सालों पुरानी वायरिंग पर चल रहे ‘बूढ़े’ एसी से हादसा

Chandigarh Updated Tue, 19 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
चंडीगढ़। पीजीआई मेें सोमवार को उस वक्त हड़कंप मच गया, जब रिसर्च ब्लाक बी के एनाटमी विभाग में स्थित लाइब्रेरी के एसी में आग लग गई। लकड़ी के फर्नीचर से बनी लाइब्रेरी में रखी काफी किताबें और रिकार्ड जलकर राख हो गया, जबकि कुछ महत्वपूर्ण शोधपत्र को बचा लिया गया। इस दौरान लाइब्रेरी में एनॉटमी विभाग की प्रमुख डॉ. डेजी साहनी भी मौजूद थीं। पूरे कॉरीडार में धुआं फैल जाने से स्टाफ में दहशत का माहौल छा गया। आग लगने की वजह ओवरलोडिंग और पुरानी वायरिंग बताई जा रही है।
विज्ञापन

सोमवार सुबह तकरीबन ग्यारह बजे पीजीआई के एनॉटमी विभाग की प्रमुख डॉ. डेजी साहनी अपनी सहयोगी डॉ. तूलिका के साथ लाइब्रेरी में कुछ जरूरी काम कर रही थीं। डॉ. डेजी ने बताया कि अचानक एक धमाका हुआ और एसी में आग लग गई। जब तक वह लोग कुछ समझ पाते तब तक पूरी लाइब्रेरी में धुआं ही धुआं फैल गया और जहां पर एसी रखा हुआ था, वहां पर आग लग गई। इतनी देर में वहां मौजूद स्टॉफ ने लाइब्रेरी में रखे बहुत से शोधपत्र और देश-दुनिया के तमाम जर्नल को बाहर निकाला। हालांकि इस आपाधापी में कई जर्नल और रिसर्च पेपर आग में जल गए, जबकि कुछ अधजले पानी डालकर बुझाए गए। इसके बाद फायर ब्रिगेड भी मौके पर पहुंची और उसने आग पर काबू पाया। आग की घटना सुनकर पीजीआई के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एके गुप्ता और चीफ सिक्योरिटी ऑफिसर एसके शर्मा भी मौके पर पहुंचे।
पुरानी वायरिंग पर ज्यादा लोड
रिसर्च ब्लॉक बी मेंअभी भी पुरानी वायरिंग के सहारे बहुत से महकमे हैं। सूत्रों का कहना है कि जहां पर आग लगी है, वहां पर भी पुरानी वायरिंग ही है और उस पर एसी जैसा बहुत सा ओवरलोड है। चूंकि ये एसी बहुत पुराने हो चुके हैं ऐसे में इसमें कभी भी आग लगने या इनके फटने की संभावना बनी रहती है। पीआरओ मंजू वाडवलकर ने बताया कि शार्ट सर्किट की वजह से आग लगी थी।

इससे पहले भी लगी है आग
पीजीआई में आग लगने की वारदात इससे पहले भी हो चुकी हैं। दो साल पहले तो पीजीआई की इमरजेंसी के नीचे लगे ट्रांसफार्मर में ही आग लग गई थी। इसके अलावा गाइनी वार्ड के डक्टर मेें आग लगी। पीजीआई की इमरजेंसी में बने ऑपरेशन थिएटर में भी एसी में शार्ट सर्किट की वजह से आग लगी थी। डायरेक्टर ऑफिस के ऊपर बने हॉस्टल में भी आग की घटना से दहशत फैल चुकी है।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us