कैंप मार्केट में किए, मरीज सेक्टरों में

Chandigarh Updated Tue, 16 Oct 2012 12:00 PM IST
चंडीगढ़। आप जानकार हैरान होंगे कि स्वास्थ्य विभाग ने डेंगू से बचाव के लिए जागरुकता कैंप मोटर मार्केट में किए लेकिन डेंगू के मरीज शहर के पॉश इलाकों में मिल रहे हैं। विभाग के मुताबिक उसने डेंगू से बचाने के लिए डीडीटी स्प्रे भी करवाया है। पर ये स्प्रे सेक्टरों के घरों से ज्यादा में नहीं किए गए। विभाग ने डेंगू के लारवा की तलाश में जो अभियान चलाया उसमें पूरे शहर में सिर्फ 137 घरों में एडीज मच्छर के लारवा मिले।
स्वास्थ्य महकमें ने डेंगू से बचाव के लिए एंटी डेंगू माह का आयोजन किया। इस दौरान विभाग ने जुलाई में सिर्फ तीन कैंप लगाए गए। ये कैंप सेक्टर-48 की मोटर मार्केट, सेक्टर-38 की मोटर मार्केट और मनीमाजरा की मोटर मार्केट में हुए। विभाग ने एक जून से लेकर 30 सितंबर तक दो बार घरों में डीडीटी का स्प्रे भी कराया। हकीकत हैं कि जिन सेक्टर्स में डेंगू के मरीज मिल रहे हैं वहां पर डीडीटी का स्प्रे नहीं हुआ। सेक्टर-7 में डेंगू के चार मामले सामने आए। इस सेक्टर के मकान नंबर 626 के एडवाकेकेट अमनदीप सिंह ने बताया कि उनके इलाके में स्वास्थ्य विभाग से कोई डेंगू के मच्छरों को चेक करने नहीं पहुंचा। इसी सेक्टर के मकान नंबर 622 के मुकेश वर्मा ने बताया कि उनके घर में भी कोई जांच करने नहीं आया। उन्होंने बताया कि उनकी भांजी और भाई को डेंगू हुआ तो उन्होंने मलेरिया विभाग को शिकायत की। उसके बाद फागिंग की गई। सेक्टर-61 के 452/ए निवासी नीरज शर्मा ने बताया कि उनके घर में न तो कोई कूलर चेक करने पहुंचा और न ही कभी फागिंग हुई। हालांकि विभाग के ही आकड़े बताते हैं कि सत्रह हजार घरों में जांच हुई और 137 घरों में एडीज लारवा मिले, जिनका चलान किया गया।
------------------------------
कहां कितने मरीज
सेक्टर मरीज
सेक्टर-29 11
सेक्टर-7 4
सेक्टर-8 2
पीजीआई 4
सेक्टर-32 5
सेक्टर-10 2
सेक्ट 11 2
सेक्टर-15 4
हल्लोमाजरा 12
कालोनी नं 5 6
रामदरबार 8
दक्षिणी सेक्टरों में दो दर्जन से ज्यादा मरीज।

कोट
--
इस साल पिछले साल की तुलना में ज्यादा डेंगू के मामले आए हैं। पिछले साल मरीजों की संख्या 73 ही थी। मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए सोमवार को बैठक की गई। लोगों को जागरूक किया जाएगा।
- डॉ. नरेश शर्मा, असिस्टेंट डायरेक्टर(मलेरिया)

इमरजेंसी में अब दो ईएमओ
डेंगू के मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने अब दो ईएमओ की ड्यूटी इमरजेंसी में लगा दी है। जबकि मलेरिया विभाग ने अपने दस लैब टेक्नीशियन को अस्पताल में भेज दिया है। अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक और कार्यकारी स्वास्थ्य निदेशक डॉ. राजीव वढ़ेरा ने बताया कि अगले कुछ दिनों में एलाइजा टेस्ट के लिए प्रयागे की जाने वाली ढाई लाख रुपये की कीमत वाली मशीन को खरीद लिया जाएगा।

प्लेटलेट्स 10 हजार रह जाएं तब आना
डेंगू से पीड़ित सेक्टर-30 के मकान न. 16 निवासी शारदा देवी जीएमएसएच-16 में भर्ती है। शारदा ने बताया कि इससे पहले वे 14 अक्तूबर को जीएमसीएच-32 में इलाज के लिए गई थीं लेकिन वहां उन्हे भर्ती करने से डॉक्टर ने यह कह कर इंकार कर दिया कि अभी प्लेटलेट्स 30 हजार हैं, जब 10 हजार रह जाएं तब आना। इसके बाद वे रविवार को सेक्टर-16 के अस्पताल में भर्ती हुईं। अब उनके प्लेटलेट्स 30 हजार से 47 हजार हो गए हैं।


आज से डिस्पेंसरियों का समय बदला
चंडीगढ़। नगर निगम के तहत आने वाली 20 डिस्पेंसरियों का समय बदल दिया गया है। सर्दी की आहट होने के कारण अब डिस्पेंसरी का समय सुबह 9 से दोपहर 3 बजे तक कर दिया गया है। पहले यह समय सुबह आठ से दो बजे तक था। समय में बदलाव का आदेश 16 अक्तूबर से लागू होगा।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

बवाना कांड पर सियासत शुरू, भाजपा मेयर बोलीं- सीएम केजरीवाल को मांगनी चाहिए माफी

दिल्ली के औद्योगिक इलाके बवाना में शनिवार देर शाम अवैध पटाखा गोदाम में आग लगने से 17 लोगों की मौत के बाद अब इस पर सियासत शुरू हो गई है।

21 जनवरी 2018

Related Videos

कैसे बनती है 2 मिनट में चप्पल, आप भी देखिए...

चप्पल हमसब की जिंदगी के रोजमर्रा में काम आने वाली चीज है ,लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि ये कैसे बनती होगी। चलिए आज हम आपको बताते हैं कि चप्पल 2 मिनट में कैसे तैयार की जाती है...

21 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper