भाजपाइयों के ‘सत्याग्रह’ में दिख सकता है बाउंसरों का दम

Chandigarh Updated Mon, 10 Dec 2012 05:30 AM IST
चंडीगढ़। भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता चिंता में हैं। पहले पार्टी के जनाधार बनाने के लिए बैठकों का दौर होता था अब एक दूसरे को नीचा दिखाने का दौर शुरू हो गया है। यहां तक कि सोमवार को होनेवाले सत्याग्रह में बाउंसरों को भी बुलाया गया है। वैसे बाउंसर बुलाने की बात से दोनों ही पक्ष इनकार कर रहे हैं। यह सत्याग्रह संजय टंडन विरोधी खेमा कर रहा है। यह पार्टी के प्रदेश कार्यालय में होगा।
लोकसभा का आम चुनाव 2014 में होना है। ऐसे में पार्टी में बढ़ रही गुटबाजी नई मुसीबतों को जन्म दे सकती है। स्थिति को भांपते हुए प्रदेश अध्यक्ष संजय टंडन रविवार शाम को दिल्ली पहुंच गए। हालांकि उनका कहना है कि वह परिवार के एक शादी समारोह में शामिल होने के लिए गए हैं। दूसरी ओर सूत्र बता रहे हैं कि उन्होंने वहां पार्टी के केंद्रीय नेताओं से भी मुलाकात की है। उधर, दूसरा खेमा भी पूरी तैयारी से जुटा है। पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व सांसद सत्यपाल जैन और हरमोहन धवन की राष्ट्रीय महासचिव और भाजपा सांसद जेपी नड्डा से फोन पर इस मसले को लेकर बातचीत हुई लेकिन देर रात तक सत्याग्रह को लेकर कोई फैसला नहीं हो पाया। नड्डा विरोधी गुट को सत्याग्रह न करने के लिए मनाने में जुटे हैं।
पार्टी में राजनीतिक समीकरण तेजी से बदल रहे हैं। प्रदेश अध्यक्ष संजय टंडन और पार्टी के दो कद्दावर नेताओं पूर्व केंद्रीय मंत्री हरमोहन धवन और पूर्व सांसद सत्यपाल जैन के बीच पार्टी तीन खेमों में बंटी नजर आ रही है। अब संजय टंडन के खिलाफ बाकी दोनों खेमें एक हो गए हैं। दोनों ओर से एक दूसरे को चुनौती दी जा रही है। सोमवार को अनशन के लिए कटिबद्ध टंडन विरोधी मोर्चा पर नकेल कसने की कार्रवाई के लिए संजय टंडन ने भी पूरा जोर लगा दिया है। पूरे दिन गतिविधियां चलती रहीं लेकिन सत्याग्रही मानने को तैयार ही नहीं हैं। संजय विरोधी खेमा का कहना है कि प्रदेश अध्यक्ष संजय टंडन पार्टी को कमजोर कर रहे हैं। टंडन विरोधी खेमा का कहना है कि पिछले एक साल से प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक नहीं बुलाई गई। पार्टी की सदस्यता अभियान में पार्टी के आम कार्यकर्ता को शामिल नहीं किया गया। टंडन की ओर से दोबारा अध्यक्ष बनने के लिए मनमानी की जा रही है।

कोटस...
यह दुर्भाग्य पूर्ण स्थिति है। ऐसा नहीं होना चाहिए।
-हरमोहन धवन, पूर्व केंद्रीय मंत्री
........................
यह सब पार्टी के लिए चिंता का विषय है। हमारी कोशिश होगी कि यह सब न हो। ऐसे में पार्टी कमजोर होगी।
-सत्यपाल जैन, पूर्व सांसद एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता।
....................................
कुछ कहना ठीक नहीं होगा। यह पार्टी का अंदरूनी मामला है। पार्टी के अंदर बात होगी।
जेपी नड्डा, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव एवं सांसद।
.............................
कोई शिकायत है तो वे बैठकर बात कर सकते हैं। हम कौन सा दूर हैं। पार्टी की सदस्यता कितनी है यह प्रकाशित नहीं किया जाता। पदाधिकारी इसे देख सकते हैं। पार्टी कार्यालय में सब उपलब्ध है।
संजय टंडन, प्रदेश अध्यक्ष चंडीगढ़

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

फुल ड्रेस रिहर्सल आज, यातायात में होगी दिक्कत, कई जगह मिल सकता है जाम

सुबह 10:30 से दोपहर 12 बजे तक ट्रेनों का संचालन नहीं किया जाएगा। कई ट्रेनें मार्ग में रोककर चलाई जाएंगी तो कई आंशिक रूप से निरस्त रहेंगी।

23 जनवरी 2018

Related Videos

ईशा गुप्ता के होंठ इतने सूज कैसे गए?

अमर उजाला टीवी स्पेशल बॉलीवुड टॉप 10 में आज आपके लिए लेकर आए हैं ऐसी सेल्फी जिसे पोस्ट करने के बाद हर कोई ईशा गुप्ता से कर रहा है सवाल कि उनके होंठों को क्या हो गया है।

23 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper