विज्ञापन
विज्ञापन

पंजाब यूनिवर्सिटी में वरिष्ठता का मानक खत्म हुआ, वीसी ने पहली बार अपने विवेक से बनाए वार्डन

सुशील कुमार, अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Fri, 14 Jun 2019 01:37 PM IST
पंजाब यूनिवर्सिटी कैंपस
पंजाब यूनिवर्सिटी कैंपस - फोटो : file photo
ख़बर सुनें
पंजाब यूनिवर्सिटी में वार्डन की तैनाती के लिए सिंडिकेट की ओर से बनाया गया वरिष्ठता का मानक खत्म कर दिया गया है। पहली बार किसी वाइस चांसलर ने अपने विवेक का प्रयोग करते हुए तीन वार्डन के नामों पर मुहर लगाई है। वीसी प्रो. राजकुमार के इस निर्णय से सिंडिकेट के एक पक्ष को बड़ा धक्का लगा है। माना जा रहा है कि अब तक सिंडिकेट ने जो तय कर दिया वही मान्य होता था चाहे वह पीयू कैलेंडर के खिलाफ ही क्यों ना हो, लेकिन इस बार वही हुआ जो पीयू कैलेंडर में लिखा था।
विज्ञापन
नए वार्डन के लिए प्रोफेसर डॉ. अरुण ठाकुर, डॉ. विशाल शर्मा और डॉ. शिप्रा गुप्ता के नाम पर मुहर लगाई गई है। तीन हॉस्टल में वार्डन की तैनाती के लिए 17 आवेदन मिले थे। डीएसडब्ल्यू प्रो. इमैनुअल नाहर और प्रो. नीना कप्लास ने आवेदकों के इंटरव्यू लिए। वरिष्ठता के आधार पर नाम चयनित करके इंटरव्यू बोर्ड ने वीसी के पास भेज दिए। उन्होंने वरिष्ठता के मानक की जांच की। पता चला कि यह मानक पीयू कैलेंडर में वार्डन की तैनाती में लागू नहीं होता।

सूत्रों का कहना है कि वीसी ने इसी को ध्यान में रखते बोर्ड की ओर से भेजे नामों को किनारे कर दिया। उन्होंने इंटरव्यू बोर्ड से बुधवार को दोबारा सभी आवेदकों की एल्फाबेटिकल लिस्ट मांगी। वीसी ने उसी सूची को देखा और तीन वार्डन के नाम फाइनल कर दिए। यूआईएचटीएम के प्रोफेसर डॉ. अरुण ठाकुर को ब्वॉयज हॉस्टल नंबर सात का वार्डन बनाया। इसी तरह यूआईईटी के प्रोफेसर डॉ. विशाल शर्मा को हॉस्टल नंबर आठ व लॉ डिपार्टमेंट की प्रोफेसर डॉ. शिप्रा गुप्ता को गर्ल्स हॉस्टल नंबर नौ की वार्डन बनाया गया है।

सूत्रों का कहना है कि पीयू सीनेट व सिंडिकेट में दो पक्षों का दबदबा है। उसमें एक पक्ष के यह तीनों वार्डन हैं। सिंडिकेट में जिनका दबदबा हमेशा रहा है उस पक्ष के इस बार वार्डन नहीं बनाए गए हैं। हालांकि वार्डन बनाते समय वीसी ने इस बात का भी ध्यान रखा है कि बड़े विभागों का प्रतिनिधित्व वार्डन के रूप में हो।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

डीएसडब्ल्यू पर भी जल्द लगेगी मुहर

विज्ञापन

Recommended

करियर के लिए सही शिक्षण संस्थान का चयन है एक चुनौती, सच और दावों की पड़ताल करना जरूरी
Dolphin PG Dehradun

करियर के लिए सही शिक्षण संस्थान का चयन है एक चुनौती, सच और दावों की पड़ताल करना जरूरी

तुरंत पायें अपनी सभी धन, प्यार, नौकरी, व्यापार आदि समस्याओं का समाधान सिर्फ 99 /-  में
Astrology

तुरंत पायें अपनी सभी धन, प्यार, नौकरी, व्यापार आदि समस्याओं का समाधान सिर्फ 99 /- में

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Lucknow

दाखिले का अभी भी मौका, नवयुग समेत इन कॉलेजों में कर सकते हैं आवेदन

लखनऊ विश्वविद्यालय में स्नातक और परास्नातक आवेदन प्रक्रिया समाप्त होने के बाद सिर्फ डिग्री कॉलेजों का ही विकल्प बचा है। कुछ कॉलेजों ने दाखिले के लिए आवेदन करने की अंतिम तारीख 20 से 31 जुलाई तक बढ़ाई है।

16 जुलाई 2019

विज्ञापन

विंक गर्ल ने खोले श्रीदेवी बंगलो के राज, अमर उजाला के कैमरे से देखिए इस फिल्म की शूटिंग

विंक गर्ल ने खोले श्रीदेवी बंगलो के राज। अमर उजाला के कैमरे से देखिए इस फिल्म की शूटिंग।

16 जुलाई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree