सूखती सुखना लेक पर प्रशासक शिवराज पाटिल ने जताई चिंता

Chandigarh Updated Thu, 21 Jun 2012 12:00 PM IST
चंडीगढ़। पंजाब के राज्यपाल और चंडीगढ़ के प्रशासक शिवराज वी. पाटिल ने बुधवार को सुखना लेक में चल रहे गाद निकालने के काम में गति लाने और इस काम के लिए मशीनों की संख्या में वृद्धि करने को कहा। पाटिल ने यह आदेश चंडीगढ़ प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों की टीम के साथ बुधवार को सुबह सुखना लेक का निरीक्षण करने के बाद दिए। सूख रही सुखना लेक पर चिंता जताते हुए पाटिल ने कहा कि बारिश शुरू होने से पहले गाद निकालने का काम जितना तेजी से होगा, उतना फायदा बारिश होने पर मिल सकेगा।
इस दौरान चंडीगढ़ के चीफ इंजीनियर एसके चड्ढा ने बताया कि अभी तक सुखना लेक में 36 एकड़ भूमि की गाद निकाली जा चुकी है और 41.68 क्यूबिक फीट गाद को झील के बाहर किया गया है। उन्होंने कहा कि कुल 54 मशीनें इस काम में लगी हैं। इस पर पाटिल ने कहा कि मशीनों की संख्या बढ़ाई जाए ताकि गाद निकालने का काम और तेजी से हो सके।

गाद से बनाएं भूमि को उपजाऊ
पाटिल ने सुझाव दिया कि लेक से निकली इस मिट्टी का प्रयोग सरकारी भूमि को उपजाऊ बनाने के लिए किया जाए ताकि हमारे ‘ग्रीन चंडीगढ़’ के उद्देश्य को भी पूरा किया जा सके। इस गाद को आईआरबी बटालियन, चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड, हाईकोर्ट, सचिवालय और शैक्षिक संस्थाओं को देना प्रशासन की पहली प्राथमिकता होनी चाहिए। इस अवसर पर प्रशासक के कार्यवाहक सलाहकार सत्यगोपाल, राज्यपाल के मुख्य सचिव एमपी सिंह, वित्त सचिव, वीके सिंह और चंडीगढ़ प्रशासन के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।

गाद से तैयार होगा बांध
इस दौरान पाटिल ने प्रशासन के अधिकारियों को कहा कि इस गाद के प्रयोग से एक बांध बनाया जाए ताकि लेक पर घूमने आने वालों को लेक के चारों और घूमने का मौका मिल सके। साथ ही उन्होंने संबंधित वन अधिकारियों से कहा कि वे जंगल में निचले क्षेत्र की पहचान करें ताकि वहां और अधिक चैक डैम बनाए जा सकें।

वन क्षेत्र में हो वृद्धि, फलदार पौधे लगाएं
शिवराज पाटिल ने लेक के चारों ओर के वन क्षेत्र में वृद्धि के विषय में संबंधित अधिकारियों से कहा कि वे इस क्षेत्र में इमली और नीम जैसे लंबे समय तक जीवित रहने वाले व आर्थिक लाभ देने वाले पौधे लगाए जाएं। उन्होंने कहा कि इन पौधों के लगने का एक फायदा यह भी होगा कि शहर में बंदरों का आतंक कम हो जाएगा। बंदर वन क्षेत्र में लगे पेड़ों की तरफ आकर्षित होंगे और शहर से हट जाएंगे।


जींस पहनकर आए पाटिल
आमतौर पर सूट पहने हुए नजर आने वाले पंजाब के राज्यपाल और चंडीगढ़ के प्रशासक शिवराज वी पाटिल बुधवार को अलग लुक में नजर आए। अपनी ड्रेसिंग सेंस के लिए मशहूर रहे पाटिल जब बुधवार को सुबह सुखना लेक पर कार से उतरे तो सब उन्हें कुछ देर तक देखते रहे। नीले रंग की डेनिम की कमीज और नीले रंग की ही जींस पहने हुए पाटिल ने सुखना लेक का दौरा किया। इस नए पहनावे में पाटिल बिल्कुल अलग नजर आ रहे थे।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Bulandshahar

दसवीं पास आंगनबाड़ी कार्यकर्ता बनेंगी मुख्य सेविका

दसवीं पास आंगनबाड़ी कार्यकर्ता बनेंगी मुख्य सेविका

22 फरवरी 2018

Related Videos

देसी होकर भी विदेशी हैं ये कलाकार

बॉलीवुड में धमाल मचाने वाली कुछ एक्टर्स ऐसे हैं जो विदेशी हैं। जिनके बारे में शायद आप नहीं जानते होंगे। शायद हो सकता है इस लिस्ट में आपके फेवरट एक्टर भी हो जिसे आप सोच रहे हैं कि वह भारत में जन्मे और पले-बढ़े हैं।

22 फरवरी 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen