विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
फ्री में पाएं अपनी जन्म कुण्डली और बनाएं अपने जीवन को आसान
Kundali

फ्री में पाएं अपनी जन्म कुण्डली और बनाएं अपने जीवन को आसान

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

चंडीगढ़ के खजाने पर कोरोना की मार, अब तक प्रशासन को 342 करोड़ का नुकसान

लॉकडाउन की वजह से बड़े पैमाने पर लोगों के कामकाज चौपट हो गए हैं। इस वायरस ने चंडीगढ़ प्रशासन को भी आर्थिक तौर पर बड़ा झटका दिया है। अप्रैल और मई महीने में लगे संपूर्ण लॉकडाउन की वजह से चंडीगढ़ प्रशासन को टैक्स कलेक्शन में 342 करोड़ का घाटा लगा है। इस नुकसान का असर प्रशासन के प्रोजेक्ट पर भी देखने को मिल सकता है।

गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी), एक्साइज और वैल्यू एडिड टैक्स (वैट) चंडीगढ़ प्रशासन के खजाने को भरने में अहम भूमिका निभाते हैं, लेकिन लॉकडाउन की वजह से बड़ा असर भी इन्हीं पर पड़ा है। जीएसटी, एक्साइज और वैट कलेक्शन में पिछले साल के मुकाबले इस साल कुल 71 फीसदी की कमी आई है। 


यह भी पढ़ें-
तस्वीरें: प्रेमी की मौत सह नई पाई प्रेमिका, ठीक वैसे ही सीढ़ी में फंदा लगा जान दी

वहीं, सिर्फ जीएसटी कलेक्शन में पिछले साल (अप्रैल-मई) के मुकाबले 75 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई। पिछले साल अप्रैल और मई महीने में जीएसटी का कलेक्शन करीब 230.5 करोड रुपये था, जबकि इस बार सिर्फ 57 करोड़ ही आया है। एक्साइज में पिछले साल के मुकाबले 69 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। पिछले साल अप्रैल-मई के महीने में 160 करोड़ रुपये एक्साइज वसूला गया था लेकिन इस बार सिर्फ 50 करोड़ ही वसूला जा सका है। 
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर। सांकेतिक तस्वीर।

राजस्थान शिक्षा बोर्ड ने महाराणा प्रताप से जुड़े तथ्यों से की छेड़छाड़, पंजाब के राज्यपाल ने दर्ज कराया विरोध

राजस्थान के गौरवशाली इतिहास से छेड़छाड़ को लेकर एकबार फिर क्षत्रिय समाज उद्धेलित है। इस बार विरोध राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा 2017 से चली आ रही कक्षा दसवीं व बाहरवीं की इतिहास की पुस्तकों में किए गए त्रुटिपूर्ण बदलाव का है। आरोप यह है कि इनमें हल्दीघाटी के युद्ध से जुड़े ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ की गई है। इस युद्ध में अकबर की सेना से महाराणा प्रताप की पराजय होना साबित किया गया है, जबकि तीन साल से चल रही इन पाठ्य पुस्तकों में इतिहासकारों के हवाले से हल्दीघाटी युद्ध में अकबर की सेना की असफलता वर्णित की गई थी।

इस ताजा विवाद में अब पंजाब के राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर भी विरोध में उतर आए हैं। उन्होंने राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र को पत्र लिखकर मांग की है कि वे इतिहासकारों और शिक्षाविदों की एक उच्चस्तरीय कमेटी बनाएं और इतिहास का उपहास उड़ाने वाली इन गलतियों को सुधरवाएं।

बदनौर ने राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की कक्षा दसवीं व बाहरवीं की इतिहास की पुस्तकों में मेवाड़ के महाराणा उदयसिंह को बनवीर का हत्यारा बताने और महाराणा प्रताप-अकबर के बीच हुए विश्व प्रसिद्ध हल्दीघाटी युद्ध के ऐतिहासिक तथ्यों को तोड़मरोड़ कर प्रकाशित करने पर गंभीर नाराजगी जताई है। राज्यपाल बदनौर खुद राजस्थान में एक रजवाड़े के मुखिया हैं।
... और पढ़ें

हरियाणा और दिल्ली एनसीआर में भूकंप के झटके, रेवाड़ी में भी डोली धरती

हरियाणा और दिल्ली एनसीआर में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। भूकंप की तीव्रता 4.5 मापी गई है। रेवाड़ी में ठीक शाम 7:00 बजे भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए हैं। बता दे कि गांव राजपुरा खालसा में ज्यादा झटके महसूस किए गए हैं। ग्रामीणों का कहना है कि तेज आवाज के साथ कंपन महसूस किया गए हैं। इसके अलावा उत्तर प्रदेश और राजस्थान के कई जिलों में ये झटके महसूस किए गए हैं।

लगातार रोहतक में डोल रही धरती
बता दें कि इससे पहले ही हरियाणा के रोहतक में लगातार कई दिन भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। इससे पहले रोहतक और आस-पास के क्षेत्र में26 जून दोपहर 3 बजकर 32 मिनट पर भूकंप का झटका महसूस किया गया था। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 2.8 रही थी। भूकंप का केंद्र महेंद्रगढ़-देहरादून फॉल्ट लाइन के पास रोहतक शहर से 17 किलोमीटर दूर अटायल गांव के पास रहा था।


यह भी पढ़ें-
तस्वीरें: प्रेमी की मौत सह नई पाई प्रेमिका, ठीक वैसे ही सीढ़ी में फंदा लगा जान दी

हलचल जमीन में दस किलोमीटर नीचे दर्ज की गई थी। रोहतक से गुजर रही महेंद्रगढ़-देहरादून फॉल्ट लाइन के नजदीक लगातार आ रहे भूकंपों पर राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र की भी नजर है। रोहतक में पिछले तीन दिन से लगातार भूकंप के झटके महसूस किए गए, 24 जून को 2.8, 25 जून को 2.2 और 26 जून को 2.8 तीव्रता के साथ धरती हिली।
... और पढ़ें

राहत भरी खबर, चंडीगढ़ में शनिवार से सक्रिय हो रहा मानसून, तीन दिन लगातार बारिश के आसार

समय से पहले पहुंचने के बावजूद मानसून ने ट्राइसिटी को निराश किया है। शहरवासी बारिश के लिए तरस गए हैं। वीरवार को बारिश हुई, मगर उसके बाद हुई उमस से लोग काफी परेशान दिखे। तापमान भी सामान्य से ज्यादा दर्ज किए जा रहे हैं। हालांकि, अब मौसम में बदलाव की झलक दिख रही है। अब तक उत्तर भारत में निष्क्रिय चल रहे मानसून के सक्रिय होने के आसार बन रहे हैं।

मौसम विशेषज्ञों ने बताया कि मानसून की टर्फ रेखा अब दक्षिण से उत्तर की ओर शिफ्ट होगी। साथ ही पूर्वी यूपी की ओर से एक साइक्लोनिक सरकुलेशन बनी हुई है, जो मानसून की टर्फ रेखा को शिफ्ट करने में सपोर्ट करेगी। इसके असर से पूरे उत्तर भारत में बारिश के आसार बनेंगे। चार जुलाई से बारिश का क्रम जारी होगा, जो सात तक जारी रहेगा।

मौसम विभाग के मुताबिक 24 जून को मानसून चंडीगढ़ में दाखिल हो गया था। उसके बाद न तो बारिश हुई और न ही तापमान कम हुए, बल्कि उमस और बढ़ गई। बीच में एक दो बार बादल आए, लेकिन बिना बरसे आगे निकल गए। वीरवार सुबह फिर से बादल छाए। इस बार कुछ जगहों पर बारिश भी हुई, लेकिन कुछ ही देर बादल छंट गए और धूप भी निकल आई।

इससे हवा में नमी बढ़ गई। वीरवार को हवा में नमी की अधिकतम मात्रा 73 फीसदी और न्यूनतम मात्रा 53 फीसदी रिकार्ड की गई। अधिकतम तापमान 37.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से दो डिग्री और न्यूनतम तापमान 29.1 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड हुआ, जो सामान्य से पांच डिग्री ज्यादा रहा।

हालांकि, अगले 24 से 36 घंटे मौसम में कुछ खास बदलाव नहीं होंगे, मगर चार जुलाई से मानसून सक्रिय होने की पूरी संभावना है। इससे चंडीगढ़ सहित हरियाणा, पंजाब में भी बारिश होने के आसार है। मौसम विभाग की ओर से जारी मीडिया बुलेटिन में बताया गया है कि चार जुलाई से लेकर सात जुलाई तक रुक-रुक बारिश होती रहेगी। इससे तापमान भी नीचे आएगा।
... और पढ़ें

चीन को बड़ा झटका: हीरो साइकिल ने रद्द किया 900 करोड़ का ऑर्डर, जर्मनी बना विकल्प

फाइल फोटो
गलवां में चीन के साथ हिंसक झड़प के बाद मोदी सरकार ने डिजिटल स्ट्राइक कर 59 चाइनीज एप को बंद कर दिया है। वहीं हीरो साइकिल भी चीन को झटका देने के लिए तैयार है। हीरो साइकिल के एमडी पंकज मुंजाल ने चीन के साथ 900 करोड़ का व्यापार रद्द करने की बात कही है। मुंजाल की इस घोषणा को सीधे चीन पर ट्रेड स्ट्राइक माना जा रहा है।

बता दें कि हीरो साइकिल की तरफ से हाईएंड साइकिल निर्माण के लिए चीन से काफी पार्ट्स आयात किए जाते हैं। सूत्रों के अनुसार हर साल लगभग 300 करोड़ का कारोबार चीन के साथ होता है। अभी चीन से लगभग 900 करोड़ रुपये के पार्ट्स खरीदे जाने थे। इससे पहले हीरो साइकिल ने ट्रेड स्ट्राइक करते इस व्यापार को रद्द कर दिया है। 


यह भी पढ़ें-
तस्वीरें: प्रेमी की मौत सह नई पाई प्रेमिका, ठीक वैसे ही सीढ़ी में फंदा लगा जान दी

एमडी पंकज मुंजाल ने बताया कि हीरो साइकिल ने यह बड़ा अहम फैसला लिया है। चीन से हर साल हम 300 करोड़ रुपये का कारोबार करते हैं, उन्हें तीन या चार साल का एक साथ कांट्रैक्ट देते हैं। इस समय 900 करोड़ के ऑर्डर चीन को दिए गए थे, जिन्हें हीरो ने रद्द कर दिया है। इन पार्ट्स को जर्मनी में तैयार किया जाएगा। कोविड-19 के दौरान जर्मनी में इनके डिजाइन तैयार हो चुके हैं। 

लेबर अभी वापस नहीं आना चाहती
मुंजाल ने कहा कि लॉकडाउन के बाद साइकिल की डिमांड बढ़ी है। जिम बंद हैं, इसलिए साइकिल फिटनेस के लिए अच्छी पसंद है। जुलाई के दौरान हीरो चार लाख डोमेस्टिक व्हीकल तैयार करेगा। अगर लोकल मार्केट की बात करे तो हमारे टीयर टू सप्लायर के पास अभी मजदूरों की कमी है। मजदूर अभी वापस आना भी नहीं चाह रहे हैं, क्योंकि उन्हें फिर से लॉकडाउन होने का डर सता रहा है। गांव धनांसू में बनने जा रही हीरो साइकिल वैली 15 दिसंबर तक तैयार हो जाएगी।
... और पढ़ें

फरमानः पालतू कुत्ते ने चंडीगढ़ में खुले में शौच किया तो लगेगा जुर्माना, रजिस्ट्रेशन का नया नियम

यूटी प्रशासन ने वीरवार को नगर निगम के संशोधित डॉग बायलॉज-2010 को मंजूरी दे दी है। इसके साथ अब पेट डॉग रजिस्ट्रेशन फीस भी बढ़ा दी गई है। रजिस्ट्रेशन फीस अब 200 की जगह 500 रुपये देने होंगे। इसके अलावा पेट डॉग को खुले में शौच करवाने पर मालिक पर जुर्माना लगाया जाएगा।

नगर निगम सदन ने 2018 में यह प्रस्ताव पास किया था, लेकिन अब जाकर यह शहर में लागू होगा। शहर में अधिकतर लोग अपने डॉग को पार्क और सड़कों के किनारे ही घुमाते हैं। डॉग को घुमाने के समय ही वह शौच करते हैं। इससे शहर में गंदगी फैलती है। शहर में अब यदि कोई डॉग को खुले में कहीं भी शौच करवाते पकड़ा गया तो 5500 रुपये जुर्माना लगेगा।

जुर्माना नहीं भरने पर पानी के बिल में जोड़कर इसे भेज दिया जाएगा। जुर्माने की राशि नगर निगम वसूल करेगा। पहले यह मार्च में लागू होना था, लेकिन लॉकडाउन की वजह से इसे कुछ समय के लिए टाल दिया गया था।

नियमों के अनुसार डॉग को सुखना लेक, रोज गार्डन, शांतिकुंज, रॉक गार्डन, लेजर वैली व अन्य इसी तरह के गार्डन में लेकर नहीं जा सकते हैं। ऑनर की ओर से अपने डॉग को पूरे कंट्रोल में रखा जाएगा, ताकि ये किसी को नुकसान न पहुंचाएं। अगर ऐसा होता है तो पीड़ित को मुआवजा देने की पूरी जिम्मेदारी मालिक की होगी। इसके अलावा प्रशासन ने कॉर्मिशयल पर्पज के लिए डॉग ब्रीडिंग और ट्रेड पर भी रोक लगा रखी है।

रजिस्ट्रेशन नहीं कराने पर 5000 रुपये जुर्माना
नए डॉग बायलॉज में डॉग का रजिस्ट्रेशन नहीं कराने पर फाइन को 500 से बढ़ाकर सीधे 5 हजार कर दिया गया है। इसके बाद भी अगर कोई ऐसा नहीं करता तो प्रतिदिन 200 रुपये अलग से चुकाने होंगे। पहले यह 20 रुपये थे। इसके बाद भी किसी ने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया तो डॉग को निगम की टीम अपने पास रखेगी।

इसके साथ ही ऑनर से इसके बदले प्रतिदिन 1000 रुपये मेंटीनेंस चार्जेस वसूल किए जाएंगे। पहले मेंटीनेंस चार्जेस 100 रुपये प्रतिदिन था। सात दिनों तक मालिक डॉग को नहीं ले जाता तो इसे ओपन सेल में बेच दिया जाएगा। गौरतलब है कि चंडीगढ़ में इस समय 10 हजार से अधिक पेट डॉग्स हैं और लगभग हर साल एक हजार नए डॉग्स का रजिस्ट्रेशन होता है।
... और पढ़ें

कोरोना संक्रमण से मरने वालों की अस्थियां लेने से परिजनों का इंकार, आत्मा को मुक्ति का इंतजार

टू व्हीलर या गाड़ी के लिए फैंसी नंबर चाहिए तो नीलामी का हिस्सा बनें, जल्दी रजिस्ट्रेशन कराएं

रजिस्ट्रेशन एंड लाइसेंसिंग अथॉरिटी (आरएलए) अपनी नई सीरिज सीएच01-सीबी के फैंसी नंबरों की नीलामी करने जा रहा है। इसके लिए पहले पंजीकरण कराना होगा, जिसकी प्रक्रिया चार जुलाई (शनिवार) से शुरू होकर 13 जुलाई तक चलेगी। इसके बाद 14 जुलाई से ऑनलाइन बोली शुरू होगी। फाइनल बोली 16 जुलाई को लगाई जा सकेगी।

आरएलए नए नंबरों के साथ पुराने बचे फैंसी नंबरों की भी नीलामी करेगा। विभाग को यह नीलामी काफी पहले ही करनी थी लेकिन लॉकडाउन की वजह से इसकी तिथि को आगे बढ़ा दिया गया। पुराने बचे नंबरों में सीएच01-सीए, सीएच01-बीजेड, सीएच01-बीवाई, सीएच01-बीए क्स, सीएच01-बीडब्ल्यू, सीएच01-बीवी, सीएच01-बीयू, सीएच01-बीटी और सीएच01-बीएस सीरीज के नंबर शामिल हैं।

पिछली बार विभाग को सीएच01-सीए सीरीज के लिए अच्छा रिस्पांस मिला था। वाहन चालकों को नीलामी में भाग लेने के लिए अपने आपको को नेशनल ट्रांसपोर्ट की वेबसाइट पर जाकर रजिस्टर्ड करना होगा, जिसका चंडीगढ़ ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट की वेबसाइट पर लिंक उपलब्ध है। इसके बाद ही वह वहां से यूएएन नंबर प्राप्त कर सकते हैं।

सिर्फ चंडीगढ़वासी ही ऑक्शन में ले सकेंगे हिस्सा
जिन लोगों ने चंडीगढ़ एड्रेस पर अपना वाहन खरीदा है, केवल वही लोग निलामी में भाग ले सकते हैं। दूसरे राज्यों के एड्रेस से वाहन खरीदने वाले लोग इस नीलामी में भाग नहीं ले सकते हैं। नीलामी में भाग लेने के लिए सेल लेटर, फार्म नंबर 21 और आधार कार्ड अनिवार्य है।

नीलामी में भाग लेने के लिए रजिस्ट्रेशन फीस व पसंदीदा नंबर का रिजर्व प्राइज सेक्टर-17 स्थित आरएलए ऑफिस में डिमांड ड्राफ्ट के रूप में जमा करवाया जा सकता है। नीलामी को लेकर टर्म एंड कंडीशन्स चंडीगढ़ ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट की वेबसाइट पर उपलब्ध है। अगर इस संबंध में लोगों की कोई भी जांच होती है तो वह आरएलए ऑफिस में संपर्क कर सकते हैं।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us