सुनवाई।

19 जनवरी 2018

Related Videos

जब सोनी टीवी के एक्टर बने अमर उजाला टीवी के एंकर

सोनी टीवी पर जल्द ही ऐतिहासिक शो पृथ्वी बल्लभ लॉन्च होने वाला है। अमर उजाला टीवी पर शो के कास्ट आशीष शर्मा और अलेफिया कपाड़िया से खुद सुनिए इस शो की कहानी।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper