लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Chandigarh ›   Story of Deepak Tinu escaped from police custody

बड़ा खुलासा: सोता रहा CIA प्रभारी, माशूका के साथ भाग गया दीपक टीनू, पुलिस पर खड़े हुए कई सवाल

अमर उजाला/संवाद, जालंधर/बठिंडा (पंजाब) Published by: ajay kumar Updated Sun, 02 Oct 2022 10:39 PM IST
सार

शनिवार देर रात जब सीआईए प्रभारी प्रितपाल सिंह गहरी नींद में सो गए तब वह अपनी प्रेमिका के साथ गेस्ट हाउस से निकला और पहले से ही तय स्थान पर खड़ी अपने दोस्तों की गाड़ी से फरार हो गया। 

मूसेवाला मर्डर केस का आरोपी गैंगस्टर दीपक टीनू फरार।
मूसेवाला मर्डर केस का आरोपी गैंगस्टर दीपक टीनू फरार। - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

कुख्यात गैंगस्टर दीपक टीनू पूरी योजना के साथ फरार हुआ। सीआईए प्रभारी से पहले उसने निकटता बढ़ाई। इसके बाद उन्हें अपने भरोसे में ले लिया। इसी का फायदा उठाकर शनिवार रात वह झुनीर के गेस्ट हाउस से अपनी माशूका के साथ फरार हो गया जबकि दूसरे कमरे में सीआईए प्रभारी प्रितपाल सिंह सोते रह गए। 



उच्च पदस्थ सूत्रों का कहना है कि टीनू पर प्रितपाल सिंह की मेहरबानी के पीछे एक बड़ा प्रलोभन था। इसी कारण सीआईए प्रभारी इतना बड़ा खतरा उठा रहे थे। झुनीर के जिस गेस्ट हाउस में टीनू को ले जाया जाता था, वहां उसकी प्रेमिका भी साथ होती थी। प्रितपाल सिंह ने टीनू को मोबाइल भी मुहैया करा रखा था। 


शनिवार रात को भी जब टीनू को लेकर प्रितपाल सिंह गेस्ट हाउस पहुंचे तो प्रेमिका भी साथ थी। वह दोनों एक कमरे में रुके जबकि प्रितपाल सिंह दूसरे कमरे में चले गए। असल में टीनू यहां पूरी योजना के साथ पहुंचा था। उसने अपने भागने की योजना दो दिन पहले ही बना ली थी। उसने फोन करके अपने दोस्तों को मानसा में एक जगह गाड़ी लेकर खड़े रहने को कह दिया था। शनिवार देर रात जब सीआईए प्रभारी प्रितपाल सिंह गहरी नींद में सो गए तब वह अपनी प्रेमिका के साथ गेस्ट हाउस से निकला और पहले से ही तय स्थान पर खड़ी अपने दोस्तों की गाड़ी से फरार हो गया। 

जानकारी के अनुसार, यह गेस्ट हाउस मानसा से करीब 25 किलोमीटर दूर झुनीर में एक बैंक के ऊपर बना है। प्रितपाल सिंह यहां अक्सर पार्टी करने आते रहते थे। शनिवार रात 11 बजे प्रितपाल सिंह ब्रेजा गाड़ी से उसे लेकर यहां पहुंचे थे। दीपक टीनू को 27 सितंबर को गोइंदवाल जेल से सीआईए स्टाफ के इंस्पेक्टर प्रितपाल सिंह कस्टडी पर लाए थे। 

महज छह दिन उनकी टीनू से इतनी घनिष्ठता हो गई कि वह उसे अपने घर भी ले गए। इस खतरनाक अपराधी की उन्होंने होटल में रखकर खूब सेवा की। अधिकारी जांच में जुटे हैं कि आखिर क्या वजह थी कि एक अपराधी को प्रितपाल सिंह यूं खुलेआम लेकर घूम रहे थे। इसके पीछे कोई बड़ा प्रलोभन तो नहीं था। सूत्रों का यह भी कहना है कि लॉरेंस का गैंग बहुत मजबूत और विशाल को चुका है। यह भी हो सकता है कि टीनू को फरार कराने के लिए कोई बड़ी डील हुई हो। 

लापरवाही पर अन्य पुलिसकर्मियों पर होगी कार्रवाई
रविवार शाम को एंटी गैंगस्टर फोर्स के एआईजी गुरमीत सिंह चौहान, एसएसपी गौरव तूरा ने सांझा प्रेसवार्ता के दौरान बताया कि उक्त पूरे मामले की गहराई से जांच चल रही है। किसी अन्य मुलाजिम की मिलीभगत आई तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। सीआईए प्रभारी प्रितपाल सिंह और आरोपी दीपक टीनू के खिलाफ थाना सिटी मानसा में केस दर्ज किया गया है। रविवार को हरियाणा सीमा पर दीपक टीनू का एनकाउंटर किए जाने संबंधी चल रही सूचनाओं को उक्त पुलिस अधिकारियों ने सिरे से नकार दिया।

मूसेवाला के माता-पिता बोले- पंजाब सरकार व पुलिस से संतुष्ट नहीं
दिवंगत गायक सिद्धू मूसेवाला की माता चरण कौर और पिता बलकौर सिंह ने कहा है कि वह पंजाब सरकार और पुलिस जांच से संतुष्ट नहीं हैं। कुख्यात अपराधी का यूं फरार हो जाना साबित करता है कि पंजाब पुलिस किस हद तक इनसे मिली हुई है। पंजाब सरकार और पंजाब पुलिस के बड़े अधिकारियों को जवाब देना चाहिए।
विज्ञापन

खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00