बिना अधिकारी बदहाल ली कार्बूजिए सेंटर

Chandigarh Updated Sat, 06 Oct 2012 12:00 PM IST
चंडीगढ़। चंडीगढ़ को बसाने वाले फ्रेंच आर्किटेक्ट ली कार्बूजिए की यादों को संजोए रखने के उद्देश्य से चार साल पहले सेक्टर-19 में शुरू किए गए ली कार्बूजिए सेंटर की हालत दयनीय है। लगभग दो साल से यहां कोई नोडल अफसर तक नहीं है। कांट्रेक्ट पर नियुक्त एक महिला कर्मचारी के सहारे ही यह सेंटर चल रहा है। शुक्रवार को जब अमर उजाला ने इस सेंटर का दौरा किया तो वहां सन्नाटा पसरा हुआ था। सेंटर की देखरेख की जिम्मेदारी उठा रहीं मनप्रीत कौर अवकाश पर थीं। सेंटर में सिर्फ सुरक्षा गार्ड और चपरासी थे। ली कार्बूजिए से जुड़ी यादों को सेंटर में डिस्पले तो किया गया है, लेकिन उसकी देखरेख नहीं हो रही है। महीने में गिने चुने पर्यटक ही यहां आते हैं। इस वजह से इस सेंटर में अकसर खामोशी छाई रहती है। प्रशासन की अनदेखी के कारण यह सेंटर अपनी लोकप्रियता खोता जा रहा है। अक्तूबर, 2008 में तत्कालीन प्रशसाक जनरल (सेनि) एसएफ रोड्रिग्स ने सेंटर का उद्घाटन किया था। इस सेंटर से जुड़े रहे डॉ. वीएन सिंह को नोडल अफसर नियुक्त किया गया था। उन्होंने इस सेंटर को नया रू प दिया जिससे चंडीगढ़ आने वाले पर्यटक यहां आने लगे। दिसंबर, 2010 में एक सड़क दुर्घटना में उनका निधन होने के बाद से नोडल अफसर का पद खाली है। निदेशक की नियुक्ति न होने से यहां अव्यवस्था फैली है।

तीन बार हुआ है इंटरव्यू
नोडल ऑफिसर का पद खाली होने के बाद जनवरी, 2011 में इस पद के लिए विज्ञापन निकालकर आवेदन मंगवाए गए थे। तत्कालीन प्रशासक के सलाहकार प्रदीप मेहरा की अध्यक्षता में चार सदस्यीय कमेटी ने तीन उम्मीदवारों का इंटरव्यू लिया। लेकिन, कोई भी योग्य नहीं मिला। इसके बाद दोबारा से विज्ञापन निकाला गया। इस बार इंटरव्यू के लिए छह उम्मीदवार पहुंचे। लेकिन, इनमें से भी कोई योग्य उम्मीदवार नहीं मिला। मई, 2012 में तीसरी बार विज्ञापन निकाला गया। इस बार सात लोगों ने आवेदन किया। लेकिन, सिर्फ दो ही योग्यता को पूरा करते थे। छह जुलाई को इन दो उम्मीदवारों का इंटरव्यू लिया गया। प्रशासक के सलाहकार केके शर्मा की अध्यक्षता में बनी कमेटी को दोनों में से कोई योग्य उम्मीदवार नहीं मिला। इसके बाद इस मामले में एक उम्मीदवार की ओर से प्रशसाक से भी शिकायत की गई।

कोट
सोसाइटी फॉर टूरिज्म एंड एंटरटेनमेंट प्रमोशन इन चंडीगढ़ (स्टेप) की गवर्निंग बॉडी की बैठक जल्द बुलाई जाएगी जिसमें यह तय होगा कि इस पद के लिए दोबारा विज्ञापन कब निकालना है। अभी तक हमें सेंटर के नोडल अफसर के लिए कोई योग्य उम्मीदवार नहीं मिला। इसलिए इस पद पर नियुक्ति नहीं हो सकी है।
-डीके तिवारी, पर्यटन सचिव और स्टेप के सदस्य सचिव

Spotlight

Most Read

Lucknow

ओपी सिंह होंगे यूपी के नए डीजीपी, सोमवार को संभाल सकते हैं कार्यभार

सीआईएसएफ के डीजी ओपी सिंह यूपी के नए डीजीपी होंगे। शनिवार को केंद्र ने उन्हें रिलीव कर दिया।

20 जनवरी 2018

Related Videos

बोधगया को दहलाने की कोशिश नाकाम, तीन विस्फोटक मिले

बिहार के बोधगया को धमाकों से दहलाने की बड़ी साजिश को नाकाम कर दिया गया है। संदिग्ध आतंकियों ने महाबोधि मंदिर के पास में तीन जगहों पर विस्फोटक छुपा रखे थे। फिलहाल इलाके की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

20 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper