विज्ञापन

राहुल को भाया पीयू का गांधी भवन

Chandigarh Updated Fri, 12 Oct 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
चंडीगढ़। पीयू की खास पहचान गांधी भवन राहुल गांधी को खासा पसंद आया। राहुल जब करीब डेढ़ बजे पीयू में कार्यक्रम स्थल पर आए तो उन्हें गांधी भवन नजर आया। वे उसी ओर चल पडे़। पीयू कुलपति प्रो. अरुण कुमार ग्रोवर, रजिस्ट्रार प्रो. एके भंडारी और डीएसडब्ल्यू प्रो. एएस अहलुवालिया ने राहुल से मुलाकात की। प्रो. अरुण ने राहुल को पीयू और यहां जवाहर लाल नेहरू की बरसों पहले हुए विजिट के बारे में भी बताया। कुलपति ने उन्हें गांधी भवन का एक खूबसूरत चित्र और पीयू के इतिहास से जुड़ी दो किताबें भेंट की।
विज्ञापन
विज्ञापन
वीसी भी नहीं उठा सके सेंट्रल यूनिवर्सिटी का मुद्दा
पीयू कैंपस में सभी को राहुल और पीयू कुलपति की मुलाकात से काफी उम्मीदें थी। कई दिनों से राहुल के सामने पीयू को सेंट्रल यूनिवर्सिटी बनाने का मुद्दा उठाने की चरचा चल रही थी, लेकिन बैठक में ऐसा कुछ नहीं हुआ। प्रो. अरुण ग्रोवर ने बताया कि राहुल प्राइमरी एजूकेशन सिस्टम को लेकर अधिक गंभीर हैं, लेकिन उन्होंने पीयू के इंफ्रास्ट्रक्चर के बारे में भी पूछा।

पीयू सीनेट में छात्र काउंसिल की मांगी सीट
एनएसयूआई पंजाब के प्रेसिडेंट गोबिंद खटड़ा ने कार्यक्रम की शुरुआत में ही पंजाब में युवाओं में नशे की लत और रोजगार के कम होते अवसर की बात रखी। खटड़ा ने आखिर में राहुल से पीयू सीनेट में छात्रों की भागेदारी का मुद्दा काफी गंभीरता से उठाया। खटड़ा ने कहा कि उप राष्ट्रपति तक से इस मामले में छात्र नेताओं की मुलाकात हो चुकी है। राहुल ने भी कुर्सी पर बैठे हुए इस प्वाइंट को गंभीरता से सुना।


पीयू में पार्किंग की दिक्कत, लगा जाम
राहुल के दौरे के कारण पीयू ने गेट नंबर एक के सामने के तीन हास्टल का रास्ता बंद कर दिया। वाहनों को सिर्फ हास्टल नंबर 4 और 5 के मार्ग से जाने दिया गया। वीसी दफ्तर के सामने वाली सड़क पर भी वाहनों की भीड़ से लंबा जाम लग गया। इस वजह से हॉस्टलरों को भी काफी दिक्कत आई और कई बार आगे जाने से रोकने पर उनकी पुलिसकर्मियों से बहस होती रही।

खानापूर्ति रह गई कांग्रेसियों की मुलाकात
चंडीगढ़। यूटी के कांग्रेस नेता वीरवार सुबह राष्ट्रीय महासचिव राहुल गांधी के सामने अपनी मांगों को नहीं उठा सके और उनकी मुलाकात केवल खानापूर्ति तक सीमित होकर रह गई। चंडीगढ़ प्रदेश कांग्रेस नेताओं की टीम प्रदेश अध्यक्ष बीबी बहल की अगुवाई में यूटी गेस्ट हाउस में राहुल गांधी से मिली और उन्होंने मौखिक ही चंडीगढ़ के लिए मेयर इन काउंसिल, चीफ कमिश्नर पद की बहाली और गांव की लाल डोरा की सीमा बढ़ाने की मांग के अलावा जमीन के बदले प्लाट की मांग मौखिक रूप से उनसे की। उसके जवाब में राहुल ने उनसे लिखित में मांगपत्र मांगा, जो किसी के पास नहीं था। इस तरह उनकी मांगों पर कोई गौर नहीं हो सका। इस मौके पर मेयर राजबाला मलिक, सीनियर डिप्टी मेयर दर्शन गर्ग, डिप्टी मेयर सतीश कैंथ, रामपाल शर्मा, सुभाष चावला, एचएस लक्की, डीडी जिंदल, मीनाक्षी चौधरी, पूनम शर्मा और ललित जोशी सहित अन्य वरिष्ठ नेता उपस्थित थे।



लड़कियां चिल्लाईं, नेता हमारे जैसा होगा
चंडीगढ़। पीयू स्टूडेंट काउंसिल की एजूकेशनल कन्वेंशन के दौरान कोई छात्रा कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी को देखने आई थी तो कोई वहां गायक शैरी मान के कल्चरल प्रोग्राम का मजा लेने। करीब एक घंटे का लंबा इंतजार छात्राओं के चेहरे पर साफ दिखाई दे रहा था। यही वजह रही कि जब मंच से राहुल गांधी के लिए ‘हमारा नेता कैसा होगा’ के नारे लगाए जा रहे थे तब सैकड़ों छात्राएं राहुल का नाम चिल्लाने की बजाय यही कहती सुनाई दी, ‘हमारे जैसा होगा’। इस पर एनएसयूआई के जनरल सेक्रेटरी शाहनवाज शेख ने अपील की कि पीयू की इज्जत रख लेना और प्लीज जोर से बस यही कहना, देश का नाता कैसा होगा, राहुल गांधी जैसा होगा..। इस पर भी छात्राआें ने कहा देश का नेता कैसा होगा, हमारे जैसा होगा।

राहुल लगते हैं सच्चे नेता : निष्ठा
एमफिल की छात्रा निष्ठा ने बताया कि वह राहुल गांधी को देखने यहां आई है। वह सच्चे नेता लगते हैं। वहीं, एमफिल स्टूडेंट मीनाक्षी ने कहा कि वह यहां अपनी सहेली के कहने पर आई।


राहुल के विरोध में वीसी दफ्तर घेरा
चंडीगढ़। पीयू में राहुल गांधी के विरोध में छात्र संगठनों ने वीसी दफ्तर के बाहर धरना दिया। करीब दो घंटे तक धरने में एबीवीपी, इनसो और एसएफआई के समर्थकों ने काले रिबन बांधकर नारेबाजी की। उन्होंने कहा कि राहुल के कार्यक्रम से पीयू राजनीतिक अखाड़ा बन गया है। पीयू प्रशासन ने ऐसे कार्यक्रम की अनुमति देकर पक्षपात किया है। एबीवीपी के महासंगठन मंत्री दिनेश चौहान और एसएफआई के नवीन ठाकुर ने राहुल के कार्यक्रम पर विरोध जताया। मौके पर पहुंची पुसिल फोर्स ने मामला शांत किया।
चालाकी से निकाला वीसी को
पीयू के वीसी प्रो. अरुण कुमार ग्रोवर को वीसी दफ्तर से बाहर निकलना था, लेकिन दफ्तर के ठीक एंट्री गेट पर छात्र प्रतिनिधि धरने पर बैठे हुए थे। उन्हें निकालने के लिए पुलिस ने छात्रों को चारों ओर से घेर लिया और वीसी चुपके से गाड़ी तक पहुंच गए।

प्रदर्शनकारियों को नजदीक भी फटकने नहीं दिया
धरने पर बैठे एबीवीपी, एसएफआई और इनसो के छात्र प्रतिनिधि जब राहुल गांधी से मिलने के लिए वीसी दफ्तर से निकलने लगे तो पुसिल फोर्स ने उन्हें वहां से हिलने भी नहीं दिया। यहां उनके बीच धक्कामुक्की और बहस भी हुई।

सवालों की चिट धरी रह गई जेब में
चंडीगढ़। दिन वीरवार, समय दोपहर करीब 1.30 बजे। पीयू के यूबीएस विभाग के सामने ग्राउंड में 6 हजार से अधिक युवा करीब दो घंटे से धूप में राहुल गांधी का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। कन्वेंशन का प्रचार होने के कारण कई युवा तो उनसे सवाल पूछने के लिए चिट जेब में डालकर बैठे थे, लेकिन उन सबके अरमान धरे के धरे रह गए। करीब 15 मिनट के भाषण के बाद राहुल हाथ हिलाते हुए वहां से चले गए। अक्तूबर 2009 में राहुल गांधी पीयू दौरे के दौरान स्टूडेंट्स के सवालों को उलझ गए थे। शायद इस बार वे इससे बचना चाहते थे।
इस बार छात्रों को उम्मीद थी कि कम से कम पांच-सात मिनट तो उनसे बातचीत का मौका मिलेगा। लड़कियों को यह बात नागवार गुजरी और उन्होंने चिल्लाकर राहुल को आने के लिए कहा। इस पर राहुल ने भीड़ की तरफ देखा और फिर हल्के से लड़कियों की तरफ इशारा करते हुए कहा आ रहा हूं तुमसे मिलने...। इसके बाद राहुल मंच से नीचे आए और कई स्टूडेंट्स से केवल हाथ मिलाकर चले गए।

हम कई दिन से बना रहे थे सवाल पूछने की प्लानिंग
राहुल के साथ सवाल-जवाब नहीं होने से विद्यार्थियों को निराशा हाथ लगी। लॉ विभाग के छात्र विनीत जाखड़ ने कहा कि राहुल का प्रोग्राम एजूकेशनल कन्वेंशन बताया गया था, लेकिन वे तो राजनीति की बातें करके चले गए। यूआईईटी की छात्रा तनु ने कहा कि वह अपनी फ्रेंड्स के साथ राहुल से सवाल पूछने आई थी, लेकिन उन्होंने तो किसी को मौका ही नहीं दिया।

यूं बिजी रहा राहुल का शेड्यूल
10.30 बजे वीरवार सुबह राहुल गांधी कसौली से यूटी गेेस्ट हाउस पहुंचे। यूटी गेस्ट हाउस में उनसे मिलने के लिए पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह, हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और केंद्रीय मंत्री अंबिका सोनी सहित अन्य कांग्रेसी नेता भी पहुंचे।
11.45 बजे राहुल बेअंत सिंह मेमोरियल पहुंचे। वहां पर थोड़ी देर रुकने के बाद उन्होंने सीधे सेक्टर-15 स्थित कांग्रेस भवन का रुख किया।
1.30 बजे के करीब राहुल गांधी पीयू पहुंचे। वहां स्टूडेंट्स को संबोधित किया।
3:30 बजे वे दोबारा यूटी गेस्ट आ गए। यहां लंच में उन्हें रोटी, दाल और चिकन सर्व किया गया।
5:00 बजे के करीब वे एयरपोर्ट के लिए रवाना हो गए।

किसानों को रोका सेक्टर 15 में, रूट डायवर्ट किया
राहुल की चंडीगढ़ यात्रा के दौरान सेक्टर-15 में पंजाब के सैकड़ों किसान अपनी मांगों को लेकर इकट्ठा हुए, लेकिन उन्हें सेक्टर-15डी मार्केट के पास पुलिस ने रोक लिया। इस मार्ग से होकर गुजरने वाले वाहनों को डायवर्ट कर दिया गया। किसान सूखा राहत पैकेज और गेहूं के दाम बढ़ाने की मांग कर रहे थे।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

VIDEO: कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है। शनिवार सुबह यहां शुरू हुई एक मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को ढेर कर दिया। इस मुठभेड़ में एक जवान भी शहीद हो गया है।

15 दिसंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree