महाशिवरात्रि 2018: छत्तीसगढ़ का 'काशी' और बढ़ने वाले शिवलिंग के बारे में जानें

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, रायपुर Updated Tue, 13 Feb 2018 10:06 AM IST
maha shivratri 2018:knows facts about chhattisgarh kashi shiv temple and the biggest shivling
लक्ष्मणेश्वर मंदिर
लक्ष्मणेश्वर मंदिर 
लक्ष्मणेश्वर मंदिर को छत्तीसगढ़ का काशी भी कहा जाता है। मान्यता है कि रावण के संहार के बाद लक्ष्मण जी ने रामचंद्र जी से इस मंदिर की स्थापना करवाई थी। मंदिर के गर्भगृह में लक्ष्मण जी द्वारा स्थापित लक्ष्यलिंग मौजूद है। इस मंदिर को लखेश्वर महादेव भी कहा जाता है क्योंकि इसमें एक लाख लिंग मौजूद हैं।

इस मंदिर में एक पातालगामी लक्ष्य छिद्र है जिसमें जितना भी जल डाला जाए वह उसमें समाहित हो जाता है। इन छिद्रों में एक ऐसा छिद्र भी है जिसमें हमेशा जल भरा रहता है। इसे अक्षय कुंड कहते हैं। 

छत्तीसगढ़ में लखेश्वर महादेव मंदिर में बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचते हैं और उनकी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। कहा जाता है कि भगवान राम ने इस जगह खर और दूषण नाम के राक्षसों का संहार किया था इसलिए यह जगह खरौद ने नाम से मशहूर हुई। 
आगे पढ़ें

वह शिवलिंग जिसका आकार बढ़ रहा है

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Meerut

मौलाना तौकीर बोले- बिना इजाजत मुझे बनाया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड का सदस्य

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड में अभी मौलाना सलमान नदवी का मामला ठंडा भी नहीं पड़ा कि फिर से नया विवाद खड़ा हो गया। जानिए पूरा मामला...

20 फरवरी 2018

Related Videos

रमन सिंह की नींद हुई हराम, रात को लगाने पड़ रहे हैं पैग: कांग्रेस नेता

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव से ठीक पहले राज्य में बयानबाजी का दौर शुरू हो गया है। राज्य में कांग्रेस के आदिवासी नेता और विधायक कवासी लखमा ने राज्य के मुख्यमंत्री रमन सिंह को लेकर विवादित बयान दिया है।

16 फरवरी 2018

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen