विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
इस काल भैरव जयंती पर कालभैरव मंदिर (दिल्ली) में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात : 19-नवंबर-2019
Astrology Services

इस काल भैरव जयंती पर कालभैरव मंदिर (दिल्ली) में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात : 19-नवंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

छत्तीसगढ़

मंगलवार, 12 नवंबर 2019

छत्तीसगढ़: कलेक्टर के घर से चोरों ने उड़ाए छह लाख 72 हजार के गहने और कीमती सामान

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में बेमेतरा की मौजूदा कलेक्टर शिखा राजपूत के घर से चोरी का मामला सामने आया है। कलेक्टर शिखा राजपूत के घर से चोरों ने छह लाख 72 हजार रुपये के माल पर हाथ साफ कर दिया।

इस मामले में कलेक्टर के पति राजीव लोचन तिवारी ने एफआईआर दर्ज करवाई है। एफआईआर के मुताबिक 27 अक्तूबर की सुबह परिवार दिवाली मनाने बेमेतरा गया। घर का काम देखने वाले अब्दुल कलाम नाम के शख्स ने शाम को करीबन 5.45 मकान के गेट का ताला खोल कर लाइट जलाई। बाद में वो खाना खाने के लिए चला गया।

जब वो वापस आया तो देखा कि घर में सबकुछ अजीब सा है। सामान इधर-उधर बिखरा हुआ है। ताला भी टूटा हुआ है। ये देख उसने कलेक्टर के पति के दोस्त को बुलाया। जिसके बाद पता चला कि घर में चोरी हो गई है। 

चोरों ने घर में रखे गहने, एटीएम कार्ड और एक पुराने मोबाइल पर हाथ साफ कर दिया। बाद में चोरों ने एटीएम कार्ड से पैसे भी निकाले। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है। बता दें जहां चोरी हुई उस इलाके में मंत्री, आईपीएस अधिकारी और आईएएस अधिकारियों के ही घर हैं।
... और पढ़ें

छत्तीसगढ़: गोवर्धन पूजा के मौके पर सीएम बघेल ने खुद को मरवाया चाबुक

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दिवाली के बाद आने वाले त्योहार गोवर्धन की पूजा की साथ ही अन्य पारंपरिक रीति-रिवाजों में भी हिस्सा लिया। राजधानी रायपुर स्थित सीएस आवास पर बघेल ने कलाकारों के साथ मिलकर पारंपरिक नृत्य राउत नाचा भी किया। इसके बाद बघेल दुर्ग के जंजगिरि पहुंचकर गौरा-गौरी पूजा में शामिल हुए।

कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री बघेल ने खुद को चाबुक से भी पिटवाया, लोक परंपरा के अनुसार इस तरीके से भगवान के प्रति अपनी आस्था प्रकट की जाती है। मुख्यमंत्री बघेल हर साल दिवाली के मौके पर इस पूजा में शामिल होने के लिए यहां आते हैं।

गौरा-गौरी पूजा करने के बाद मुख्यमंत्री बघेल राजधानी रायपुर पहुंचे और वगा अपने निवास पर उन्होंने विधिवत गोवर्धन पूजा की। बघेल इस मौके पर पारंपरिक परिधान धोती कुर्ते में नजर आए जहां बाद में उन्होंने कलाकारों के साथ मिलकर राउत नाचा किया, हाथ में डंडा लेकर दोहा पढ़ा और फिर काफी देर तक कलाकारों के साथ थिरकते रहे। प्रदेश में यह कार्यक्रम दिवाली के दूसरे दिन मनाया जाता है जिसमें यादव समुदाय के लोग राउत नाचा कर के गौठान दिवस मनाते हैं। 
... और पढ़ें

देश में माओवादी हिंसाओं में पिछले नौ वर्षों में गई 3,749 लोगों की जान

पिछले नौ सालों के दौरान दस राज्यों में नक्सली हिंसा में 3700 से अधिक लोग मारे गए हैं, इनमें सबसे अधिक जान छत्तीसगढ़ में गईं। गृह मंत्रालय ने वर्ष 2018-19 की अपनी रिपोर्ट में कहा है कि भाकपा (माओवादी) देश में विभिन्न वाम चरमपंथी संगठनों में सबसे ताकतवर संगठन है और वह 88 फीसदी से अधिक हिंसक घटनाओं एवं फलस्वरूप होने वाली मौतों के लिए जिम्मेदार है।

रिपोर्ट में कहा गया है, ‘बढ़ते नुकसान के बीच भाकपा (माओवादी) अंतर-राज्यीय सीमाओं पर नए क्षेत्रों में अपने पांव पसारने की कोशिश में जुटा है, लेकिन उसे कोई बड़ी सफलता हाथ नहीं लगी है।’ रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2010 से दस राज्यों में हिंसा की 10,660 घटनाओं में 3,749 लोगों की जाने गई हैं।

छत्तीसगढ़ में वर्ष 2010 से 2018 के बीच माओवादियों द्वारा अंजाम दी गई 3769 हिंसक घटनाओं में 1370 लोगों की मौत हुई। वहीं झारखंड में वाम चरमपंथ की 3,358 हिंसक घटनाओं में 997 लोग मारे गए जबकि बिहार में उसी दौरान 1526 ऐसी ही हिंसक वारदातों में 387 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी।

दस नक्सल प्रभावित राज्य छत्तीसगढ़, झारखंड, बिहार, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश हैं। सरकार द्वारा राष्ट्रीय नीति एवं कार्ययोजना से देश में वाम चरमपंथ के परिदृश्य में काफी सुधार आया है। पिछले पांच सालों में वाम चरमपंथ हिंसा में बहुत गिरावट आई है और वाम चरमपंथ का भौगोलिक प्रसार भी घटा है।
... और पढ़ें

अयोध्या: कारसेवा के दौरान पेट में लगी थी गोली, आज भीख मांगकर कर गुजार रहे जिंदगी

1990 में राम मंदिर बनाने के लिए देशभर से राम भक्त कारसेवक के रूप में अयोध्या पहुंचे थे। इन कारसेवकों में छत्तीसगढ़ के रहने वाले गेसराम चौहान भी शामिल थे। कारसेवा के दौरान उनको पेट पर गोली लगी थी। कई दिन अस्पताल में भर्ती रहने के बाद उनकी जान तो बच गई लेकिन जिस तरह की जिंदगी वो गुजार रहे हैं उसकी उन्होंने कभी कल्पना भी नहीं की होगी। 

1990 की कारसेवा में देश के चप्पे-चप्पे से रामभक्त अयोध्या पहुंचे थे। इस दौरान कारसेवा के लिए छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले से भी एक जत्था अयोध्या गया था। छत्तीसगढ़ के जत्थे में जिले की करतला तहसील के गांव चचिया निवासी गेसराम चौहान भी शामिल थे। 

गेसराम चौहान जब अयोध्या पहुंचे तो वहां की स्थिति काफी तनावपूर्ण थी। हालात बिगड़ते देख पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर गोलियां बरसानी शुरू कर दीं। इसी दौरान एक गोली गेसराम को पेट में जा लगी। 

गेसराम को अस्पताल में भर्ती कराया गया। वह कई दिन तक अस्पताल में भर्ती रहे। इलाज के बाद उनकी जिंदगी बच गई और वो वापस अपने घर चले गए। उसके बाद वह 1992 में भी कारसेवा में शामिल हुए। लेकिन आज गेसराम गुमनामी की जिंदगी गुजार रहे हैं। 

गेसराम की मजबूरी का आलम यह है कि वो भीख मांगकर किसी तरह अपना गुजर-बसर कर रहे हैं। जब गेसराम को पता चला कि राम मंदिर मामले में सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है और जल्द ही अयोध्या में भव्य मंदिर का निर्मांण होने वाला है तो गेसरम भावुक होकर रो पड़े। गेसराम ने बताया कि उनके एक किसान थे। पिता की मौत के बाद भाईयों ने संपत्ती हड़प ली और उन्हें इससे बेदखल कर दिया। 
... और पढ़ें
गेसराम चौहान (फाइल फोटो) गेसराम चौहान (फाइल फोटो)

छत्तीसगढ़ में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, नौ नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण

नक्सल प्रभावित छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है। सोमवार को नौ नक्सलियों ने हथियार डालकर आत्मसमर्पण किया। इनमें दो महिला नक्सली भी शामिल हैं। हथियार डालने वाले नक्सलियों ने कहा कि नक्सलियों द्वारा खोखली माओवाद की विचारधारा और हिंसा से निराश होकर उन्होंने आत्मसमर्पण करने का फैसला किया। 

आत्मसमर्पण करने वालों में स्वयंभू डिविजनल कमांडर गड्डो कृष्णा उर्फ बदरु (35) भी शामिल है। इस पर दस लाख का इनाम घोषित था। सुरक्षाबलों पर हुए कई आत्मघाती हमलों में बदरु कथित तौर पर शामिल था। साल 2009 में राजनांदगांव के मडवाना क्षेत्र में हुए नक्सली हमले जिसमें एसपी विनोद चौबे समेत कई पुलिस कर्मी भी मारे गए थे उसमें भी बदरु शामिल था।

वहीं दो नक्सली मदकम बोती,  डिप्टी कमांडर  (मछकोट के स्थानीय गोरिल्ला दल) मदकम मुके पोलापल्ली के स्थानीय संगठन के सदस्यों ने भी आत्मसमर्पण किया है। इन पर क्रमश: तीन लाख व एक लाख रुपये का इनाम घोषित था। 
... और पढ़ें

अमित शाह ने की छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल से फोन पर बात, कानून व्यवस्था की ली जानकारी

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से बात कर राज्य में कानून व्यवस्था की जानकारी ली। राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने आज यहां बताया कि अयोध्या पर शीर्ष अदालत के फैसले के बाद शाह ने आज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से दूरभाष पर बात की और राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति के बारे में जानकारी ली।

बघेल ने केन्द्रीय गृह मंत्री को बताया कि छत्तीसगढ़ में स्थिति शांतिपूर्ण है। राज्य सरकार पूरी तरह से चौकन्नी है। उन्होंने शाह को आश्वस्त किया कि शांति व्यवस्था कायम रहेगी, इसके लिए राज्य सरकार लगातार नजर रख रही है।
... और पढ़ें

भुवनेश्वर से मुंबई जा रही एयर इंडिया फ्लाइट की रायपुर में इमरजेंसी लैंडिंग

एयर इंडिया एआई 670 भुवनेश्वर-मुंबई प्लाइट की रायपुर में तकनीकी दिक्कतों की वजह से इमरजेंसी लैंडिंग करानी पड़ी। सभी 182 यात्री सुरक्षित हैं और इन्हें विमान से बाहर निकाल लिया गया है। इस विमान ने शाम 5 बजकर 6 मिनट पर भुवनेश्वर से उड़ान भरी थी। मामले की जांच की जा रही है। 
 




भवनेश्वर के बीजू पटनायक अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के निदेशक एससी होता ने बताया कि विमान को सुरक्षित उतार लिया गया है और सभी यात्री सुरक्षित हैं। उन्होंने कहा कि एयर इंडिया की फ्लाइट भुवनेश्वर से मुंबई जा रही थी। फ्लाइट के दो इंजनों में से एक के बंद हो जाने के बाद रायपुर में उसकी इमरजेंसी लैंडिंग करानी पड़ी। 
... और पढ़ें

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में विशाल आईईडी बरामद, हो सकता था बड़ा हादसा

एयर इंडिया फ्लाइट की रायपुर में इमरजेंसी लैंडिंग
छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा के कोंडासवाली इलाके में नक्सलियों द्वारा लगाए गए एक विशाल आईईडी का पता लगाया। आईईडी का पता लगाकर 231 बटालियन ने कई जानें बचाईं। अगर ये आईईडी धमाका हो गया होता तो बड़े स्तर पर जान-माल का नुकसान हो सकता था। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) ने ये जानकारी दी।
 




बता दें, छत्तीसगढ़ का कोंडासवाली इलाके में अक्सर नक्सली गतिविधियां होती रहती हैं। इस इलाके में कई बार सुरक्षा बलों की मुठभेड़ नक्सलियों से हो चुकी है। शुक्रवार को भी नक्सलियों द्वारा लगाए गए आईईडी बम का समय पर पता लगाकर उसे निष्क्रिय कर दिया गया। 
... और पढ़ें

सरकारी स्कूल के सात शिक्षकों की शर्मनाक हरकत, छात्राओं से छेड़छाड़ मामले में गिरफ्तार

छत्तीसगढ़ के बालूदा बाजार में सरकारी स्कूल के सात शिक्षकों को पुलिस ने शर्मनाक हरकत के आरोप में गिरफ्तार किया है। इन शिक्षकों पर कक्षा नौ की दो छात्राओं से छेड़छाड़ का आरोप है। पुलिस ने पॉक्सो अधिनियम में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

कसडोल पुलिस ने शुक्रवार को बताया कि उसने गुरुवार को देवेन्द्र खुंटे (38), रामेश्वर प्रसाद साहू (44), रूपनारायण साहू (36), महेश कुमार वर्मा (37), दिनेश कुमार साहू (38), चंदन दास बघेल (39) और लालराम बेरवंश को गिरफ्तार किया है। एसएचओ कसडोल दीनबंधु उइके ने बताया कि यह सभी शिक्षक मरदा गांव के सरकारी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में तैनात हैं।

उइके ने कहा कि जनवरी 2018 में खुंटे स्कूल की छात्राओं को पिकनिक पर ले गया था। आरोप है कि इसके बाद वह कथित रूप से इनमें से एक छात्रा को वह अपने घर ले गया और छेड़छाड़ की।

उन्होंने बताया कि दर्ज कराई गई शिकायत में रामेश्वर प्रसाद पर कथित तौर पर एक अन्य छात्रा के साथ फोन पर अश्लील बात करने, जबकि पांच अन्य आरोपियों पर कथित रूप से लड़कियों पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने का आरोप है।

उन्होंने कहा कि आरोप लगाया गया है कि जब भी पीड़ित छात्राओं ने इनके बारे में शिकायत करने की कोशिश की तो आरोपियों ने उन्हें परीक्षा में फेल करने की धमकी देकर चुप करा दिया। बीते गुरुवार दो पीड़ित छात्राओं के माता-पिता ने स्कूल प्रबंधन समिति की बैठक में इस मुद्दे को उठाया और प्रिंसिपल को इस बारे में सूचित किया।

एसएचओ उइके ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता, यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण (पॉक्सो) अधिनियम और अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचारों की रोकथाम) अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत दो अलग-अलग एफआईआर दर्ज की गई हैं।
... और पढ़ें

सुकमा: राइफल सफाई के दौरान अचानक चली गोली, सीआरपीएफ जवान घायल

फर्जी बिल दिखाकर लाखों के गबन को लेकर साईओ और लिपिक को कोर्ट ने सुनाई सजा

छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले में एक स्थानीय अदालत ने जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी (सीईओ) जुर्माने सहित को चार साल और लिपिक को दो साल की सजा सुनाई है। रायगढ़ जिले के अपर लोक अभियोजक ए.के.श्रीवास्तव ने गुरुवार को बताया कि अदालत ने भ्रष्टाचार के एक मामले में पुसौर, जनपद पंचायत के सीईओ जी.पी.पाण्डेय को 1.60 लाख के जुर्माने सहित चार साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई है। पाण्डेय पर फर्जी बिल के जरिए 10.65 लाख रुपए का गबन करने का आरोप था।
 
सीईओ पाण्डेय समेत अदालत ने जनपद पंचायत, पुसौर के लिपिक, सुभाष चंद बारिक को दो साल के कठोर कारावास के साथ 60 हजार रुपये का जुर्माने की सजा सुनाई है। पाण्डेय और बारिक के अलावा मामले में तीसरे आरोपी भृत्य शवेत कुमार यादव को सबूतों के अभाव में बरी कर दिया गया है। श्रीवास्तव ने बताया कि जनपद पंचायत, पुसौर के सीईओ पाण्डेय, लिपिक सुभाष चंद बारिक और भृत्य श्वेत कुमार यादव पर फर्जी बिलों के जरिए 77 ग्राम पंचायतों के नाम पर अगस्त 2014 में 10.65 लाख रुपए की पेंशन निकालकर गबन करने का आरोप था।

उन्होंने बताया कि सीईओ पाण्डेय ने अप्रत्यक्ष रूप से गबन करने के लिए भृत्य श्वेत कुमार यादव के नाम पर स्टेशनरी, फोटोकॉपी, माइक के भुगतान को लिए 5.83 लाख रुपए का चेक जारी किया था। जबकि सुभाष चंद के नाम पर टैंट के लिए 4.82 लाख रुपए का चेक जारी किया था। बाद में जांच में पाया गया कि 77 ग्राम पंचायतों में न कोई शिविर आयोजित किया गया था, न ही ग्राम पंचायतों के सचिवों को पेंशन की कोई राशि दी गई थी और ना ही कोई सामान खरीदा गया था।

श्रीवास्तव ने बताया कि इस मामले की शिकायत रमेश कुमार थवाईत ने की थी जिसके बाद कार्रवाई हुई। राज्य की आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो ने मामले की विस्तृत जांच कर तीनों आरोपियों के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा 13 (1) (सी), 13 (2) और भादवि की धारा 409, 420, 467, 468, 471, 120बी के तहत विशेष अदालत में नवंबर 2017 को अभियोग पत्र पेश किया।

इस मामले में 3.70 लाख रुपये के स्टेशनरी का फर्जी बिल देने वाले संजय साहू, 4.82 लाख रुपए का टैंट का फर्जी बिल देने वाले शोभनाथ और 1.50 लाख रुपए की फोटोकॉपी का फर्जी बिल देने वाले कार्तिक राम अभी भी फरार है।
... और पढ़ें

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में सीआरपीएफ का जवान शहीद

छत्तीसगढ़ में गुरुवार को नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में सीआरपीएफ का एक जवान शहीद हो गया। अधिकारियों ने बताया कि यह मुठभेड़ बीजापुर जिले के तोंगुड़ा-पामेड़ इलाके में तड़के चार बजे हुई।

उन्होंने बताया कि शहीद जवान कामता प्रसाद केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की 151वीं बटालियन से था। उसका दल, बल की कमांडो इकाई ‘कोबरा’ और राज्य पुलिस जंगलों में अभियान चला रही थी, तभी यह मुठभेड़ हुई। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में कामता प्रसाद गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्होंने बाद में, अस्पताल में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया।

अधिकारियों ने बताया कि गोलीबारी में कुछ नक्सलियों के मारे जाने का भी संदेह है। साथ ही उन्होंने बताया कि सुरक्षा बल तलाश अभियान चला रहे हैं।
 

नक्सली हमले में शहीद हुए जवान का नाम कमता प्रसाद हैं और वह उत्तर प्रदेश के कौशांबी के रहने वाले थे। कमता प्रसाद साल 2011 में सीआरपीएफ में भर्ती हुए थे। 

 
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
विज्ञापन