विज्ञापन
विज्ञापन

कहानी उस अफसर की, जो गोलीबारी के साए में पढ़ा और आईएएस बना, नामुमकिन को मुमकिन कर दिखाया

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Tue, 25 Jun 2019 06:28 PM IST
BL sharma
BL sharma - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें
मैं लोहे को फौलाद बना दूंगा,
विज्ञापन
मैं फाख्ता (घुघु) को शाहीं (बाज) से लड़ा दूंगा।
नवाजूंगा गरीबों को इल्म की दौलत से,
फतह हो जिनके कदमों में वो लश्कर बना दूंगा॥

यह पंक्तियां चंडीगढ़ के एजुकेशन सेक्रेटरी बीएल शर्मा ने डिपार्टमेंट के टीचर्स का हौसला बढ़ाने को लिखीं हैं। किसान परिवार से संबंध रखने वाले बीएल शर्मा का जीवन काफी संघर्ष वाला रहा है। बचपन पाकिस्तान बॉर्डर से सटे जम्मू कश्मीर के पुंछ में गुजरा। जहां गोलाबारी रोजमर्रा की बात है।

माता-पिता अशिक्षित थे, गाइड करने वाला कोई नहीं था। बावजूद इसके सभी मुश्किलों को पार कर वह आईएएस ऑफिसर बनें। करियर भी आसान नहीं रहा। 32 साल के करियर में 20 के करीब ट्रांसफर हुए। कई बार मुख्यमंत्री से ठनी तो ट्रांसफर कर दिया गया लेकिन समझौता कभी नहीं किया। शर्मा उर्दू-पर्शियन और पंजाबी में कविताएं भी लिखते हैं। पेश है बातचीत के कुछ अंश...

सवाल: किन परिस्थितियों से गुजर कर पढ़ाई की और यह मुकाम हासिल किया?
जवाब: मैं जम्मू के पुंछ जिले से हूं। वहां माहौल काफी तनावपूर्ण रहते थे। माता-पिता अशिक्षित थे। पिता खेती करते थे। ग्रेजुएशन तक की पढ़ाई जम्मू में ही की। ग्रेजुएशन तक 6 किमी पैदल चलकर स्कूल जाना पड़ता था। स्कूल लकड़ी का बना हुआ था। पानी पीने के लिए भी एक किमी दूर जाना पड़ता था।

स्कूल से आने के बाद पिता के साथ खेती में हाथ बंटाता था। ऐसे ही दिन गुजरता था। मैं आज जो कुछ भी हूं, अपनी मां की वजह से हूं। उन्होंने मेरा हर कदम पर साथ दिया। मेरी पूरी जिंदगी काफी जद्दोजहद में गुजरी है लेकिन हर मुश्किल समय में मेरी मां, पत्नी और बेटे साथ खड़े रहे।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

सवाल: बचपन से क्या बनना चाहते थे? क्या आईएएस ऑफिसर बनना की लक्ष्य था?

विज्ञापन

Recommended

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Dehradun

53 दिन में लिख डाले 48 हजार मैजिक पजल्स, इंफिनिटी बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हुआ नाम

उत्तराखंड के बागेश्वर जिले के ऐठाण गांव निवासी हरिमोहन सिंह ऐठानी ने इंफिनिटी बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज करवाया है।

14 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

MAMI Film Festival में दिखा दीपिका पादुकोण का दिलकश अंदाज, रेड कार्पेट पर खूब दिए पोज

21st जिओ मामी फिल्म फेस्टिवल में दीपिका एक बार फिर बेहद स्टाइलिश नजर आईं। वन शोल्डर गाउन में दीपिका बेहद खूबसूरत लग रही थीं।

14 अक्टूबर 2019

Related

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree