लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Chandigarh ›   Punjab: 76th Independence day Function in Ludhiana, CM Bhagwant Mann hoist flag, Inaugurates Mohalla Clinic

76th Independence Day: मुख्यमंत्री भगवंत मान ने लुधियाना में किया ध्वजारोहण, फिर दी मोहल्ला क्लीनिक की सौगात

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़ Published by: निवेदिता वर्मा Updated Mon, 15 Aug 2022 06:49 PM IST
सार

राज्य स्तरीय समारोह की सुरक्षा में लुधियाना पुलिस के करीब 4000 जवानों की तैनाती कमिश्नरेट इलाके में की गई है। शहर के प्रमुख चौक-चौराहों और बाजारों व धार्मिक स्थलों के बाहर भी सुरक्षा के कड़े इंतजाम है। 

लुधियाना में सीएम भगवंत मान ने किया ध्वजारोहण।
लुधियाना में सीएम भगवंत मान ने किया ध्वजारोहण। - फोटो : ANI
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

मुख्यमंत्री भगवंत मान ने स्वतंत्रता दिवस पर पंजाब को ‘रंगला पंजाब’ बनाने और स्वतंत्रता सेनानियों के सपनों को साकार करने के लिए लोगों को बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, सांप्रदायिकता और अन्य सामाजिक पक्षपात जैसी बुराइयों के खिलाफ जंग शुरू करने अपील की है। लुधियाना के गुरु नानक स्टेडियम में आयोजित राज्य स्तरीय समारोह के दौरान बतौर मुख्य मेहमान पहुंचे सीएम मान ने ध्वजारोहण के बाद जनसभा को संबोधित किया। 



मुख्यमंत्री भंगवत मान ने कहा कि पंजाब में फैली कई सामाजिक बुराइयां राज्य की तरक्की और लोगों की खुशहाली में रुकावट हैं। समय आ गया है कि जब हम अपनी अथक कोशिशों के साथ राज्य से इन बुराइयों की जड़ काट फेंके। सीएम मान ने कहा कि आम आदमी सरकार इस महान कार्य के लिए दृढ़ संकल्प है। 


परन्तु यह मिशन लोगों के सक्रिय सहयोग के बिना मुकम्मल नहीं हो सकता। मुख्यमंत्री मान ने कहा कि यह हरेक भारतीय के लिए गर्व और सम्मान का मौका है कि देश की आजादी और लोकतांत्रिक गणतंत्र को आज 75 वर्ष पूरे हुए हैं। देश-विदेश में बसने वाले हर भारतीय खास तौर पर पंजाबियों को सीएम ने स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी और कहा कि यह ऐतिहासिक मौका है और हम खुशकिस्मत हैं, जो इस मौके के गवाह बने। भारत की आजादी का रास्ता काफी लंबा और चुनौती पूर्ण था। मगर इस आजादी को बरकरार रखने का रास्ता भी उतना ही मुश्किल है। ब्रिटिश साम्राज्य के उपनिवेश के तौर पर हमारे मुल्क को बहुत सी दुश्वारियों का सामना करना पड़ा। 



उन्होंने कहा कि ब्रिटिश अत्याचार के विरुद्ध लड़ाई में 80 प्रतिशत से अधिक योगदान पंजाबियों का था। भगवंत मान ने कहा कि बाबा राम सिंह, शहीद-ए-आजम भगत सिंह, शहीद राजगुरू, शहीद सुखदेव, लाला लाजपत राय, शहीद उधम सिंह, करतार सिंह सराभा, दीवान सिंह कालेपानी और कई अन्य स्वतंत्रता सेनानियों ने मुल्क को आजाद करवाने में अपना खून बहाया। 

मुख्यमंत्री ने लोगों से कहा कि राज्य को अस्थिर करने की ताक में कुछ फूट डालने वाली ताकतों के घृणित मंसूबों से सचेत रहें। उन्होंने कहा कि यह ताकतें राज्य की अमन-शांति और तरक्की को पटरी से उतारना चाहती हैं। भगवंत मान ने कहा कि चाहे पंजाब की धरती बहुत जांखेज है और इस पर कुछ भी पैदा किया जा सकता है। मगर यहां नफरत और सांप्रदायिकता के बीज कभी भी नहीं अंकुरित हो सकते। 

Koo App

ਮੇਰਾ ਭਾਰਤ🇮🇳ਮਹਾਨ! ਅੱਜ ਸਾਡੇ ਦੇਸ਼ ਨੂੰ ਆਜ਼ਾਦ ਹੋਏ 75 ਵਰ੍ਹੇ ਪੂਰੇ ਹੋ ਗਏ ਨੇ…ਭਾਰਤ ਨੂੰ ਆਜ਼ਾਦ ਕਰਵਾਉਣ ਲਈ ਅਨੇਕਾਂ ਕੁਰਬਾਨੀਆਂ ਦੇਣ ਵਾਲੇ ਸ਼ਹੀਦਾਂ ਨੂੰ ਆਜ਼ਾਦੀ ਦਿਹਾੜੇ ਮੌਕੇ ਪ੍ਰਣਾਮ ਕਰਦਾ ਹਾਂ…ਨਾਲ ਹੀ ਦੇਸ਼-ਵਿਦੇਸ਼ਾਂ ‘ਚ ਵੱਸਦੇ ਸਮੁੱਚੇ ਭਾਰਤ ਵਾਸੀਆਂ ਨੂੰ ਅਜ਼ਾਦੀ ਦਿਹਾੜੇ ਦੀਆਂ ਬਹੁਤ-ਬਹੁਤ ਵਧਾਈਆਂ ਦਿੰਦਾ ਹਾਂ… ਜੈ ਹਿੰਦ…

View attached media content

- Bhagwant Mann (@bhagwantmann) 14 Aug 2022


 

Koo App

Govt of Punjab led by CM @BhagwantMann greets everyone on the Independence Day. Salute to the selfless and steadfast spirit of brave warriors and great martyrs who laid down their precious lives in service of the nation.

View attached media content

- CMO Punjab (@CMOPb) 14 Aug 2022



 

Koo App

ਸ਼ਹੀਦ ਭਗਤ ਸਿੰਘ ਦੇ ਆਦਰਸ਼ ਅਤੇ ਚਾਚਾ ਜੀ…ਸਰਦਾਰ ਅਜੀਤ ਸਿੰਘ ਜੀ…ਦੇਸ਼ ਦੀ ਆਜ਼ਾਦੀ ਲਈ ਚਲਾਈ ‘ਪੱਗੜੀ ਸੰਭਾਲ ਜੱਟਾ’ ਲਹਿਰ ਦੇ ਬਾਨੀ…’ਕਿਸਾਨਾਂ ਦਾ ਰਾਜਾ’ ਅਖਵਾਉਣ ਵਾਲੇ ਯੋਧੇ ਨੇ ਅੰਗਰੇਜ਼ ਹਕੂਮਤ ਦੀਆਂ ਜੜ੍ਹਾਂ ਹਿਲਾ ਦਿੱਤੀਆਂ ਸਨ ਅੱਜ ਉਸ ਕ੍ਰਾਂਤੀਕਾਰੀ ਅਤੇ ਇਨਕਲਾਬੀ ਸੂਰਮੇ ਦੀ ਬਰਸੀ ਮੌਕੇ ਸਤਿਕਾਰ ਸਹਿਤ ਸ਼ਰਧਾਂਜਲੀ ਭੇਟ ਕਰਦਾ ਹਾਂ…

View attached media content

- Bhagwant Mann (@bhagwantmann) 15 Aug 2022





मुख्यमंत्री ने मत्तेवाड़ा में टेक्स्टाइल पार्क के बारे में कहा कि सरकार वहां टेक्स्टाइल पार्क बनाने की इजाजत नहीं देगी, जिसको लुधियाना का फेफड़ा कहा जाता है। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार भारत सरकार को प्रोजेक्ट के लिए वैकल्पिक जमीन की पेशकश पहले ही कर चुकी है। भगवंत मान ने कहा कि पंजाब सरकार राज्य के पर्यावरण को बचाने के लिए प्रतिबद्ध है।  

3600 कच्चे सफाई कर्मचारियों को पक्का करने का एलान 
सीएम भगवंत मान ने 3600 कच्चे सफाई कर्मचारियों/सफाई मित्रों को बड़ा तोहफा दिया है। मुख्यमंत्री भगवंत मान ने सोमवार को इन सभी को पक्का करने का एलान किया। गुरु नानक स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम में दो सफाई सेवकों दीपक कुमार और मोनिका को सांकेतिक तौर पर पत्र सौंप कर सीएम ने इस मुहिम की शुरुआत की। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि सफाई सेवकों के कल्याण के लिए राज्य सरकार प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि नगर निगम के तकरीबन 3600 कच्चे सफाई कर्मचारी/सफाई मित्र ठेके पर काम कर रहे हैं, जिनकी सेवाओं को अब पंजाब सरकार ने पक्का कर दिया है। भगवंत मान ने कहा कि यह मुहिम आज सांकेतिक तौर पर शुरू की गई है और बाकी बचे कर्मचारियों को भी आने वाले दिनों में पक्की नौकरी का पत्र मिल जाएगा।  

मुख्यमंत्री ने लुधियाना पुलिस कमिश्नरेट की नई वेबसाइट भी लॉच की। उन्होंने कहा कि इस वेबसाइट पर लोग अपनी शिकायतें ऑनलाइन दर्ज करवा सकेंगे। इसके बाद वह घर बैठे-बैठे इन शिकायतों पर हुई कार्रवाई पर नजर रख सकेंगे और रिपोर्ट हासिल कर सकेंगे। इस वेबसाइट के द्वारा लोग पीसीसी रिपोर्ट, एफआईआर डाउनलोड, सभी अधिकारियों, थाना प्रमुखों और अन्यों के संपर्क नंबर भी हासिल कर सकेंगे।

सात शख्सियतों को स्टेट अवार्ड  
मुख्यमंत्री भगवंत मान ने गुरु नानक स्टेडियम में आयोजित स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम में अलग- अलग क्षेत्रों में बेमिसाल योगदान देने वाली सात शख्सियतों को स्टेट अवार्ड से सम्मानित किया। यह अवार्ड समाज सेवा, थियेटर, खेल, व्यापार और सरकारी सेवा के क्षेत्र में जिन्होंने अपने लक्ष्यों की पूर्ति के लिए बेमिसाल कोशिशों के साथ अपने-अपने क्षेत्रों में अग्रणी भूमिका निभाई उन्हें दिया गया। 

राज्य स्तरीय समारोह के दौरान स्टेट अवार्ड हासिल करने वालों में प्रसिद्ध पत्रकार, शिक्षा शास्त्री और पद्मश्री जगजीत सिंह दर्दी (पटियाला), समाज सेवा और आसरा वेलफेयर सोसायटी के प्रमुख रमेश कुमार मेहता (बठिंडा), प्रसिद्ध थियेटर शख्सियत प्राण सभरवाल (पटियाला), संगीतकार और गायक हरगुन कौर (अमृतसर), ट्रैक्टर निर्माता और कारोबारी अमरजीत सिंह (पटियाला), शॉट-पुट की महिला खिलाड़ी जैसमीन कौर और सीनियर कंसलटेंट ई-गवर्नेंस मिशन टीम (प्रशासनिक सुधार और सार्वजनिक शिकायतें विभाग) जसमिंदर सिंह (मोहाली) को दिया गया।

सीएम भगवंत मान का टीचरों ने किया विरोध 
सीएम भगवंत मान का सोमवार को महानगर में काफी विरोध हुआ। कहीं टीचरों ने प्रदर्शन किया तो कहीं मुलाकात को लेकर आम आदमी ने ही सीएम के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। सम्मान चिन्ह न दे पाने पर एक वकील भी पुलिस के साथ उलझ गया। समारोह में काले रंग का मास्क पहन कर जाने वाले बच्चों का लाइन में लगने के दौरान बच्चों के मास्क भी उतरवा दिए गए। इसके बाद ही उन्हें अंदर जाने की इजाजत दी गई। 
उधर, अपनी मांगों को लेकर असिस्टेंट प्रोफेसरों और लाइब्रेरियन फ्रंट के सदस्यों ने फिरोजपुर रोड पर ही धरना लगा दिया। हालांकि पुलिस ने उन्हें आगे आने की इजाजत नहीं दी। दो सौ से ज्यादा प्रदर्शनकारी काले झंडे लेकर गुरु नानक स्टेडियम की तरफ बढ़े लेकिन पुलिस अधिकारियों ने उन्हें रोक लिया। प्रदर्शनकारी आगे जाने के लिए अड़े रहे। इस दौरान प्रदर्शनकारियों और पुलिस मुलाजिमों के बीच झड़प और धक्का-मुक्की भी हुई। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00