लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Chhattisgarh ›   three sadhus were beaten up on suspicion of child theft in the chhattisgarh durg

Chhattisgarh: दुर्ग में बच्चा चोरी के शक में तीन साधुओं की पिटाई, रास्ता भटक कर पहुंचे थे बस्ती में

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, भिलाई Published by: मोहनीश श्रीवास्तव Updated Thu, 06 Oct 2022 01:27 PM IST
सार

महाराष्ट्र के पालघर और सांगली जैसी वारदात छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में भी हुई है। यहां भी बच्चा चोरी के शक में साधुओं की बेरहमी से पिटाई की गई। समय रहते अगर बीच-बचाव नहीं किया जाता तो तीनों साधुओं को लोग मार देते। 
 

भिलाई में बच्चा चोरी के शक में लोगों ने तीन साधुओं की बेरहमी से पिटाई की।
भिलाई में बच्चा चोरी के शक में लोगों ने तीन साधुओं की बेरहमी से पिटाई की। - फोटो : संवाद न्यूज एजेंसी
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

महाराष्ट्र के बाद अब छत्तीसगढ़ में बच्चा चोरी के शक में साधुओं की पिटाई की गई। भिलाई में कुछ लोगों ने भगवा वस्त्रधारी तीन साधुओं को इतनी बेरहमी से पीटा कि तीनों खून से लथपथ हो गए। बताया जा रहा है कि तीनों साधु रास्ता भटक कर बस्ती में पहुंच गए थे। सूचना मिलने पर पुलिस ने किसी तरह साधुओं को वहां से बचाकर निकाला। इस मामले में भिलाई-3 पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ FIR दर्ज की है।


जानकारी के मुताबिक, दुर्ग जिले के भिलाई-3 क्षेत्र के पंडितों को चरोदा बस्ती में तीन साधु पहुंच गए। भगवा वस्त्र में साधुओं को देख बस्ती के कुछ युवकों ने उन्हें रोक लिया और बच्चा चोर बताते हुए पिटाई शुरू कर दी। युवकों ने साधुओं को ऑटो से बाहर खींचने का प्रयास किया और पीटते रहे। इसके चलते साधु लहूलुहान हो गए। सूचना मिलने पर पुलिस भी पहुंची और उन्हें किसी तरह से बचाया। 







घटना का वीडियो वायरल होने के बाद एक्शन में पुलिस
घटना बुधवार सुबह करीब 11-12 बजे की बताई जा रही है। पिटाई के चलते साधुओं का सिर तक फट गया। उनके चेहरे, हाथ और पैर में चोटें आई हैं। पुलिस ने साधुओं के साथ हुई इस वारदात को दबा दिया था, लेकिन अगले दिन गुरुवार को पिटाई का वीडियो वायरल हो गया। इसके बाद जिले में हड़कंप मच गया। बताया जा रहा है कि मामला दर्ज नहीं करने पर SP डॉ. अभिषेक पल्लव ने थाना प्रभारी को फटकार भी लगाई। 

किराये पर रहते हैं, भीख मांगकर करते थे गुजारा
बताया जा रहा है कि तीनों साधुओं का नाम राजबीर सिंह, अमन सिंह और श्याम सिंह है। तीन रेलवे क्षेत्र चरोदा में काफी समय से किराए का मकान लेकर रह रहे थे और भीख मांगकर जीवन यापन करते थे। बताया जा रहा है कि कुछ लोग दशहरा पार्टी कर रहे थे। उन्होंने साधुओं को जाता देखा तो बच्चा चोर कहकर रोक लिया और शराब के नशे में पीटने लगे। धीरे धीरे भीड़ जुट गई और सभी उनकी पिटाई में शामिल हो गए। 



वीडियो से आरोपियों की पहचान की जा रही
इसके बाद दुर्ग SP डॉ. अभिषेक पल्लव ने कहा कि बच्चा चोर होने की सिर्फ अफवाह है। इस पर ध्यान न दें। उन्होंने बताया कि साधुओं की पिटाई बच्चा चोरी के शक में बस्ती वालों ने की है। अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। अब वीडियो से पहचान करने का प्रयास किया जा रहा है। इसके लिए पूछताछ जारी है। आरोपियों को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।
विज्ञापन

SP बोले- साधुओं के पास से कोई आईडी नहीं मिली
SP डॉ. पल्लव ने बताया कि साधु वेश में तीन लोग बुधवार को घूम रहे थे। तीनों लोगों के पास से कोई आईडी नहीं मिली है। हालांकि वह खुद को राजस्थान के अलवर का रहने वाला बता रहे हैं। अस्पताल में उपचार कराने के बाद उनसे पूछताछ की जा रही है। उन्होंने लोगों से भी अपील की है कि अफवाहों पर ध्यान न दें। अगर किसी पर संदेह है तो उसे पकड़ कर पुलिस को सोंपे। खुद किसी से मारपीट न करें। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00